Noida: बस में भरकर थाने लाए गए 45 युवक और युवतियां- देखें वीडियो

Highlights

  • Noida में साइबर सेल और नॉलेज पार्क पुलिस ने की छापेमारी
  • कंपनी का मालिक बताया जा रहा है गैंग का सरगना
  • इनके पास से 16 मोबाइल और दो कंप्यूटर मिले

नोएडा। अगर आपके पास सस्ते मोबाइल और अन्य जरूरी सामान खरीदने के लिए फोन आए तो थोड़ा संभल कर और जांच पड़ताल करके ही खरीदें। नामी कंपनियों के नाम पर कुछ लोग ठगी का काम कर रहे हैं। साइबर सेल (Cyber Cell) और नॉलेज पार्क कोतवाली पुलिस ने ऐसी ही एक कंपनी के 45 कर्मचारियों को गिरफ्तार किया है।

Cashback और लाॅटरी का देते थे लालच

पुलिस (Police) के अनुसार, आरोपी ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी फ्लिपकार्ट (Flipkart) और मिंत्रा (Myntra) के नाम से लोगों को फोन करके उन्हें कैशबैक (Cashback) और लॉटरी के माध्यम से उपहार देने का लालच देकर ठगी कर रहे थे। इनको एक बस में भरकर थाने लाया गया। पुलिस ने इनके कब्जे से भारी संख्या में मोबाइल और अन्य जरूरी सामान बरामद किया है। पुलिस ने इन सभी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

यह भी पढ़ें: Ghaziabad: भाजपा से आगे निकली सपा, अखिलेश यादव ने अपने करीबी नेता को बनाया जिलाध्‍यक्ष

रजिस्‍ट्रेशन के नाम पर लेते थे पैसे

नोएडा पुलिस ने एक ऐसे गिरोह के सदस्‍यों को गिरफ्तार किया है, जो कई साल से अमेजॉन (Amazon) व फ्लिपकार्ट आदि शॉपिंग साइटों के नाम पर लोगों को फोन करके उन्‍हें ठग रहे थे। आरोपी इनाम में एलईडी लकी ड्रॉ या कैशबैक का लालच दिया करते थे। इसके बाद वे रजिस्ट्रेशन के नाम पर फर्जी बैंक खातों या फोन पे आदि से फर्जी खातों में मनी ट्रांसफर करा लिया करते थे। आज तक इन लोगों को किसी को भी कोई इनाम नहीं दिया है।

यह भी पढ़ें: Baghpat: स्‍टाफ नर्सों की नौकरी में भी सामने आया बड़ा घोटाला, आठ को नौकरी से निकाला

यह कहा एसएसपी ने

एसएसपी वैभव कृष्‍ण (SSP Vaibhav Krishna) ने बताया की पुलिस को शिकायत मिली थी। इसके बाद साइबर सेल और नॉलेज पार्क पुलिस कोतवाली को इस मामले के खुलासे के लिए लगाया गया। पुलिस ने सेक्टर-6 में चल रहे इस कॉल सेंटर पर छापेमारी की। वहां काम कर रहे 45 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिसमें युवतियां और युवक शामिल हैं। पुलिस ने इनके पास से 16 मोबाइल और दो कंप्यूटर बरामद किए हैं। इसके साथ ही पुलिस ने इनके पास से लोगों की डिटेल भी बरामद कर ली है। आरोपी फ्ल‍िपकार्ट कंपनी से किसी तरह का कस्‍टमर्स का डाटा निकलवा लेते थे। कंपनी का मालिक गैंग का सरगना है। पुलिस उसको पकड़ने के लिए कई शहरों में दबिश दे रही है।

Show More
sharad asthana
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned