ओवैसी ने उतारे अपने दावेदार, सपा और बसपा के लिए बन सकते हैं सिरदर्द

ओवैसी ने उतारे अपने दावेदार, सपा और बसपा के लिए बन सकते हैं सिरदर्द
owaisi,

sandeep tomar | Publish: Dec, 29 2016 06:51:00 PM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

ओवैसी के प्रत्याशी मुस्लिम सीटों पर दिग्गजों का ​गणित बिगाड़ सकते हैं

नोएडा: असदुद्दीन ओवैसी ने अपनी ऑल इंडिया मज्लिस-ए-इतेहदुल मुसलिमीन (एआईएमएमआईएम) की ओर से यूपी के चुनावों में लड़ने के लिए अपने प्रत्याशियों की पहली सूची जारी कर दी है। वेस्ट यूपी की बात करें तो चार सीटों पर ओवैसी की पार्टी के प्रत्याशियों के नाम सामने आ चुके हैं। ऐसे में ये प्रत्याशी सपा और बसपा के सिरदर्द को बढ़ा सकते हैं। क्योंकि अधिकतर सीटों पर मुस्लिम दावेदारों को उतारा गया है। ऐसे में सपा और बसपा के मुस्लिम वोटर्स में सेंध लगाने में कामयाब हो सकेंगे।

वेस्ट की इन चार सीटों पर हुआ चयन

अगर बात वेस्ट यूपी की करें तो चार विधानसभा सीटों पर प्रत्याशियों की घोषणा की गई है। धामपुर विधानसभा सीट शोएब खान को उतारा गया है। वहीं, अमरोहा विधानसभा सीट से शमीम तुर्क को टिकट दिया गया है। मुरादाबाद जिले की कुंदारकी सीट से इसरार मलिक को टिकट दिया गया है। वहीं मुजफ्फरनगर जिले की मीरापुर सीट से नौशाद राणा को टिकट दिया गया है। जानकारों की मानें तो जल्द बाकी सीटों पर भी प्रत्याशियों की घोषणा हो सकती है।

सपा और बसपा को पहुंचा सकते हैं नुकसान

वेस्ट यूपी की जिन चार सीटों पर ओवैसी ने अपने प्रत्याशियों को खड़ा किया है वो सभी मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र हैं। इन सभी सीटों पर एआईएमआईएम ने मुस्लिम उम्मीदवारों को उतारा गया है। ताज्जुब की बात तो ये है कि सपा की ओर से भी इन चारों सीटों पर मुस्लिम कैंडीडेट हैं। वहीं बसपा भी यहां से मुस्लिम उम्मीदवारों को उतारगी। ऐसे में ओवैसी के प्रत्याशी बसपा और सपा के वोट बैंक में सेंध लगाने की कोशिश करेंगे। जिसमें वो सफल भी हो सकते हैं। जानकारों की मानें तो सपा और बसपा को ओवैसी के कैंडीडेट से बचकर रहना होगा।

लगातार बढ़ रही है लोकप्रियता

वेस्ट यूपी में असदुद्दीन ओवैसी और उनकी पार्टी ऑल इंडिया मज्लिस-ए-इतेहदुल मुसलिमीन (एआईएमएमआईएम) की लोकप्रियता लगातार बढ़ रही है। खासकर मुस्लिम इलाकों में असदुद्दीन ओवैसी को सुनने के लगातार भीड़ बढ़ रही है। ऐसे में चुनावों में सपा और बसपा का बड़ा सिरदर्द बन सकते हैं। मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, मेरठ, शामली आदि जिलों में ओवैसी और उनकी पार्टी लगातार पकड़ भी बना रही है।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned