झांसी पुष्पेंद्र यादव एनकाउंटर की नोएडा तक आग, जिम ट्रेनर जितेंदर यादव ने सुनाई आपबीती, दो साल से व्हीलचेयर पर चल रहा

झांसी पुष्पेंद्र यादव एनकाउंटर की नोएडा तक आग, जिम ट्रेनर जितेंदर यादव ने सुनाई आपबीती, दो साल से व्हीलचेयर पर चल रहा

Ashutosh Pathak | Updated: 12 Oct 2019, 10:36:37 AM (IST) Noida, Gautam Budh Nagar, Uttar Pradesh, India

Highlights

  • पुष्पेंद्र यादव एनकाउंटर मामले ने पकड़ा तूल
  • नोएडा में सपाईयों समेत संगठनों ने किया प्रदर्शन
  • जिम ट्रेनर जितेंदर यादव ने सुनाई अपनी आपबीती

नोएडा। झांसी में पुष्पेंद्र यादव के एनकाउंटर मामले के विवाद के बाद यूपी की सियासत गरम है। ऐसे में अब नोएडा पुलिस पर फेक एनकाउंटर का आरोप लगाते हुए जिम ट्रेनर जितेंदर यादव ने कैंडल मार्च निकाला। जिम ट्रेनर जितेंदर यादव ने झांसी एनकाउंटर मामले की निष्पक्ष एजेंसियो से जांच कराके दोषी अधिकारियों को सजा दिये जाने की मांग की है।

दरअसल झांसी की तहसील मोठ में रविवार को पुष्पेंद्र यादव को एनकाउंटर में पुलिस ने मुठभेड़ के बाद मार गिराया था। जिसे लेकर राजनीति भी गरम में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव समेत तमाम नेता पुलिस पर फर्जी एंकाउंटर का आरोप लगा कर जांच की मांग कर रहे हैं। इसी के विरोध में नोएडा सेक्टर 121 पर्थला चौक पर समाजिक संगठनों ने कैंडल मार्च निकाला|

नोएडा के सैक्टर 122 के कम्यूनिटी सेंटर यह कैंडल मार्च शहर के प्रमुख मार्ग से होते हुए नोएडा सेक्टर 121 पर्थला चौक पर आकर समाप्त हुआ। जहां सभी ने पुष्पेन्द्र यादव के चित्र के सामने कैंडल रखकर उनको श्रद्धांजलि दी। नोएडा के जिम ट्रेनर जितेंदर यादव ने अपने बारे में बताते हुए कहा कि 3 फरवरी 2018 की रात में नोएडा के सेक्टर 122 के पास पुलिस ने एक फेक एनकाउंटर में उसे गोली मारी थी और आज तक न्याय की इंतजार कर रहे है। जितेंदर यादव का कहना है की पिछले दो साल से में झेल रहा हूं। 5 अक्तूबर को पुष्पेंद्र यादव को फर्जी एनकाउंटर हुआ उसका दुख है। ये फर्जी एंकाउंटर बंद होना चाहिए।

वहीं झांसी के पुष्पेंद्र यादव की हत्या से शहर के समाजवादी कार्यकर्ताओं में काफी आक्रोश है, इसके विरोध में सैकड़ों की संख्या में समाजिक संगठनों ने कैंडल मार्च निकालकर विरोध प्रदर्शन किया। आरोपी इंस्पेक्टर धर्मेंद्र सिंह चौहान पर मुकदमा दर्ज कराए जाने की मांग की है। प्रदर्शनकारियों का कहना है की जब से प्रदेश में योगी सरकार आई है उनकी ठोको नीति के तहत नवजवानों का फर्जी एनकाउंटर किया जा रहा है और रातो रात सरकार उनको गुंडा और माफिया घोषित कर रही है। जिम ट्रेनर जितेंदर यादव, सुमित गुर्जर और विवेक तिवारी का एंकाउंटर इसका जीता जागता उधारण है।

वहीं प्रदर्शनकारियों ने इसे पुलिस का फर्जी एनकाउंटर बताते हुए हत्या करार दिया। मामले की निष्पक्ष जांच एजेंसियो जांच कराके दोषी अधिकारियों को सजा दिये जाने की मांग की है। उनका कहना है की जब तक पुष्पेंद्र यादव के हत्यारे को सजा नहीं मिलती है, हम लोग इसी तरह से प्रयास करते रहेंगें।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned