हार्टबीट सोसायटी के बिल्डर के खिलाफ मामला दर्ज नहीं होने पर भड़के बायर्स, टॉर्च जलाकर किया प्रदर्शन

Rajkumar Pal

Publish: Sep, 17 2017 02:43:33 (IST) | Updated: Sep, 17 2017 02:43:34 (IST)

Noida, Uttar Pradesh, India
हार्टबीट सोसायटी के बिल्डर के खिलाफ मामला दर्ज नहीं होने पर भड़के बायर्स, टॉर्च जलाकर किया प्रदर्शन

मोबाइल टॉर्च जलाकर अपना आक्रोश प्रकट किया, प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को ट्वीट कर अपनी शिकायत दर्ज कराई।

नोएडा। हार्ट बीट सोसायटी बिल्डर पर एफआईआर दर्ज नहीं होने पर बायर्स शनिवार शाम भड़क गए और उन्होंने सेक्टर-39 थाने पर जमकर प्रदर्शन किया। इस दौरान बायर्स ने मोबाइल टॉर्च जलाकर अपना आक्रोश प्रकट किया। प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को ट्वीट कर अपनी शिकायत दर्ज कराई। बायर्स का आरोप है कि एसएसपी के आदेश के बावजूद बिल्डर के खिलाफ थाना प्रभारी मंगलवार से एफआईआर दर्ज करने में आनाकानी कर रहा है।

वहीं बायर्स पद्मावती, रिटायर्ड जनरल कुल प्रकाश देशवाल, संजीव प्रियदर्शी, पुनीत पराशर ने बताया कि मंगलवार के संजीव प्रियदर्शी के नेतृत्व में निवेशकों का एक प्रतिनिधिमंडल एसएसपी से सेक्टर-14 ए में मिला। इस दौरान सेक्टर-107 स्थित हार्ट बीट सोसायटी बिल्डर की मनमानी से अवगत कराया। समस्या की जानकारी के बाद एसएसपी ने स्वयं एसएचओ अजय कुमार सिंह को फोन कर बिल्डर पर मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए। और साथ ही कहा कि संजीव प्रियदर्शी के लोग शिकायत को आएंगे।

शिकायत के बाद संजीव प्रियदर्शी अपनी नौकरी पर चले गए और बाकी लोगों को सेक्टर-39 थाने पर एफआइआर दर्ज करने भेज दिया। थाने पहुंचने पर थाना प्रभारी ने एफआईआर दर्ज करने से मना कर दिया और कहा कि एसएसपी ने संजीव प्रियदर्शी के नाम से एफआइआर दर्ज करने को कहा है। ऐसे में निवेशक वापस चले आए। बुधवार को फिर से एफआइआर दर्ज कराने थाने पहुंचे। यहां पर फिर से थाना प्रभारी ने बहाना बनाया और कहा कि हार्ट बीट सोसायटी की लीगल टीम आई थी। उसने हाईकोर्ट इलाहाबाद का आदेश पत्र दिखाया है कि नोएडा प्राधिकरण के साथ बकाया राशि को लेकर विवाद चल रहा है। ऐसे में कोई भी मुकदमा दर्ज कराने से पहले सोसायटी बिल्डर की बात सुनें।

साथ ही कहा कि ऐसे में एफआईआर दर्ज करने से पहले स्पेशल प्रॉसिक्यूटर आॅफिसर से बातचीत करनी होगी। इस मामले पर जानकारी करने पर पता चला कि सोसायटी के लीगल टीम और स्पेशल प्रॉसिक्यूटर आॅफिसर के बीच थाना प्रभारी ने बैठकर बातचीत करा दी है। ऐसे में शनिवार को फिर से निवेशकों का एक प्रतिनिधि मंडल थाने पहुंचा और एफआईआर दर्ज करने की बात कही। इस पर थाना प्रभारी ने कहा कि स्पेशल प्रॉसिक्यूटर आॅफिसर ने कह दिया है कि बिल्डर पर 420 की धारा में एफआईआर दर्ज हो सकती है। ऐसे शाम को छह बजे आकर एफआईआर की कॉपी ले जाना। शाम को करीब 50 निवेशक एफआईआर की कापी लेने थाने पहुंचे, तो थाना प्रभारी ने एफआईआर दर्ज करने से मना कर दिया और कहा कि मेरा तबादला हो गया है।

अब इस केस को एसएसपी के पास भेज दिया है। वहीं एफआईआर दर्ज होगी। इसके बाद निवेशक आक्रोशित होकर थाने के बाहर चले आए और अपना आक्रोश प्रकट करने लगे। इस दौरान मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री को ट्वीट किया गया। इसके साथ ही मोबाइल की टार्च जलाकर अपना आक्रोश प्रकट किया गया। रविवार को एसएसपी के कार्यालय के बाहर सभी निवेशक प्रदर्शन करेंगे। इस मामले पर दो दिन निकलने के बाद सेक्टर-39 थाना प्रभारी एके सिंह ने बताया कि हार्ट बीट सिटी के निवेशक आए थे। एफआईआर दर्ज करने की बात कह रहे थे, लेकिन अभी एफआईआर दर्ज नहीं हुई है। सोसायटी की लीगल टीम भी आई थी, उन्होंने कोर्ट में मामला होने की बात कही गई है। ऐसे में स्पेशल प्रॉसिक्यूटर आॅफिसर से सलाह ली जा रही है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned