खाकी पर फिर लगा दाग, यूपी पुलिस के होमगार्डों ने ही लूटी 30 किलो चांदी

Highlights

-14 जनवरी को सर्राफा व्यापारी के ड्रावइर से हुई थी लूट

-फरार होमगार्ड की तलाश में जुटी पुलिस

-लूटी गई चांदी बरामद

By: Rahul Chauhan

Published: 17 Jan 2021, 11:44 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

नोएडा। सेक्टर 39 क्षेत्र के नोएडा एक्सप्रेसवे पर 14 जनवरी को सर्राफा व्यापारी के ड्राईवर के साथ हुई 30 किलो चांदी की लूट के मामले में पुलिस ने एक होमगार्ड समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। जबकि एक होमगार्ड फरार है। गिरफ्तार किए गए लोगों में सरस्वती ज्वैलरी का मालिक भी शामिल है,जिसने 15 लाख रुपये में चांदी को खरीदने की डील की थी। पुलिस ने इनके कब्जे से से लूटी हुई 30 किलो चांदी बरामद कर ली है। दरअसल, इस लूट में शामिल होमगार्ड विक्रांत और उमेश थाना एक्सप्रेसवे तथा थाना सेक्टर 20 में तैनात हैं। इनमे से उमेश फरार बताया जा रहा है। विक्रांत समेत पुलिस ने दो आरोपियो को गिरफ्तार किया है। एक सरस्वती ज्वैलरी का मालिक शौकिन्दर कुमार है और दूसरा धर्मेन्द्र है। जिसने लूटी गई 30 किलो कि चाँदी को 15 लाख रुपये में खरीदने की डील मे मध्यसता की भूमिका निभाई थी।

यह भी पढ़ें: मदरसा छात्रा का पुलिस चौकी के पास से अपहरण, परिजनों ने किया हंगामा

एडीसीपी नोएडा ज़ोन-1 ने बताया कि रणविजय सिंह ने बताया कि आगरा के रहने वाले सर्राफा व्यापारी सुशील चौहान का ड्राइवर अजय 14 जनवरी की सुबह दिल्ली से 211 किलो चांदी अपनी डस्टर कार में रखकर नोएडा एक्सप्रेसवे के रास्ते आगरा जा रहा था। नोएडा एक्सप्रेसवे के सेक्टर 93 के पास मोटरसाइकिल पर सवार होकर आए दो लोगों ने उसकी कार रोकी। मोटरसाइकिल सवार लोगों ने चालक को अपने आपको सरकारी विभाग का बताया। तब कार चालक ने अपने मालिक से उनकी बात करवाई। दोनों आरोपियों ने कार चालक से थाने चलने को कहा और रास्ते में जबरन चांदी की एक सिल्ली लूट ली, जिसका वजन करीब 30 किलो है।

यह भी देखें: नोएडा में हेल्थ वर्कर समीम को लगा पहला टीका

एडीसीपी नोएडा ने बताया कि मुख्य आरोपित उमेश व विक्रांत होमगार्ड हैं। विक्रांत की नियुक्ति सेक्टर-20 कोतवाली व उमेश की नियुक्ति एक्सप्रेस-वे कोतवाली में है। दोनों होमगार्ड घटना के दिन महामाया फ्लाइओवर पर ट्रक, आटो व टैक्सी से अवैध वसूली कर रहे थे। पीड़ित से ठगी के बाद आरोपित धर्मेंद्र से चांदी की सिल्ली बेचने के लिए संपर्क किया। धर्मेन्द्र उन्हें सिल्ली लेकर मेरठ के लखवाया स्थित सरस्वती ज्वेलरी के मालिक शौकिदर के पास ले गया। यहां 15 लाख रुपये में चांदी की डील हुई। शनिवार को चांदी की तौल और गुणवत्ता की जांच होनी थी, लेकिन इससे पहले पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। जबकि होम गार्ड उमेश फरार बताया जा रहा है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। आरोपितों के कब्जे से ठगी की चांदी की सिल्ली व एक बाइक बरामद की है।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned