बंद कंपनी से 22 लाख के ब्रांडेड कपड़े चोरी, सरगना समेत गैंग के सात सदस्य गिरफ्तार

Highlights

- ईडी ने अनियमितता के कारण डेढ़ साल पहले सील की थी कंपनी

- गिरोह का पर्दाफ़ाश करते हुए सरगना समेत 7 लोगों को गिरफ्तार किया

- कंपनी से चोर गिरोह ने उड़ाए 22 लाख के 110 पैकेज

By: lokesh verma

Published: 04 Mar 2021, 11:24 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
नोएडा. परिवर्तन निदेशालय द्वारा अनियमितताओं के कारण डेढ़ साल पहले सील की गई अंतरराष्ट्रीय ब्रांड अगम्या के कपड़ों को निर्यात करने वाली कंपनी से लाखों रुपए के ब्रांडेड कपड़े चोरी होने का मामला सामने आया है। कोतवाली सेक्टर-58 पुलिस ने गिरोह का पर्दाफ़ाश करते हुए सरगना समेत 7 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके कब्ज़े से 110 पैकेट ब्रांडेड कपड़े बरामद किए हैं, जिनकी कुल कीमत 22 लाख रुपए है।

यह भी पढ़ें- फिल्मी स्टाइल में बीच बाजार ताबड़तोड़ फायरिंग से भगदड़, एक छात्रा के पेट में लगी गोली

नोएडा जोन के डीसीपी राजेश एस ने बताया कि सेक्टर-58 थाना पुलिस ने सूचना के आधार पर फोर्टिस अस्पताल के सामने से सात बदमाशों को गिरफ्तार किया है। पुलिस को इनके पास से कंपनी से चोरी किया गया 22 लाख रुपए कीमत का कपड़ा बरामद किया है। पकड़े गए आरोपियों के कब्ज़े से पुलिस ने 110 पैकेट सूट के कपड़े के बंडल बरामद किए हैं। इसके अलावा घटना में प्रयुक्त स्कूटी और बाइक बरामद भी मिली है। आरोपी समीर द्विवेदी पर अलग-अलग थानों में आठ मुकदमे दर्ज हैं।

डीसीपी ने बताया कि इस चोरी में सेक्टर-63 स्थित बी-18 में सील बंद कंपनी के पास वाली कंपनी का गार्ड चंद्र मोहन भी शामिल था। वह सभी सूचनाएं अपने साथियों को देता है। गार्ड चंद्र मोहन की सूचना के बाद आरोपी दानिश व समीर वारदात को अंजाम देते थे। सूचना मिलने के बाद आरोपी दानिश व समीर बाहर रेकी करते थे। जैसी ही सड़क सुनसान होती थी तो ये लोग कंपनी से माल चुराकर बाइक से फरार हो जाते थे। यह लोग पिछले 5-6 महीने से वारदात कर रहे थे। चोरी किए गए कपड़ों को थोक मार्केट और साप्ताहिक बाजार में लाखों रुपये में बेच देते थे। पुलिस गिरफ्त में आए आरोपियों के नाम करण, सुभाष, अंकुर, अजय, चंद्र मोहन यादव, समीर द्विवेदी और दानिश हैं।

यह भी पढ़ें- हैरतअंगेज, जिसकी हत्या के लिये चार लोगों को हुई सजा, 12 साल बाद जिंदा मिला वो आदमी

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned