काम की खबर: फॉगिंग व सफाई के लिए इस नंबर पर करें मैसेज, तुरंत पहुंचेगी टीम

Highlights

-नोएडा प्राधिकरण ने जारी किया नंबर

-नंबर पर कोई भी कर सकता है मैसेज

By: Rahul Chauhan

Published: 15 Sep 2020, 02:39 PM IST

नोएडा। दुनिया भर में छाया कोरोना का कहर है जो कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है, इस वक्त पर सिर्फ भारत देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया इस वायरस के कहर को झेल रही है। एक तरफ जहां सरकार ने देश को इस वायरस से बचाने के लिए कई तरह की मुहिम चलाई हुई है वहीं कुछ आंकड़े हैं जो चिंता का कारण बने हुए हैं। भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या दिन बा दिन बढ़ती ही जा रही है। वहीं बात करें उत्तर प्रदेश की तो यहां पर हर दिन कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में इजाफा देखने को मिल रहा है।

बात करें नोएडा की तो यहां पर कोरोना वायरस के संक्रमण के बीच ही अब डेंगू के मरीजों की संख्या भी बढ़ रही है। जहां एक ओर प्रशासन कोरोना से बचाव के लिए रास्ते निकालने में लगा था ऐसे में डेंगू जैसी बीमारी ने भी दस्तक दे दी है। ऐसे में डेंगू की समस्या से निजात पाने के लिए नोएडा अथॉरिटी के जन स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने डेंगू रोकने के लिए ऐंटी लार्वा के छिड़काव का अभियान शुरू किया है और यह अभियान बहुत ही तेजी से चल रहा है। बता दें कि नोएडा अथॉरिटी ने कुल 14 टीमों का गठन किया हैं जो ऐंटी लार्वा के छिड़काव के लिए लगाई गई हैं। हर टीम में लगभग 4-5 कर्मचारी हैं जो दिनों के हिसाब से अपने-अपने एरिया में ऐंटी लार्वा का छिड़काव करेंगे।

जैसा कि हम सब जानते हैं कि डेंगू मच्छर के काटने से फैलता है ऐसे में अथॉरिटी मच्‍छरों के प्रकोप को कम करने के लिए फॉगिंग भी करवा रही है। इसी के साथ अथॉरिटी ने वॉट्सऐप हेल्पलाइन नंबर: 9717080605 भी निकाला है जिसमें आप अपने क्षेत्र की समस्या बता सकते हैं, यदि कहीं ऐंटी लार्वा का छिड़काव न हुआ हो, नाली में जलभराव या घास खड़ी हो या फॉगिंग न हुई हो तो आप अथॉरिटी के इस वॉट्सऐप हेल्‍पलाइन नंबर पर शिकायत कर सकते हैं।

अथॉरिटी में जनस्‍वास्‍थ्‍य विभाग के प्रभारी एससी मिश्रा ने बताया कि ऐंटी लार्वा का छिड़काव पहले भी करवाया गया है। अब इसे प्रभावी तरीके से करवाया जा रहा है। कोशिश यही है कि कोई भी ऐसी जगह न छूटे जहां आबादी के बीच जलभराव हो। इसी तरह छिड़काव करने वाले कर्मचारी भी लोगों से कूलर और गमलों में पानी का भराव न रखने के लिए कह रहे हैं। साफ-सफाई पर पूरा जोर दिया जा रहा है ताकि गंदगी की वजह से मच्‍छर न पनपें।

पार्क व सामुदायिक स्‍थलों पर भी ऐंटी लार्वा का छिड़काव अथॉरिटी करवा रही है। ऐंटी लार्वा के छिड़काव के लिए सभी टीमें साइकल से जा रही हैं। इस बार टी में कोई बाइक नहीं भेजी जा रही है ताकि निर्धारित एरिया में कर्मचारी आराम से ऐंटी लार्वा का छिड़काव कर सकें। कंटेनमेंट जोन में भी सैनिटाइजेशन जारी कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए अथॉरिटी का सैनिटाइजेशन भी जारी है। अब सिर्फ कंटेनमेंट एरिया वा सार्वजनिक जगहों, बाजारों में ही सैनिटाइजेशन के लिए गाड़ी जा रही है।

वहीं जो सफाई कर्मी हड़ताल पर गए हैं उन पर भी अब अथॉरिटी एक्शन लेने जा रही है। दरअसल कार्रवाई फेस ऐप से हाजिरी के विरोध में शहर के सफाई कर्मियों की हड़ताल रविवार को भी जारी रही, वहीं ओएसडी की अपील के बाद कुछ कर्मचारी काम पर वापस भी आए हैं। लेकिन अब इसी के साथ अथॉरिटी कर्मचारियों की छटनी और नई भर्तियों की तैयारी में लगी हुई है।

अथॉरिटी के अधिकारियों ने बताया कि सफाई कर्मचारियों की हड़ताल के 13 दिन बीत जाने से शहर में सफाई की समस्या हो गई है। सफाई कर्मचारियों की कमी के चलते काम में परेशानी आ रही है। वहीं हड़ताल पर गए कर्मचारियों की मानें तो उनका कहना है कि अथॉरिटी उनको गुपचुप तरीके से एचसीएल कंपनी में ट्रांसफर करना चाह रही है। इसलिए उस कंपनी का ऐप बनवाया गया है। वहीं अथॉरिटी अधिकारी इस बात को स्पष्ट कर चुके हैं कि एचसीएल एक आईटी कंपनी है जिससे सिर्फ अथॉरिटी ने अटेंडेंस के लिए ऐप डिजाइन करवाया है।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned