बिना इंटरनेट यूज किए 95 करोड़ लोग बनेंगे कैशलेस, जनिए कैसे

बिना इंटरनेट यूज किए 95 करोड़ लोग बनेंगे कैशलेस, जनिए कैसे
Dharamshala vegetable market becomes first cashless market in Himachal

sandeep tomar | Publish: Dec, 29 2016 06:26:00 PM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

देश में 95 करोड़ लोग अब बिना इंटरनेट इस्तेमाल किए ही कैशलेस बन जाएंगे

नोएडा: हाल ही में एसोचैम की रिपोर्ट में खुलासा हुआ था कि देश के 95 करोड़ लोग यानि देश की 72 फीसदी आबादी इंटरनेट का इस्तेमाल नहीं करती है। ऐसे में देश को कैशलेस और डिजिटल बनाने में काफी मुश्किलें खड़ी हो सकती हैं। लेकिन अब इन लोगों की जिंदगी को आसान बनाने और उन्हें कैशलेस करने के लिए नया तरीका सामने आ गया है। आप लोग विदाउट इंटरनेट भी कैशलेस पेमेंट कर सकते हैं। इसके लिए भी पेटीएम के पास विकल्प मौजूद जिसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है। आइये आपको भी बताते हैं कि बिना इंटरनेट कस तरह से कैशलेस पेेमेंट का अपनी जिदंगी को आसाना बनया जा सकता है।

सिर्फ एक बार बनाना होगा अकाउंट

इस सेवा का लाभ उठाने से पहले आपको एक बार लैपटॉप, पीसी, स्मार्टफोन की जरूरत होगी। ताकि आप अपना पेटीएम अकाउंट बना सके। अपने फोन नंबर को अकाउंट से लिंक कर सकें। साथ ही अपने वॉलेट में पैसे डाल सकें। बस आपको इतने वक्त के लिए ही इंटरनेट-पीसी-स्मार्टफोन की जरूरत होगी। एक बार आपने वॉलेट में रुपये आने के बाद रोजमर्रा की खरीदारी में पेमेंट के लिए स्मार्टफोन या इंटरनेट की जरूरत नहीं पड़ेगी। आपका साधारण फोन भी इसके लिए काम करेगा।

कैसे कर सकते हैं इस्तेमाल

पेटीएम के इंटरनेट फ्री पेमेंट सिस्टम का इस्तेमाल करने के लिए यूजर को कंपनी द्वारा जारी टोल फ्री नंबर "1800 1800 1234" पर अपने रजिस्टर्ड फोन से कॉल करना होगा। इसके बाद आप अपना पिन सेट करेंगे। इसके लिए आपको वॉयस मैसेज में सुनाई देगा कि कंपनी आपको पिन सेट करने के लिए कॉल बैक करेगी. इसके बाद जब भी आपको किसी को पेमेंट करना हो, इस नंबर पर फोन करना होगा, दुकानदार का फोन नंबर डालना होगा और फिर अंत में इसे सुनिश्चित करने के लिए पिन नंबर डाल देना होगा।

दे रहे हैं जानकारी

कंपनी के वाइस प्रेसीडेंट सुधांशु गुप्ता ने बताया कि हमारी ओर से टीम तैयार की गई है। इसके लिए खासकर ग्रामीण जगहों पर लोगों को इस तरह की सुविधा की जानकारी दी जा रही है। उन्होंने बताया अब ग्रामीण इलाकों में भी स्मार्टफोन मौजूद हैं। लेकिन इंटरनेट की सुविधा और स्पीड की सुविधा बहुत कम है। ऐसे में ये फीचर काफी कारगर साबित हो सकता है। हमारी ओर से पूरी कोशिश की जा रही है कि देश के ग्रामीण इलाकों को भी पूरी तरह से कैशलेस किया जा सके।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned