कर्मचारी की मौत के बाद इस मांग को पूरी करने के लिए 48 घंटे से शव लेकर धरने पर बैठा परिवार

Rahul Chauhan

Publish: Jun, 14 2018 08:20:11 PM (IST)

Noida, Uttar Pradesh, India
कर्मचारी की मौत के बाद इस मांग को पूरी करने के लिए 48 घंटे से शव लेकर धरने पर बैठा परिवार

48 घंटे से शव को लेकर पोस्टमार्टम हाउस के बाहर धरने पर बैठा परिवार

नोएडा। सेक्टर-6 स्थित कंपनी कर्मचारी की बिजली का करंट लगने से मौत हो गई। कर्मचारी का परिवार उसके शव को लेकर पोस्टमार्टम हाउस के बाहर पिछले 48 घंटे से धरने पर बैठा हुआ है। परिवार का कहना है कि मौत कंपनी मैनेजमेंट कि लापरवाही से हुई है और पुलिस ने कंपनी मैनेजमेंट के खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है। इस मामले में परिवार का कहना है कि जब तक उन्हें इंसाफ नहीं मिल जाता तब तक वह शव का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। वहीं पुलिस का कहना है कि उनकी तहरीर प्राप्त होते ही उस पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें-पहले मोबाइल पर ऐसे देखिए रेलवे के किचन में कैसे बन रहा है खाना, उसके बाद कीजिए ऑर्डर

मामला नोएडा सेक्टर-6 के C-113 व 114 में डीबी इंजीनियरिंग कंपनी में दो दिन पूर्व करंट लगने से हुई कर्मचारी संजय नारायण सिंह की मौत का है। हादसे के बाद से पुलिस द्वारा कंपनी मालिक पर कार्रवाई न करने से नाराज मृतक के परिजन पिछले दो दिनों से पोस्टमार्टम हाउस के बाहर धरने पर बैठे हैं, उनका आरोप है कि पुलिस मामला दर्ज नहीं कर रही है। पुलिस कंपनी मैनेजमेंट के साथ सांठ-गांठ कर मामले को रफा-दफा करने में जुटी है। वहीं परिवार वाले भी इस बात पर अड़े हैं कि जब तक कंपनी के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं हो जाती है तब तक हम मृत शरीर का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे।

यह भी पढ़ें-Nirjala Ekadashi 2018: इस दिन है निर्जला एकादशी, जानिए क्या है इसका महत्व

family members of deceased person

यह भी देखें-48 घंटो से शव के लेकर पोस्टमार्टम हाउस के बाहर धरने पर बैठा परिवार

वहीं पुलिस अधिकारियों का कहना है कि दो दिन पहले थाना सेक्टर-20 इलाके के सेक्टर-6 में एक कर्मचारी की करंट लगने से मौत हो गई थी, जिसकी तहरीर प्राप्त होने पर नियमानुसार हम कार्रवाई करेंगे शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था और रिपोर्ट की जांच की जा रही है।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned