नए साल पर बायर्स को मिलेगा आशियाने का तोहफा, प्राधिकरण ने शुरू की कवायद

Nitin Sharma

Publish: Dec, 08 2017 12:34:00 (IST) | Updated: Dec, 08 2017 12:37:52 (IST)

Noida, Uttar Pradesh, India
नए साल पर बायर्स को मिलेगा आशियाने का तोहफा, प्राधिकरण ने शुरू की कवायद

प्राधिकरण ने बायर्स को अपना घर दिलाने के लिए लिया, ये फैसला

नोएडा।घरों की किश्त भरने के साथ ही अपने फ्लैटों पर कब्जा मिलने का इंतजार कर रहे लोगों का सपना नये वर्ष में पूरा हो सकता है। इसके लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने बिल्डर्स को कुछ और सहूलियतों का ऐलान किया है। इसके तहत बिल्डर्स योजनाओं पर बकाया राशि का 10 प्रतिशत धनराशि जमा करने पर अस्थाई कंपलीशन सर्टिफिकेट जारी कर दिया जाएगा। उन्होंने विश्वास जताया कि दिसंबर आैर उससे अगले महीने तक 15 हजार बायर्स को उनके फ्लैटों पर कब्जा मिल जाएगा।

बायर्स की समस्या कम करने के लिए प्राधिकरण ने बिल्डर के हित में लिया फैसला

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ देबाशीष पांडा ने प्राधिकरण के बोर्ड रूम में आयोजित प्रेस वार्ता में बताया कि यदि बिल्डर्स अपनी कुल बकाया राशि का 10 प्रतिशत जमा कर दे, तो प्राधिकरण की ओर से अस्थाई कंपलीशन प्रमाण पत्र जारी कर दिया जाएगा। इससे बायर्स को फ्लैटों पर कब्जा मिलने का रास्ता साफ हो जाएगा। यह फैसला बिल्डर के हित के साथ ही बायर्स की समस्या खत्म कर उनकों अपना घर दिलाने के लिए लिया गया है।

प्राधिकरण भी करा रहा बहुमंजिली फ्लैटों निर्माण

बिल्डर्स के अलावा ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण भी बहुमंजिली फ्लैटों का निर्माण करा रहा है। इसमें टू बीएचके और सुपर एमआईजी फ्लैट शामिल हैं। उनका निर्माण तेजी से चल रहा है। इनकी कुल संख्या 2608 है। ये एफोर्डेबल फ्लैट्स होंगे और इनके मूल्य की घोषणा दिसंबर में ही कर दी जाएगी। कुछ फ्लैट अप्रैल से जून-2018 के बीच सभी फ्लैट तैयार हो जाएंगे। उन्होंने बताया कि प्राधिकरण इन फ्लैटों को रेडी टू मूव के आधार पर बेचेगा।

किसानों को के लिए भी किया जा रहा है जमीनों का आवंटन

ग्रेटर नोएडा क्षेत्र के अधिसूचित गांवों के किसानों के बारे में सीईओ ने बताया कि जुलाई-2017 से 46 गांवों के 13021 किसानों को आबादी विस्तार के लिए भूखंडों का आवंटन किया जा चुका है। इस अवधि में 4612 भूखंड नियोजन के लिए शेष थे। उनमें से अगस्त तक पहले चरण में 2350 भूखंडों का नियोजन किया गया था। दूसरे चरण में भूमि उपलब्धता के आधार पर 1044 भूखंडों का नियोजन किया जा चुका है। शेष 1218 आबादी विस्तार के भूखंडों का दिसंबर के अंत तक नियोजन करने का प्रस्ताव है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned