इस भाजपा नेता के बेटे को मिला टिकट तो बिगड़ जाएगा विरोधियों का गणित

इस भाजपा नेता के बेटे को मिला टिकट तो बिगड़ जाएगा विरोधियों का गणित
BJP

भाजपा के इस दिग्गज नेता के बेटे को गाजियाबाद सीट से मिल सकता है टिकट 

गाजियाबाद। राजनीतिक दलों ने 2017 विधानसभा चुनाव में अपनी जीत के लिए चक्रव्यूह रचना शुरू कर दिया है। चक्रव्यूह के तहत प्रदेश की सभी विधानसभा सीटों पर धुरंधर प्रत्याशियों को उतारने के लिए बड़े नेता मंथन कर रहे हैं। गाजियाबाद की पांचों विधानसभा सीट मुरादनगर, मोदीनगर, लोनी, साहिबाबाद और शहर सीट पर कौन प्रत्याशी होगा। इसको लेकर भी सभी राजनीतिक दलों में विचार किया जा रहा है।

भारतीय जनता पार्टी की, भाजपा में इस बार चुनाव लड़ने के लिए आधा दर्जन से अधिक नेता भूमिका तैयार कर रहे हैं। जो नेता चुनाव लड़ने की इच्छा मन में पाले बैठे हैं। वे अपनी दावेदारी और मजबूत करने के लिए अपनी विधानसभा क्षेत्र में जनसमस्याओं को लेकर संघर्षरत हैं। स्थानीय नेताओं के साथ इस सीट पर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बेटे नीरज सिंह की भी चुनाव लड़ने की प्रबल संभावना जताई जा रही है। लगातार उनकी क्षेत्र में बढ़ती सक्रियता से इसकी संभावना बढ़ती जा रही है। यह देख भाजपा के अन्य प्रत्य़ाशियों के साथ ही अन्य पार्टी के उम्मीदवारों की धंडकने तेज हो गई हैं।

बीजेपी में साहिबाबाद सीट से ये नेता कर रहे हैं दावेदारी

साहिबाबाद सीट से भाजपा नेता संजीव शर्मा, सुनील शर्मा टिकट के लिए अपनी दावेदारी कर रहे हैं। सुनील शर्मा सीट जीतकर विधानसभा पहुंच चुके हैं। इस बार वो चाहते हैं कि दोबारा से इतिहास को दोहराया जाए। वहीं मानसिंह गोस्वामी भी साहिबाबाद सीट पर प्रबल संभावित उम्मीदवार माने जा रहे हैं। मानसिंह गोस्वामी अपने क्षेत्र में सक्रिय हैं और पार्टी के प्रत्येक कार्यक्रम में भारी भीड़ उन्हीं के दम पर आती है।

विरोधियों के बिगड़ सकते हैं समीकरण

वरिष्ठ नेता नीरज सिंह चुनाव मैदान में उतरते हैं तो इस सीट पर अन्य दलों द्वारा जो समीकरण तैयार किये गये हैं। वो ध्वस्त हो सकते हैं। इसके अलावा अन्य पार्टी के प्रत्याशियों को दोबारा से अपनी रणनीति तैयार करनी होगी। उधर, पार्टी के बड़े नेता भी नीरज को टक्कर देने के किसी अन्य दमदार उम्मीदवार को टिकट दिलवा सकते हैं।

दावेदारी हुई तो मिल सकती है जीत

नीरज सिंह की बात की जाएं तो वह निरंतर गाजियाबाद में अपनी सक्रियता बनाये हुए हैं। पिता राजनाथ सिंह द्वारा संसदीय क्षेत्र बदले जाने के बाद भी नीरज सिंह का जुड़ाव गाजियाबाद और यहां के भाजपाईयों से बना हुआ है। उधर, उन्हें अपने पिता का भी पूरा फायदा मिलेगा। पार्टी नीरज सिंह को प्रत्याशी के रूप में साहिबाबाद विधानसभा सीट से उतारती है, तो निश्चित रूप से इस सीट पर अन्य दलों के प्रत्याशियों के लिए कड़ा संघर्ष रहेगा।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned