नोएडा में चेकिंग के दौरान दस्तावेज न मिलने पर पुलिस ने सीज की हमर

महंगी गाड़ी लेकर सड़क पर चल रहे हैं तो हो जाइए सावधान, यह काम नहीं किया तो गाड़ी हो सकती है सीज

By: Iftekhar

Published: 11 Sep 2017, 10:05 PM IST

 नोएडा. इन दिनों शहर के फेज तीन थाने में खड़ी एक हमर गाड़ी आर्कषण का केंद्र बनी हुर्इ है। दरअसल, पुलिस ने चेकिंग के दौरान इस गाड़ी को पकड़ी है। गाड़ी चला रहे ड्राइवर के पास गाड़ी से संबंधित कोई भी डॉक्यूमेंट नहीं था। इसके चलते पुलिस ने मोटर व्हीकल एक्ट 207 के तहत गाड़ी को कब्जे में ले लिया। जांच के दौरान पुलिस को पता चला है कि जिस शख्स ने अब यह गाड़ी खरीदी थी, उसने मामूरा के एक पूर्व प्रधान से फाइनेंस करवाई थी। पकड़ी गई हमर अब तक चार बार दस्तावेजों में बिना ट्रांसफर किए बिक चुकी है।

शामली में पुलिस और बदमाश में मुठभेड़, आठ लाख की बैंक डकैती का आरोपी घायल

गाड़ी फाइनेंस कराकर चालक नहीं लौटा रहा था, हमर
एसएचओ फेज-3 अवनीश दीक्षित ने बताया है कि मामूरा के एक पूर्व प्रधान ने पुलिस को हमर गाड़ी से गढ़ी चौखड़ी रोड पर एक्सिडेंट होने की सूचना दी थी। मौके पर पहुंची पुलिस को एक्सिडेंट जैसी कोई चीज नहीं दिखी। वहां पर पूछताछ के दौरान पता चला कि पूर्व प्रधान ने इस गाड़ी को खरीदने के लिए फाइनेंस किया था, जिसे हमर खरीदने वाला लौटा नहीं रहा था। इसके चलते उन्होंने गाड़ी को रोका था। गाड़ी चला रहे ड्राइवर से जब कागज दिखाने को कहा गया, तो वह कोई भी डॉक्यूमेंट नहीं दिखा सका। पैसों के विवाद होने और गाड़ी के कागज नहीं होने पर हमर सीज कर ली गई।

अखाड़ा परिषद ने नोएडा के इस ढोंगी बाबा को भी किया ब्लैक लिस्ट, इसके कारनामे जानकर आ जाएगा गुस्सा

पंजाब के एनआरआर्इ के नाम पर रजिस्ट्रर्ड है ये हमर
पुलिस जांच के पता चला है कि नवां शहर पंजाब के रहने वाले एनआरआई सुरजीत वर्मा के नाम पर पीबी-32 एच 7171 नंबर की यह हमर है। उनके बाद चार बार यह गाड़ी बिक चुकी है, लेकिन मोटी ट्रांसफर फीस देने से बचने के लिए किसी ने भी इसे अपने नाम पर रजिस्टर नहीं करवाया। एसएचओ ने बताया है कि जिसके पास डॉक्यूमेंट होंगे, वो गाड़ी कोर्ट से रिलीज करवा सकता है। तब तक गाड़ी पुलिस कस्टडी में रहेगी।

नोएडा में इलेक्ट्रिक रिक्शा में करते हैं सफर तो हो जाइए सावधान, यहां ऐसे लग सकता है चूना
थाने आने वाले लोगों के लिए आकर्षण बनी हमर
इन दिनों फेज तीन थाना आने वाले लोग दरवाजे पर खड़ी इस हमर पर जरूर नजर मारते है। पिले रंग की इस हमर के साथ तो कर्इ लोग फोटों ग्राफी कराने में भी लग जा रहे हैं। यही कारण है कि महंगी और विदेशी गाड़ी होने के चलते हर कोर्इ इसे देखा बिन रह नहीं पाता।

Iftekhar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned