भंडारा में 10 बच्चों की मौत के बाद जागा अग्निशमन विभाग, 125 मास्टर ट्रेनर्स को किया ट्रेंड

अस्पताल में स्थापित अग्निशमन उपकरणों को भौतिक रूप से चलवाकर किया प्रशिक्षित

By: lokesh verma

Published: 21 Jan 2021, 03:11 PM IST

नोएडा. महाराष्ट्र के भंडारा में एक सरकारी अस्पताल में आग लगने से 10 बच्चों की मौत के बाद सचेत हुए अग्निशमन विभाग ने अस्पतालों और नर्सिंग होम के 125 मास्टर मास्टर ट्रेनर्स को आग से बचाव के बारे जानकारी देने के लिए कार्यशाला का आयोजन किया। नोएडा के सेक्टर-128 स्थित जेपी हॉस्पिटल में किया गया। कार्यशाला में आग से बचाव के उपाय, अग्नि दुर्घटना के समय भवन में स्थापित अग्निशमन उपकरणों के प्रयोग की विधि तथा इवैकुएशन के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई।

यह भी पढ़ें- भारतीय सेना के ऐसे हथियार देखकर छात्र बोले, आर्मी में जाना है सपना

अभ्यास के समय बहाया पसीना, मुसीबत में जान बचाता है। कुछ इसी तर्ज पर अग्निशमन विभाग ने जिले के विभिन्न अस्पतालों और नर्सिंग होम के 125 मास्टर ट्रेनर्स को मुख्य अग्निशमन अधिकारी अरुण कुमार सिंह ने पावर पॉइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से आग से बचाव के बारे में विस्तार से बताया। इसके बाद हॉस्पिटल में स्थापित अग्निशमन उपकरणों, जैसे फायर एक्सटिंगयूशर, होज रील, होज़ पाइप, ऑटोमेटिक स्प्रिंकलर सिस्टम, लैंडिंग वॉल्व इत्यादि को भौतिक रूप से चलवाकर प्रशिक्षित किया।

मुख्य अग्निशमन अधिकारी अरुण कुमार ने बताया कि ये ट्रेनिंग निश्चित रूप से फायदेमंद रहेगी। हमने इन लोगों से कहा है कि इस प्रशिक्षण के अनुभव से अस्पताल तथा अपनी सोसाइटी के अन्य व्यक्तियों से भी साझा करें, जिससे अधिकाधिक लोगों को इससे लाभ प्राप्त हो सके और आग से सुरक्षा के दृष्टिगत प्रशिक्षण से लाभान्वित होकर दूसरों को भी फायदा पहुंचाएं।

यह भी पढ़ें- कुख्यात डॉन बदन सिंह बद्दो की आलीशान कोठी को जमींदोज करने के लिए चली जेसीबी

lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned