ठेली लगाने के बहाने वाहन चुराने वाले गैंग का पर्दाफ़ाश, तीन गिरफ्तार, तीन फरार

Highlights:

-घर और कंपनियों के बाहर से चोरी करते थे वाहन

-चोरी की आठ बाइक बरामद

-पुलिस ने तीन चोरों को जेल भेजा, तीन की तलाश जारी

By: Rahul Chauhan

Published: 21 Jan 2021, 10:54 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

नोएडा। कोतवाली फेस-3 पुलिस ने वाहन चोरों के एक ऐसे गैंग का पर्दाफाश किया है, जो दिन में ठेली लगाकर सामान बेचने के बहाने रेकी करते थे और रात में घर व कंपनियों के बाहर खड़ी गाड़ियों को चुराकर गायब हो जाते थे। पुलिस ने वाहन चोरों के गैंग के तीन बदमाशों को गिरफ्तार किया है। जबकि गिरोह के तीन सदस्य अभी फरार बताए जा रहे हैं। उनकी पुलिस तलाश कर रही है। पुलिस ने गिरफ्तार बदमाशों के पास से आठ बाइक, दो चाकू और एक तमंचा बरामद किया है। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

यह भी पढ़ें: मासूम से दुष्कर्म के बाद हत्या मामले में मुंह बोले चाचा को महज 29 दिन में फांसी की सजा

दरअसल, कोतवाली फेस-3 पुलिस ने चोरी की बाइक के साथ अमरोहा निवासी औरंगजेब, संभल निवासी अतेन्द्र और विद्याराम को गिरफ्तार किया है। जो शातिर किस्म के वाहन चोर हैं और नोएडा सहित एनसीआर में चोरी की घटनाओं को अंजाम देते थे। एडीसीपी सेंट्रल अंकुर अग्रवाल ने बताया कि मुखबिर से मिली सूचना पर ग्लोबल अस्पताल के सामने एफएनडी रोड गढ़्ढ़ा चौराहा के पास से इन तीन वाहन चोरों को कोतवाली फेस-3 पुलिस ने पकड़ा है। इनके कब्जे से दो चाकू, एक तमंचा और कारतूस बरामद किया गया। बदमाशों से पूछताछ के बाद उनकी निशानदेही पर चोरी की आठ बाइक बरामद की गई है।

यह भी देखें: वेब सीरीज तांडव के विरोध में पुतला दहन

एडीसीपी ने बताया कि पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि गिरोह के सभी सदस्य दिन में शहर के विभिन्न इलाकों में ठेला लगाते हैं। इस दौरान रेकी करके यह तय किया जाता था कि किस वाहन को चोरी करना है। फिर रात में चोरी की वारदात को अंजाम देते थे। अपने साथ हथियार इसलिए रखते थे कि विरोध करने पर डराया धमकाया जा सके। पूछताछ में गिरोह के तीन अन्य सदस्यों का पता चला है। फरार तीनों की पहचान अमरोहा निवासी राहुल उर्फ भूरा, संभल निवासी धर्मवीर और खेसारी के रूप में हुई है। इनकी तलाश की जा रही है।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned