नाइजीरियन गिरोह के लिए ठगी करने वाले 5 साइबर ठग गिरफ्तार, 26 डेबिट कार्ड, 11 बैंक पास बुक, नगदी बरामद

Highlights

-इस गिरोह ने सैकड़ों लोगों को करोड़ों का चूना लगाया है

-पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है

By: Rahul Chauhan

Published: 13 Nov 2020, 08:46 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

नोएडा। सेंट्रल ज़ोन 2 स्थित इकोटेक-3 कोतवाली पुलिस ने आनलाइन लाटरी निकलने का झांसा देकर ठगी करने वाले नाइजीरियन ठग गिरोह पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इस गिरोह ने सैकड़ों लोगों को करोड़ों का चूना लगाया है। पुलिस ने आरोपितों के पास से 26 डेबिट कार्ड, 11 बैंक पासबुक, सात चेक बुक, एक पासपोर्ट, एक डायरी, 36 हजार रुपये, एक मोटरसाइकिल बरामद की है। पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

पुलिस की गिरफ्त में खड़े अंसार, गौतम, इरफान, मोहसिन और अफजल आनलाइन लाटरी निकलने का झांसा देकर ठगी करने वाले नाइजीरियन ठग गिरोह के सदस्य है । ये लोग अतंरराष्ट्रीय आनलाइन लाटरी निकलने का झांसा देकर ठगी का खेल पिछले लंबे समय से खेल रहे थे। लगातार आ रही शिकायतों पर पुलिस ने मामले जांच शुरू की और मिले इनपुट पर ग्रेटर नोएडा के खेड़ा चौगानपुर गोल चक्कर के पास से ठगी करने वाले पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया।

नोएडा सेंट्रल ज़ोन 2 के डीसीपी हरीशचंद्र ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों ने पूछताछ में नाइजीरियन गिरोह के होने की बात स्वीकार की और बताया कि उनके गैंग का सरगना सैम नाम का नाइजीरियन है। सभी आरोपित फरार साथी उमर अंसारी के साथ सरगना के संपर्क में रहते थे। आरोपित भोले-भाले लोगों को लाखों रुपये की लाटरी निकलने का झांसा देते थे। झांसे में फंसे लोगों से लाटरी की रकम स्थानंतरित करने की प्रक्रिया के नाम पर धन की मांग होती थी। धन बैंक अकाउंट में जमा कराया जाता था। धन आने के बाद आरोपित अपना मोबाइल फोन बंद कर लेते थे। इसके बाद पीड़ित को ठगी की जानकारी होती थी। जांच के दौरान पुलिस को पता चला है कि आरोपितों ने ठगी से अच्छी-खासी रकम कमा ली है। उमर अंसारी के खिलाफ बरेली में भी आनलाइन ठगी का मामला दर्ज है। इसके बाद से आरोपित फरार चल रहा है।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned