टीआरपी के लिए राहुल को महत्त्व देना बन्द करे मीडियाः बीजेपी

टीआरपी के लिए राहुल को महत्त्व देना बन्द करे मीडियाः बीजेपी
telecom minister ravi shankar prasad

sandeep tomar | Publish: Dec, 21 2016 06:07:00 PM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

बीजेपी ने कहा कि राहुल एक हारे हुए नेता हैं और बिना सोचे समझे बोलते हैं

नई दिल्ली/नोएडा। राहुल गांधी के पीएम पर वार से तिलमिलाई बीजेपी ने कहा है कि सिर्फ टीआरपी के लिए मीडिया राहुल गांधी को महत्त्व देना बन्द करे। बीजेपी ने कहा कि राहुल एक हारे हुए नेता हैं और बिना सोचे समझे बोलते हैं। ऐसे में उन बातों को आधार नहीं बनाया जाना चाहिए जो अदालतों तक से सिद्ध हो चुके हैं।

हताश हो चुका है गांधी परिवार

बीजेपी के वरिष्ठ नेता रवि शंकर प्रसाद ने बुधवार शाम को कहा कि अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर घोटाले में बुरी तरह फंस चुके गांधी परिवार से यह आवाज़ इसलिए आ रही है क्योंकि वे बिल्कुल हताश हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि जब अदालत खुद इस बात को खारिज कर चुकी है कि तो इसे कहने का कोई मतलब नहीं रह गया है।

पीएम पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा भ्रष्टाचार का आरोप लगाने के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी नेता ने कहा कि प्रधानमंत्री गंगाजल की तरह पवित्र हैं और उन पर कोई भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा सकता।

राहुल ने लगाए थे ये आरोप

बीजेपी नेता राहुल गांधी के गुजरात में दिए गए उस बयान पर प्रतिक्रिया दे रहे थे जिसमें राहुल ने प्रधानमंत्री पर सीधा भ्रष्टाचार करने का आरोप लगाया। राहुल गांधी ने अपने भाषण में कहा कि सहारा कंपनी के पास इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के छापे में महत्वपूर्ण दस्तावेज मिले हैं। इन दस्तावेजों में यह बात लिखी गयी है कि अनेक तारीखों पर नरेंद्र मोदी को ढाई-ढाई करोड़ के हिसाब से कई बार पैसे दिए गए।

राहुल ने पीएम पर हमला बोलते हुए कहा कि यह साबित हो गया है कि प्रधानमंत्री खुद भ्रष्टाचार में लिप्त हैं। उन्होंने पीएम से पूछा कि इस भ्रष्टाचार की जांच कब और कैसे की जायेगी।

सुप्रीम कोर्ट में उठा था मामला


बता दें कि सुप्रसिद्ध वकील प्रशांत भूषण ने इस मामले को सुप्रीम कोर्ट में भी उठाया था। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने अपनी टिप्पणी में यह कहा था कि उनके पास इस बात को प्रमाणित करने के लिए पर्याप्त सबूत नहीं हैं और एक संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति पर बिना किसी ठोस आधार के आरोप लगाने से बचा जाना चाहिए। इस मामले की सुनवाई जारी है जिसकी अगली तारीख जनवरी माह में निर्धारित की गयी है।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned