संभल में दो पुलिस वालों की हत्या के बाद STF ने 65 लाख रुपए लूट के मास्टर माइंड को Encounter में किया ढेर

  • समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राज्यसभा सांसद की डेयरी का अकाउन्टेंट से हुई थी लूट
  • कैश लेकर बैंक (Bank) में जमा करने जा रहा था अकाउंटेंट (Accountant)
  • मारे गए बदमाश मेहरबान पर हत्या और लूट के लगभग 30 मामले हैं दर्ज

By: Iftekhar

Published: 18 Jul 2019, 07:07 PM IST

नोएडा. संभल में दो पुलिस वालों की हत्या के बाद STF ने गुरुवार को 65 लाख रुपए की लूट के मास्टर माइंड को मुठभेड़ कर दिया। एसटीएफ नोएडा और गाजियाबाद के साहिबाबाद थाने की पुलिस ने ज्वाइंट ऑपरेशन में जारचा थाना क्षेत्र में दिनदहाड़े मुठभेड़ में 65 लाख रुपये लूट के मास्टर माइंड और एक लाख रुपये के इनामी बदमाश को मार गिराया। मुठभेड़ में मारे गए बदमाश की शिनाख्त मेहरबान के रूप में हुई है। वह मूल रूप से बुलंदशहर का रहने वाला था। बीती 27 मई को जारचा थाना क्षेत्र में दिनदहाड़े हुई लूट का मास्टर माइंड था। उस मामले में उस पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया था। मेहरबान पर हत्या और लूट के लगभग 30 मामले दर्ज हैं। लूट की वारदात 27 मई को उस समय हुई थी, जब समाजवादी पार्टी के राज्यसभा सांसद की डेयरी का अकाउन्टेंट कैश लेकर बैंक में जमा करने जा रहा था।

 

पुलिस के मुताबिक मारा गया बदमाश मेहरबान ग्रेटर नोएडा एनटीपीसी रोड पर दिनदहाड़े 27 मई हुई 65 लाख रुपये कैश लूट के मास्टर माइंड था। एसटीएफ नोएडा यूनिट के सीओ राजकुमार मिश्रा ने बताया कि बुधवार की रात इनपुट के आधार पर एसटीएफ की टीम ने साहिबाबाद थाने की पुलिस के साथ जाल बिछाया गया। काफी इंतजार के बाद एक संदिग्ध वाहन आता दिखाई दिया। उसे रुकने का इशारा किया गया, लेकिन वह पुलिस टीम पर फायर कर भागने लगा। उसकी गोली से एसटीएफ नोएडा यूनिट के हेड कांस्टेबल अनिल और कांस्टेबल हरिओम जख्मी हो गए। एसटीएफ और साहिबाबाद पुलिस ने भी घेराबंदी कर जवाबी कार्रवाई की। इसमें भाग रहा बदमाश गोली लगने से जख्मी हो गया। उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। उन्होंने बताया कि दोनों जख्मी पुलिसकर्मियों का इलाज चल रहा है और वे खतरे से बाहर हैं।


एसटीएफ के सीओ राजकुमार मिश्रा ने बताया कि मेहरबान उस वक्त सुर्खियों में आया, जब उसने 20 फरवरी 2001 को बुलंदशहर में सुपारी लेकर चावल व्यापारी यासीन चावल वाला की हत्या कर दी। यासीन चावल वाला की हत्या में मेहरबान को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी। फिलहाल, वह जमानत पर था। एसटीएफ के सीओ ने बताया कि 27 मई-2019 को समाजवादी पार्टी के राज्यसभा सांसद की डेयरी के अकाउन्टेंट चंद्र प्रकाश शर्मा से जारचा थाना क्षेत्र में बदमाशों ने दिनदहाड़े 65 लाख रुपये की नकदी उस समय लूट ली थी, जब वह बैंक में नकदी जमा कराने जा रहे थे।

घटना के कुछ देर बाद ही पुलिस ने इरफान समेत दो बदमाशों को पकड़ लिया था। फौरी तौर पर घटना में शामिल बदमाशों की संख्या पांच बताई गई थी। लेकिन, जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ी, उसमें कई और नाम जुड़ते चले गए। एक जून को पुलिस ने मुठभेड़ में इस वारदात में शामिल शाहिद उर्फ शाहिद पांडेय को गिरफ्तार कर लिया। उसके बाद 3 जून को जारचा थाने की पुलिस ने कुलदीप उर्फ बिन्टू उर्फ बिन्तू को गिरफ्तार किया। कुलदीप से पूछताछ के बाद पुलिस ने हापुड़ जिले के धौलाना निवासी नरेश पुत्र वीर सिंह और गौतमबुद्ध नगर के महावली गांव निवासी विष्णु पुत्र रघुराज सिंह को दबोच लिया।

4 जून-2019 को एसएसपी ने बताया कि इस मामले में शामिल दिल्ली के जाकिर नगर निवासी मन्नान उर्फ राशिद उर्फ मोनू उर्फ राहिल पुत्र मोहम्मद अली, मुजफ्फर नगर निवासी इरशाद उर्फ जनसीना उर्फ पहलवान पुत्र हाजी रशीद, बुलंदशहर निवासी मेहरबान पुत्र हाजी कल्लू कसाई, बुलंदशहर के अरनिया निवासी इकबाल उर्फ गुड्डू पुत्र रौनक अली पुलिस की पकड़ से बाहर हैं।

Show More
Iftekhar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned