नेट आैर पीएचडी धारकों को यूजीसी का बड़ा तोहफा

नेट आैर पीएचडी धारकों को यूजीसी का बड़ा तोहफा
jobs

किसी भी विषय के नेट-जेआरएफ और पीएचडी कर चुके युवाओं को अब मिलेगी सीधे जॉब की सूचना, यूजीसी ने अपनी ऑफिशियल वेबसाइट पर उपलब्ध कराया लिंक

नोएडा। जॉब की तलाश कर रहे नेट-जेआरएफ और पीएचडी धारकों के लिए एक अच्छी खबर है। ऐसे धारकों को आसानी से जॉब दिलाने के लिए यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन (यूजीसी) ने बेहतरीन कदम उठाया है। किसी भी विषय के नेट-जेआरएफ और पीएचडी कर चुके युवाओं को अब सीधे जॉब की सूचना मिलेगी। इसके लिए यूजीसी ने अपनी ऑफिशियल वेबसाइट पर एक लिंक दिया है, जिस पर कोई भी कैंडीडेट अपना प्रोफाइल बनाकर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकता है। इससे उन्हें देशभर के शिक्षण संस्थानों में वैकेंसी की जानकारी प्राप्त होगी।

...तो इसलिए की शुरुआत


देशभर में सेंट्रल और स्टेट यूनिवर्सिटी में असिसटेंट प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर, प्रोफेसर आदि पदों की सही जानकारी उपलब्ध नहीं हो पाती है। इसके अलावा नॉन टीचिंग पोस्ट की सूचना कैंडीडेट को नहीं मिल पाती है। जिसे ध्यान में रखते हुए यूजीसी ने इस तरह की पहल की है। आपको बता दें कि देश की कर्इ स्टेट आैर सेंट्रल यूनिवर्सिटीज में असिसटेंट प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर, प्रोफेसर पद खाली पड़े हैं, लेकिन इन सब के बारे में कम जानकारी है। इस वेबसाइट के थ्रू कैंडीडेट नौकरी से रिलेटिड वो तमाम जानकारी मिल सकेगी वो जानना चाहते हैं।

कर रहे हैं तेजी से रजिस्ट्रेशन

इससे नेट-जेआरएफ, पीएचडी और सेट (स्टेट एलिजिबिलिटी टेस्ट) धारकों को आसानी से जॉब की सूचना मिल सकेगी। इसके बाद वह अपने मुताबिक खाली पदों पर अप्लाई कर सकेंगे। यूजीसी की इस पहल से नियोक्ताओं और इच्छुक उम्मीदवारों को मदद मिलेगी। जानकारी के मुताबिक कैंडीडेट तेजी से रजिस्ट्रेशन कर रहें है जो जिन्होंने अब तक नही किया है वह जल्द अपना प्रोफाइल बना लें।

देश में 700 से अधिक यूनिवर्सिटीज


देश में कुल 712 ऐसी यूनिवर्सिटीज हैं जिन्हें यूजीसी की मान्यता प्राप्त है, इनमें 330 स्टेट यूनिवर्सिटी हैं, वहीं 128 यूनिवर्सिटियों को डीम्ड यूनिवर्सिटी का दर्जा प्राप्त है। सेंट्रल यूनिवर्सिटी के तौर पर 46 यूनिवर्सिटी जानी जाती हैं। प्राइवेट यूनिवर्सिटियों की संख्या 208 है। जिनमें कर्इ प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर, प्रोफेसर आदि पद खाली पड़े हुए हैं।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned