भारत तरक्की के मामले में भले ही पीछे हो, पर इस बुराई में ज्लद ही चीन छूट जाएगा हम से पीछे

भारत तरक्की के मामले में भले ही पीछे हो, पर इस बुराई में ज्लद ही चीन छूट जाएगा हम से पीछे

Iftekhar Ahmed | Publish: Nov, 10 2018 05:19:58 PM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

डायबिटीज के मामले में भारत दूसरे नंबर पर है। अभी तक चीन नंबर वन की रैंकिंग पर बना हुआ है। 2020 तक चीन को पीछे छोड़ने की है आशंका

नोएडा. डायबिटिक फोरम की नोएडा शाखा के तत्‍ववाधान में डायबिटिक माह के अवसर पर सैक्‍टर-12 नोएडा स्थित सरस्‍वती शिशु मन्दिर विद्यालय में नि:शुल्‍क मेगा स्‍वास्‍थ्‍य मेला का आयोजन 11 नवंबर को किया जाएगा। मेले के आयोजन में भारत विकास परिषद, नोएडा एंटरप्रेन्योर एसोसिएशन, जुनून चैरीटेबल ट्रस्ट के साथ शहर के सभी अस्पताल और फार्मास्टिकल कम्‍पनियां अपना सहयोग दे रहे हैं। यह मेला सुबह 9 बजे शुरू हो कर दोपहर 1 बजे तक चलेगा, जिसमें लोगों अपना ईसीजी, ब्‍लडग्‍लूको, लंग्‍स टेस्‍ट, ऑख-कान-गला, अल्‍ट्र्रासाउंड, बॉडी मांस इंडेक्‍स, इको की जांच करा सकेंगे। उत्तर प्रदेश सरकार में खेल एवं युवा मामलों के मंत्री चेतन चौहान, नोएडा डायबिटिक फोरम के अध्‍यक्ष डा. जीसी वैष्‍णव और पंकज जिन्‍दल ने यह जानकारी दीं।

यह भी पढ़ें- पत्नी के लिए बनाए गए ताजमहल में ही दफ्न किए गए बुलंदशहर के 'शाहजहां'

उत्तर प्रदेश सरकार मे खेल एवं युवा मामले मंत्री चेतन चौहान ने कहा की जागरुकता के लिए हेल्थ कैंप लगातार चलते रहना चाहिए। मेरा अनुभव है कि गाँवों के मुक़ाबले शहर में बीमारियां ज्यादा होती थी। पर अब गांव में भी कई गंभीर बीमारियां होने लगी है। इसका कारण यह है कि हम लोगों ने मेहनत करना कम कर दिया है। अब लोग खेतों पर भी जाते हैं तो मोटरसाइकिल से जाते हैं। साइकिल चलाना, पैदल चलना बंद हो गया है। हम कह सकते हैं कि ज्यादा सुविधा लोगों को बीमार कर रही है। ऐसे में हेल्थ कैंप से ज्यादा जागररुक कर लोगों को बीमारियों के प्रति सचेत किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें- बेरोजगारों के लिए आई बड़ी खुशखबरी: अब हर युवा को यहां मिलेगी नौकरी

नोएडा डायबिटिक फोरम के अध्‍यक्ष डा. जीसी वैष्‍णव ने कहा की हर वर्ष की तरह इस बार भी मेगा हेल्थ कैंप का आयोजन किया जा रहा है। इस बार का स्लोगन है फैमिली। उन्होंने कहा कि आज हम डायबिटीज के मामले में दूसरे नंबर पर हैं। अभी तो नंबर वन चाइना बना हुआ है, लेकिन हम 2020 तक चाइना को पीछे छोड़ देंगे। यह दुखद बात है कितनी अवेयरनेस के बावजूद भी हम लोग अपना ख्याल नहीं रख पाते। भारत में डायबिटीज में बढ़ने एक महत्वपूर्ण बात यह है कि 25 से 45 साल के लोगों में डायबिटीज की संख्या तेजी से बढ़ रही है। खानपान के प्रति अनुशासनहीनता, खाने का समय निश्चित नहीं होना, सोने का कोई टाइम नहीं होना, इसके कारण डायबिटीज आसानी से लोगों को अपना शिकार बना रही है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned