GOOD NEWS: फर्जी राजनीतिक पार्टियों की हुई छुट्टी

GOOD NEWS: फर्जी राजनीतिक पार्टियों की हुई छुट्टी
election commission

sandeep tomar | Publish: Dec, 23 2016 09:14:00 PM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

पूरे देश की 255 राजनीतिक पार्टियों की मान्यता हुई रदद्

नई दिल्ली/नोएडा. फर्जी राजनीतिक पार्टियों पर चुनाव आयोग ने सर्जिकल स्ट्राइक करते हुए यूपी के 41 राजनीतिक दलों सहित देश के 255 राजनीतिक दलों की मान्यता समाप्त कर दी है. इन दलों को इस आधार पर डीलिस्ट किया गया है क्योंकि, पिछले दस सालों से इन्होंने न ही कोई चुनाव लड़ा, न ही इन दलों ने चुनाव आयोग के पास अपने वित्तीय लेनदेन का कोई रिकॉर्ड मुहैया कराया है.

जानकारी के अनुसार अभी कुछ और राजनीतिक दलों पर इसी तरह की कार्रवाई की जा सकती है.
माना जाता है कि ये राजनीतिक दल खुद कोई चुनाव नहीं लड़ते, बल्कि राजनीतिक दलों के नाम पर चन्दे की उगाही करते हैं. चूंकि राजनीतिक दलों को चन्दा देने पर टैक्स में छूट मिलती है, लोग इन दलों को मोटी रकम देकर टैक्स में छूट पाने की कोशिश करते हैं. देश में कालेधन के खिलाफ चल रही मुहिम के बीच चुनाव आयोग ने भी अपनी भूमिका निभाई और ऐसे राजनीतिक दलों की मान्यता रदद् कर दी जो इस कालेधन को सफेद करने के खेल में शामिल माने जाते हैं.

सीबीडीटी से कार्रवाई का अनुरोध


चुनाव आयोग से मिली जानकारी के अनुसार आयोग ने केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) को एक पत्र लिखकर यह आग्रह किया है कि इन राजनीतिक दलों के लेनदेन के बारे में गहराई से पड़ताल की जाए और यह पता लगाया जाए कि कहीं इनका उपयोग किसी गैरकानूनी गतिविधि के लिए तो इस्तेमाल नहीं हो रहा है.

बता दें कि अभी तक जांच में यह पता लग चुका है कि इनमें से अनेक राजनीतिक दल फर्जी पते पर चल रहे थे और जब इन पार्टियों के फार्मों पर दिए गए पतों पर जांच की गयी तो वहां किसी भी राजनीतिक दल का ऑफिस नहीं पाया गया. इनमें दिल्ली के लुटियन जोन के इलाकों से लेकर यूपी के दूर दराज के इलाकों के पते शामिल हैं.

राजनीतिक रूप से काफी जागरूक माने जाने वाले उत्तर प्रदेश में भारी संख्या में फर्जी राजनीतिक पार्टियां चलती पायी गयी हैं. इनमें से अभी 41 को डीलिस्ट किया गया है, अभी और भी कुछ पार्टियों के डीलिस्ट होने की आशंका है.

राजनीतिक दलों की संख्या

देश में किसी भी व्यक्ति या संगठन को अपनी विचारधारा के हिसाब से राजनीतिक पार्टी बनाने की छूट है. लोगों ने इस छूट का खूब लाभ उठाया और देश में अनेक राजनीतिक दल स्थापित हो गए. इस समय वर्तमान ने सात राजनीतिक दलों को राष्ट्रीय दल की मान्यता प्राप्त है. इसमें भारतीय जनता पार्टी, कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी, तृणमूल कांग्रेस, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी शामिल हैं. इनके आलावा 58 राजनीतिक दलों को राज्य स्तरीय पार्टी की पहचान मिली हुई है.

सबसे अधिक पार्टियां 1780 पार्टियां उस कैटेगरी से आती हैं जिन्हें पंजीकृत तो किया गया है, लेकिन इन्हें गैर मान्यता प्राप्त राजनीतिक दल कहा जाता है. टैक्स के नाम पर छूट की सुविधा का सबसे अधिक दुरूपयोग इसी वर्ग के तहत किया जाता है. इसलिए इन पार्टियों पर अब सरकार की नज़र हैं.
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned