मिशन शक्ति के तहत अथॉरिटी के मुख्य कार्यालय में शुरू हुआ मॉडल क्रेच

Highlights

- नोएडा प्राधिकरण की सीईओऋतु माहेश्वरी ने किया लोकार्पण

-औद्योगिक क्षेत्रों में भी मॉडल क्रेच खोले जाएंगे

- सीईओ बोलीं- अब महिला कर्मी निश्चिंत होकर कार्य कर सकेंगी

By: lokesh verma

Published: 04 Mar 2021, 03:03 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
नोएडा. नोएडा प्राधिकरण के सेक्टर-6 स्थित मुख्य कार्यालय में शिशु गृह (मॉडल क्रेच) की शुरुआत हो गई है। प्राधिकरण के मुख्य प्रशासनिक भवन सेक्टर-6 में पहले शिशु गृह का लोकार्पण नोएडा की सीईओ ऋतु माहेश्वरी ने किया। प्राधिकरण के अधिकारियों-कर्मचारियों को यह सुविधा नि:शुल्क दी जाएगी। अब प्राधिकरण कार्यालय में कार्यरत महिला अधिकारी-कर्मचारी निश्चिंत होकर कार्य कर सकेंगे।

यह भी पढ़ें- भारत की पहली विश्व स्तरीय Robotic मैन्युफैक्चरिंग यूनिट का उद्घाटन, जानिए कहां और कैसे करेगी काम

नोएडा के सेक्टर-6 में पहले शिशु गृह (मॉडल क्रेच) का शुभारंभ करते हुए सीईओ ऋतु माहेश्वरी ने कहा कि मिशन शक्ति अभियान के अंतर्गत उत्तर प्रदेश शासन की ओर से महिला सशक्तिकरण स्वास्थ्य सुरक्षा और स्वावलंबन के लिए विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। मिशन शक्ति के प्रथम विशेष अभियान के अंतर्गत नोएडा प्राधिकरण में औद्योगिक क्षेत्रों क्षेत्रों में प्राधिकरण द्वारा उनके संसाधनों से मॉडर्न क्रेच स्थापित किए जाने की परिकल्पना की गई थी, जिसकी शुरुआत हो गई है। यहां स्थापित किए गए शिशु ग्रह में बच्चों के मनोरंजन के लिए झूलों, बिल्डिंग ब्लॉक्स, टॉय पजल और विभिन्न प्रकार की गेंदों के साथ कलरिंग बुक्स, क्राउन और फूल-फलों जानवरों से संबंधित बच्चों की किताबें और चार्ट आदि की व्यवस्था की गई है। उनके खाने पीने की व्यवस्था के लिए एक रसोई कार्यशील करने के साथ, एक शौचालय की व्यवस्था की गई है। बच्चों की देखभाल के लिए एक केयरटेकर को तैनात किया गया है। बच्चों के लिए शिशु गृह में डायपर, बेबी वाइप्स भी उपलब्ध कराए गए हैं।

सीईओ के कहा कि आने वाले समय में शहर के कुछ औद्योगिक क्षेत्रों में भी क्रेच खोले जाएंगे। जो कम दरों पर महिला कर्मियों को मॉडल क्रेच कि सुविधाएं प्रदान कर सकेंगे। शिशु गृह में बच्चों के मनोरंजन के लिए झूलों, बिल्डिंग, ब्लॉक्स, टॉय पजल्स एवं भिन्न प्रकार की गेंदों उपलब्ध होंगी और गर्मियों के लिए एसी की व्यवस्था की जाएगी।

यह भी पढ़ें- 'प्राइवेट एकेडमीज को प्रमोट करना बेहद जरूरी, खिलाड़ी निखरेंगे, रोजगार भी मिलेगा'

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned