एक बांस बनाता है 70 टन ऑक्सीजन, पीपल और नीम के इन गुणों को भी नहीं जानते होंगे आप

कोरोना काल में बढ़ गई है पेड़ पौधों की मांग। घरों में ऑक्सीजन देने वाले पौधे लगाएं। अब पेड़-पौधों की जरूरत समझ रहे हैं लोग।

By: Rahul Chauhan

Published: 11 May 2021, 11:47 AM IST

नोएडा। कोरोना संक्रमण (coronavirus) की दूसरी लहर में लोग ऑक्सीजन (oxygen) की किल्लत से जूझ रहे हैं। ऐसे में लोगों का रुझान तेजी से ऑक्सीजन देेने वाले पेड़ पौधे (oxygen plants) की तरफ बढ़ा है। यही कारण है कि गौतमबुद्ध नगर की अधिकांश नर्सरी का स्टॉक खत्म हो चुका है। आज के समय में बाजार में तमाम तरह के ऐसे इंडोर पौधे मौजूद हैं जो भरपूर मा्ता ऑक्सीजन तो देते ही हैं। साथ ही घर की खूबसूरती भी बढ़ाते हैं। आज हम आपको ऐसे पेड़ पौधे के बारे में बताने जा रहे हैं जो बड़ी मात्रा में ऑक्सीजन देते हैं। इसके अलावा उनके गुणों के बारे में शायद आपको जानकारी नहीं होगी।

यह भी पढ़ेंं: कोरोना की दूसरी लहर में बढ़ी ऑक्सीजन देने वाले पेड़-पौधों की मांग, आसमान में पहुंचे दाम

दरअसल, बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर केंद्रीय विवि के प्रोफेसर वेंकटेश दत्ता बताते हैं कि मनुष्य के जीने के लिए पेड़ पौधे जरूरी हैं। ये ऑक्सीजन देते हैं और वातावरण में मौजूद कार्बन डाइऑक्सीइन का सेवन करते हैं। कई पेड़ ऐसे हैं जो बड़ी मात्रा में ऑक्सीजन देता है। इसके अलावा इनमें औषधीय गुण भी हैं। ऐसे पेड़ भी हैं जो रात में भी ऑक्सीजन का उत्सर्जन करते हैं। दरअसल, बरगद और नीम बड़ी मात्रा में ऑक्सीजन देते हैं। साथ ही वातावरण तो तेजी से प्रदूषण मुक्त करने का काम करते हैं। पीपल का पेड़ न केवल रात में ऑक्सीजन देता है बल्कि अस्थमा, कब्ज, मधुमेह, और रक्त संबंधी विभिन्न समस्याओं जैसे रोगों का भी इलाज इसके जरिए किया जाता है। वहीं अर्जुन का पेड़ ऐसा है जो एंटीऑक्सिडेंट, रोगाणुओं से लड़ने में मदद मिलती है।

70 टन ऑक्सीजन बनाता है एक बांस

विवि के सहायक प्रोफेसर डॉ नरेंद्र कुमार बताते हैं कि बांस वैसे तो मूल रूप से एक घास का पौधा है, लेकिन बांस एक पौधा है एक वर्ष में 70 टन से ज्यादा ऑक्सीजन का उत्पादन कर सकता है। इतना ही नहीं, ये प्रति वर्ष प्रति 80 टन कार्बन डाइऑक्साइड को अवशोषित कर सकता है। बांस 120 वर्ष तक जीवित रहता है। बांस के एक समूह में पेड़ों के अन्य समूहों की तुलना में 35 फीसद ज्यादा ऑक्सीजन छोड़ने की क्षमता होती है।

यह भी पढ़ें: कोरोना काल में CBSE की अनोखी पहल, इस App के जरिए छात्रों का तनाव होगा दूर

इन पौधों को भी घर में लगा सकते हैं

उद्यान विशेषज्ञ बाली शरण चौधरी जानकारी देते हुए बताते हैं कि आज के समय में घरों में अधिक जगह नहीं होने के कारण लोग पेड़ पौधे नहीं लगा पाते। लेकिन ऐसे लोग स्नेक का पौधा है लगा सकते हैं। यह वातावरण को शुद्ध बनाने का काम करता है। इसके अलावा घरों में मनी प्लांट, पीस लिली, एलोवेरा, एरीका पाम, जरबेरा, रामा तुलसी व ऑरचिड आदि लगाए जा सकते हैं। ये सभी पेड़ बड़ी मात्रा में ऑक्सीजन देते हैं और वातावरण को साफ करते हैं।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned