ऑपरेशन मुस्कान: टेक्नोलॉजी, ट्रेनिंग और ह्यूमन इंटेलिजेंस के समन्वय से 72 परिवारों के घर लौटी खुशी

एक माह तक चले ऑपरेशन मुस्कान के समापन। 72 बच्चों को उनसे परिजनों को तलाश कर सौंपा गया।

By: Rahul Chauhan

Updated: 25 Jul 2021, 01:50 PM IST

नोएडा। गौतमबुद्ध नगर पुलिस कमिश्नरेट ने ऑपरेशन मुस्कान चलाकर 72 गुमशुदा बच्चों के परिजनों को ढूंढकर उनको सीडब्ल्यूसी के माध्यम से परिजनों सौंपा और गमजदा परिवारों के चेहरों पर खुशी लौटाई। लापता बच्चों को बरामद करने वाली टीम और अधिकारियों को पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने सम्मानित भी किया और कहा कि टेक्नोलॉजी, ट्रेनिंग और ह्यूमन इंटेलिजेंस के समन्वय से यह अभियान चलाया गया जो अत्यंत सराहनीय है। ऑपरेशन मुस्कान ने उन परिवारों को खुशी दी है जिन्होंने अपने बच्चों को पाने की उम्मीद खो दी थी।

यह भी पढ़ें: यूपी का चुनावी रोड मैप, अगले 6 महीने में योगी सरकार बनाएगी दस हजार किमी पक्की सड़क, इन प्रोजेक्ट्स को भी करेगी पूरा

पुलिस कमिश्नरेट के सभागार में आयोजित एक माह तक चले ऑपरेशन मुस्कान के समापन पर पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने जहां पुलिसकर्मियों सम्मानित किया वही इस बात पर खुशी जाहिर की कि यह एक सफल अभियान था। जिसमें 72 बच्चों को उनसे परिजनों को तलाश कर सौंपा गया। इस अभियान के लिए कुल 40 टीमें बनाई गई थी। जिन्होंने पश्चिमी उत्तर प्रदेश, एनसीआर रीज़न और दूरदराज के उत्तर प्रदेश के रीजन में जाकर टेक्नोलॉजी ट्रेनिंग और ह्यूमन इंटेलिजेंस के समन्वय से इन बच्चों के मां बाप को को तलाश कर पीडब्ल्यूडी के माध्यम से उन्हें सौंपा।

यह भी पढ़ें: बिजली विभाग की लापरवाही से बुरी तरह झुलसा, देखने वालों की भी कांप गई रुह, वीडियो हो रहा है वायरल

आलोक सिंह ने बताया कि यह बच्चे अलग-अलग कारणों से अपने परिवार से जुदा हो गए थे। इन बच्चों के घर छोड़ने के जो प्रमुख कारण थे उनमे से बताया गया है। कुछ अभिभावकों की डांट से गुस्से में आकर घर चल छोड़ दिया था। कुछ बच्चे ऐसे थे जो स्वयं ही घूमने के लिए आसपास के क्षेत्रों में गए, बाद में रास्ता भटक गए घर तक नहीं पहुंच पाए। इसी तरह की अन्य छोटे-छोटे संस्मरण लोग और बच्चों ने बताए हैं। इनमे से एक ऐसा बच्चा था जो बोल भी नहीं पता था और सुन भी नहीं पाता था उसे पुलिस टीम ने 8 घंटे के रिकॉर्ड समय के अंदर करके परिवार तक पहुंचा दिया।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned