अखिलेश सरकार में पुलिस की नाकामी, अभिरक्षा में हत्या

अखिलेश सरकार में पुलिस की नाकामी, अभिरक्षा में हत्या
Gun Shot

sandeep tomar | Publish: Dec, 25 2016 05:10:00 PM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

पुलिस के सामने ही हथियार बंद बदमाश गोलियां बरसाते रहे...

बागपत: अखिलेश यादव भले ही यूपी पुलिस को हाईटेक बनाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं, लेकिन पुलिस की नाकामी बार-बार आड़े आकर अखिलेश के सपने को धुंधला कर रही है। ऐसा ही एक मामला बागपत जिले में सामने आ रहा है। बदमाशों ने रविवार को पुलिस सुरक्षा में चल रहे एक वादी पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर उसको मौत के घाट उतार दिया। ताज्जुब की बात तो ये है कि पुलिस बदमाशों को पकड़ भी नहीं पाई है। वहीं गोलियों की तड़तड़ाहट में सुरक्षाकर्मी ने भागकर जान बचाई। दिनदहाड़े हुई इस वारदात से पुलिस महकमा हिल गया।

पहले छोटे भाई की कर दी थी हत्या

बागपत के धनौरा सिल्वर नगर के देवी सिंह (48) पुत्र महिपाल के छोटे भाई सचिन की 15 मई 2015 को अमीनगर सराय मार्ग पर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्याकांड में देवी सिंह ने गांव के ही कई लोग नामजद कराए थे, जो अभी तक फरार हैं। भाई के हत्यारोपियों को सलाखों के पीछे भिजवाने के लिए देवी सिंह पुरजोर पैरवी कर रहा था। उन पर लगातार समझौते का भी दबाव बनाया जा रहा था। मना करने पर पिछले दिनों हत्यारोपियों ने उन पर जानलेवा हमला किया।

पुलिस ने भागकर बचाई जान


कुछ माह पहले देवी सिंह को पुलिस अधीक्षक ने दो सुरक्षाकर्मी उपलब्ध करा दिए, जिनमें से एक पंद्रह दिन पूर्व हटा दिया गया था। आज सुबह वह अपने खेत में चारा लेने गए थे। इस दौरान एक दर्जन से अधिक बदमाशों ने अत्याधुनिक हथियारों से देवी सिंह और उनके गनर पर फायरिंग शुरू कर दी। अचानक हुए हमले में देवी सिंह की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि सुरक्षाकर्मी ने किसी तरह भागकर जान बचाई। वहीं शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। फिलहाल गांव में तनावपूर्ण स्थिति बनी हुई है। एएसपी अजीजुल हक ने बताया हत्यारोपियों की तलाश में नाकाबंदी की गई है, जल्द ही पकड़ लिए जाएंगे।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned