परिसंपत्ति सेवाओं के लिए अब ऑनलाइन करना होगा आवेदन, प्राधिकरण में प्रवेश पर एक जून से पूर्ण प्रतिबंध

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए नोएडा प्राधिकरण ने 1 जून से संपत्ति संबंधी सभी काम ऑनलाइन करने का फैसला किया है।

By: Neeraj Patel

Updated: 29 May 2020, 06:58 PM IST

नोएडा. कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए नोएडा प्राधिकरण ने मानवीय बातचीत को हतोत्साहित करने और 1 जून से संपत्ति संबंधी सभी काम ऑनलाइन करने का फैसला किया है। अब सभी परिसंपत्ति सेवाओं के आवेदन सिर्फ ऑनलाइन माध्यम से ही लिए जाएंगे। जो आवंटी आवेदन करना चाहते हैं वह इस वेबसाइट pis.mynoida.in पर जाकर आवेदन कर सकते है। आवेदन से संबंधित विभाग से जारी होने वाले पत्र ऑनलाइन अपलोड किए जाएंगे जो कि आवंटी को लागइन में स्वत ही दिख जाएंगे। इसके लिए कार्यालय आदेश जारी कर दिए गए है। यह कदम स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा सरकारी निकायों और अन्य संस्थाओं को कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए कार्यस्थलों पर सामाजिक गड़बड़ी का पालन करने के लिए निर्देशित करने के बाद आता है।

नोएडा प्राधिकरण की सभी संपत्ति सेवाएं 1 जून से पूरी तरह से ऑनलाइन होने के बाद किसी को भी संपत्ति से संबंधित किसी भी कार्य के लिए कार्यालय जाने की अनुमति नहीं होगी या न ही दी जाएगी। प्राधिकरण कार्यालय के गेट पर सहायता डेस्क को काम से संबंधित दस्तावेजों को अपलोड करने की सुविधा होगी। यह काम न्यूनतम एक सप्ताह और अधिकतम तीन सप्ताह के भीतर किया जाएगा। नोएडा प्राधिकरण की मुख्य कार्यकारी अधिकारी रितु माहेश्वरी ने कहा कि एक बार लॉकडाउन हटा लेने के बाद लोग विशेष ड्यूटी पर अधिकारी से मिल सकते हैं और शिकायत निवारण के लिए पूर्वनिर्धारित सार्वजनिक बैठकों में भाग ले सकते हैं।

मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने इसके बाद आवंटन, पट्टा प्रलेख, भवन मानचित्र स्वीकृत , बंधक अनुमति, हस्तांतरण, क्रियाशील , सीआईसी, चेंज ऑफ यूज, नोड्यूस सर्टिफिकेट, केल्कुलेशन ऑफ नोड्यूस, डूप्लीकेट पेपर के लिए आवंटियों का प्राधिकरण कार्यालय आने पर प्रवेश पर प्रतिबंध रहेगा। महज नए आवंटन के प्रकरणों में पट्टा प्रलेख निष्पादित करने के समय ही कार्यलय में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। इसके अलावा किसी भी सेवा के लिए कार्यालय में प्रवेश पूर्णता प्रतिबंधित रहेगा। यही नहीं परिसंपत्ति विभाग के किसी भी अधिकारी द्वारा जन सामान्य को उपरोक्त सेवा के लिए बुलाने पर भी प्रतिबंध रहेगा।

लोगों की सुविधा के लिए बनेगी हेल्प डेस्क

जो आवेदक स्वयं ऑनलाइन आवेदन करने में सक्षम नहीं है। उन आवेदकों के लिए 15 सीटर हेल्पडेस्क सेक्टर- ०6 कार्यालय समीप इंदिरा गांधी कलाकेंद्र के प्रथम तल पर बनाई जाएगी। जिसमें आवेदकों द्वारा अपने प्रपत्र जमा करने के उपरान्त हेल्प डेस्क पर कार्यरत कर्मचारी द्वारा उसे स्कैन कर अपने लॉगइन से सेवा के लिए आवेदन करेगा। प्रथम तल पर जाने से पहले आवेदकों को रजिस्ट्रेशन कराना होगा इसके बाद उन्हें टोकन दिया जाएगा। हेल्प डेस्क में 12 आपरेटर श्रेणी के कर्मियों की नियुक्ति स्कैनिंग के लिए, एक ऑपरेटर रजिस्ट्रेशन काउंटर के लिए दो सुपरवाइजर श्रेणी के कर्मी सभी आपरेटर द्वारा किए जा रहे कार्यो की निगरानी करेंगे।

लॉकडाउन के बाद समय पर जारी होंगे निर्धारित पास

कोविड लाकडाउन पूर्णता खुलने के बाद स्वागत कक्ष में नियुक्त आपरेटर के द्वारा मात्र मुख्य कार्यपालक अधिकारी, अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी, महा प्रबंधक, मुख्य वास्तुविद नियोजक, सहायक प्रबंधक (सिस्टम) से निर्धारित समय 1० से दोपहर एक बजे के मध्य ही पास बनाए जाएंगे। इसके अलावा किसी अन्य के लिए पास बनाने पर संबंधित आपरेटर पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही बता दें कि आवंटी को किसी भी प्रकार की समस्या होने वे अपनी शिकायत नोएडाफॉर सिटीजनसडॉटकॉम पर दर्ज करा सकते है। नोडल प्राभरी अधिकारी, शिकायत सेल का दायित्व होगा कि वह उपरोक्त शिकायतों का समय से निस्तारण करेंगे।

Corona virus Corona Virus Precautions
Show More
Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned