लुटेरों की गोली से मृत गार्ड को वीरता पुरस्कार के लिए नामित करेगी पुलिस

6 सितंबर को सेक्टर-44 में लूट करने आए बदमाशों का विरोध करने पर मारी गई थी गोली

By: amit2 sharma

Published: 11 Sep 2017, 09:00 PM IST

नोएडा. पॉश कॉलोनी सेक्टर-44 में बुधवार दोपहर में लुटेरों की गोली का शिकार बने मृत गार्ड को वीरता पुरस्कार दिलाने लिए नोएडा पुलिस नामित करेगी। इसके लिए जल्द ही नोएडा पुलिस एक रिपोर्ट तैयार कर प्रशासन के जरिए यूपी सरकार को भेजेगी। पुलिस का कहना है कि गार्ड की साहस की वजह से घटना के दौरान ही एक बदमाश को पकड़ा जा सका और अन्य बदमाशों को 24 घंटे के भीतर ही दबोच लिया गया था। इसके अलावा, मुख्यमंत्री राहत कोष से भी गार्ड के परिजनों को आर्थिक सहायता दिलाने के लिए अगले कुछ दिनों में रिपोर्ट भेज दी जाएगी।

 

सहायता के लिए पहुंचा था गार्ड, दबोचे जाने पर बदमाश ने मारी थी गोली

 

आपको बता दें कि 6 सितंबर की दोपहर लगभग ढ़ार्इ बजे सेक्टर-44 में रहने वाले विनोद दयाल के घर में तीन बदमाश घुस आए थे। खुद को प्लंबर बताकर आए बदमाशों ने घर में मौजूद बुजुर्ग महिला उमी धवन और नौकरानी सावित्री को तमंचे की बट से मारकर घायल कर दिया और फिर लूटपाट शुरू कर दी थी। हालांकि, घटना के दौरान फोन पर बात कर रहे विनोद दयाल ने चीख सुनकर पड़ोसी और फिर कॉलोनी में तैनात गार्ड को बुला लिया था। मौके पर पहुंचे गार्ड भानू किशोर शर्मा बदमाशों से भिड़ गए थे। उसी दौरान एक बदमाश ने उन्हें तमंचे से गोली मार दी थी, जिससे उनकी मौत हो गई थी। इसके बाद वहां मौजूद लोगों ने तुरंत एक बदमाश को दबोच लिया था जबकि दो अन्य फरार हो गए थे।

 

एसपी सिटी अरूण कुमार ने बताया कि गार्ड की साहस की वजह से सेक्टर-44 में लूट करने आए बदमाशों को पकड़ा जा सका था, लेकिन गोली लगने से गार्ड की मौत हो गई थी। गार्ड भानू किशोर की इस बहादुरी को सबके सामने मिसाल के तौर पर लाने के लिए जल्द ही एक रिपोर्ट बनाकर सरकार को भेजेंगे ताकि उनके परिवार को 26 जनवरी पर सम्मानित किया जा सके।

amit2 sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned