जिंदगी की ही नहीं, संबंधों की डोर तोड़ रहा है कोरोना, कोविड के शक में युवती ने सहेली को घर से निकाला

झारखंड निवासी युवती को उसकी सहेली ने बीमार होने पर घर से निकाला। लॉकडाउन के कारण बेसुध हालत में पांच दिन तक भटकती रही। जानकारी मिलने पर पुलिस मामले की जांच में जुटी।

By: Rahul Chauhan

Published: 08 May 2021, 11:18 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

नोएडा। कोविड-19 महामारी के इस बुरे दौर में कोरोना ना सिर्फ सामाजिक संबंधों की दूरी बना रहा है, बल्कि संबंधों के ताने-बाने को भी तोड़ रहा है। जरा–सी तबीयत क्या बिगड़ी कि कोरोना के शक में वर्षों पुराने रिश्ते भी कच्चे धागे की तरह टूट रहे हैं। नोएडा में एक ऐसा ही हैरान करने वाला मामला सामने आया है। जिसमें कोविड होने के शक में एक युवती ने सहेली को घर से निकाल दिया। बीमार हालत में भटकती युवती को किसी ने नोएडा के सेक्टर-30 स्थित जिला अस्पताल की भर्ती कर दिया था। जहां उपचार मिलने के बाद वह स्वस्थ हो गई है, लेकिन शहर में लॉकडाउन होने और कोई ठिकाना नहीं होने से परेशान है। ऐसे में पुलिस से अपने घर पहुंचाने की गुहार कर रही है।

यह भी पढ़ें: प्रशासन हुआ सख्त, निजी अस्पतालों की मनमानी वसूली पर लगी रोक, तय की गई जांच की दरें

दरअसल, झारखंड निवासी 28 वर्षीय पूजा सिंह उर्फ निशा को पांच दिन पहले नोएडा के सेक्टर-30 स्थित जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था, उसे बुखार था। डॉक्टरों का कहना है इलाज के बाद वह ठीक हो गई है। वहीं निशा का कहना है कि वह झारखंड के रांची की रहने वाली है। लगभग दो माह पहले सहेली के पास दिल्ली आई थी। सप्ताह भर पहले उसे बुखार आया तो सहेली ने कोरोना होने के शक में घर से निकाल दिया। उसके बाद से वह बुखार के करण बेसुध अवस्था भटक रही थी। लॉकडाउन के कारण अपने घर भी नहीं जा सकती। किसी ने उसे अस्पताल भर्ती करा दिया। अब वह ठीक है, लेकिन कोई ठिकाना नहीं होने के कारण वह यहाँ से जाना नहीं चाहती है।

यह भी पढ़ें: Oxygen लंगर के जरिये गुरुद्वारा कमेटी ने कोरोना मरीजों को संजीवनी देने के लिए छेड़ी मुहिम

डॉक्टरों का कहना है कि वह अभी कमजोर है। अस्पताल में रहने से संक्रमण की चपेट में आने का खतरा है। अस्पताल में इमरजेंसी में केवल चार बेड हैं। डॉक्टरों मरीज के ठीक होने के बाद अस्पताल में नहीं रख सकते हैं। उन्होंने समस्या निवारण के लिए सेक्टर-20 कोतवाली पुलिस को जानकारी दी है। जिसके बाद पुलिस मामले की जांच शुरू कर पूजा को उसके परिजनों तक पहुंचाने की व्यवस्था में जुट गई है।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned