scriptpollution control board withdraws order to close schools in 7 district | Air Pollution : यूपी के सात जिलों में स्कूल-कॉलेज बंद करने के आदेश के बाद प्रशासन का यू टर्न | Patrika News

Air Pollution : यूपी के सात जिलों में स्कूल-कॉलेज बंद करने के आदेश के बाद प्रशासन का यू टर्न

Air Pollution : उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद समेत वेस्ट यूपी के सात जिलों में 21 नवंबर तक सभी स्कूल कॉलेजों को बंद करने का आदेश दे दिया, लेकिन करीब डेढ़ घंटे बाद ही प्रदूषण विभाग ने इस आदेश को वापस भी ले लिया गया। साथ ही बताया गया कि त्रुटिवश स्कूल-कॉलेज बंद करने का पत्र जारी जारी हो गया था।

नोएडा

Published: November 18, 2021 09:56:43 am

नोएडा. वेस्ट यूपी के जिलों में वायु प्रदूषण लगातार गंभीर स्तर पर चल रहा है। इसे देखते हुए बुधवार देर रात उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद समेत वेस्ट यूपी के सात जिलों में 21 नवंबर तक सभी स्कूल कॉलेजों को बंद करने का आदेश दे दिया, लेकिन करीब डेढ़ घंटे बाद ही प्रदूषण विभाग ने इस आदेश को वापस भी ले लिया गया। साथ ही बताया गया कि त्रुटिवश स्कूल-कॉलेज बंद करने का पत्र जारी जारी हो गया था। इस तरह शिक्षण संस्थाओं की छुट्टी का आदेश को निरस्त कर दिया गया।
pollution-control-board-withdraws-order-to-close-schools-in-7-district.jpg
उल्लेखनीय है कि दिल्ली के साथ पूरे एनसीआर के जिलों में वायु प्रदूषण कम होने का नाम नहीं ले रहा है। इसी वजह से दिल्ली सरकार ने स्कूल बंद कर दिए हैं। कयास लगाए जा रहे थे कि यूपी सरकार भी वेस्ट यूपी में बढ़ते प्रदूषण के कारण स्कूल बंद कर सकती है। इसी बीच बुधवार देर रात आनन-फानन में गौतमबुद्ध नगर समेत गाजियाबाद, बुलंदशहर, मेरठ, बागपत, शामली और मुजफ्फरनगर जिले में स्कूल-कॉलेजों को 21 नवंबर तक के लिए बंद करने के आदेश जारी कर दिए गए, लेकिन करीब डेढ़ घंटे बाद ही जारी आदेशों को वापस ले लिया गया।
यह भी पढ़ें- 18 व 19 को बारिश के बाद शुरू होगा शीतलहर का प्रकोप, जानें मौसम की ताजा भविष्यवाणी

नोएडा में उठाए जा रहे सख्त कदम

बढ़ते वायु प्रदूषण को लेकर प्रशासन स्तर पर कड़े कदम उठाए जा रहे हैं। नोएडा और ग्रेटर नोएडा में निर्माण कार्यों पर लगी रोक जारी रहेगी। इसके साथ ही जिलेभर में डीजल जेनरेटर चलाने पर भी प्रतिबंध रहेगा। हालांकि इमरजेंसी सेवाओं के लिए इसमें छूट दी गई है। इसके साथ ही अब नोएडा में सरकारी के साथ निजी कार्यालयों में 50 प्रतिशत स्टाफ को ही बुलाने की अनुमति होगी।
कम होने का नाम नहीं ले रहा प्रदूषण

बता दें कि दिवाली के बाद से वायु गुणवत्ता सूचकांक खतरनाक स्तर पर बना हुआ है। लोगों को आंखों में जलन के साथ सांस लेने में भी परेशानी महसूस हो रही है। सुुबह के समय लोगों ने मॉर्निंग वाॅक पर जाना बंद कर दिया है। वहीं, सीपीसीबी ने भी बहुत जरूरी होने पर ही घर से निकलने की अपील की है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले मुलायम कुनबे में सेंध, अपर्णा यादव ने ज्वाइन की बीजेपीकेशव मौर्य की चुनौती स्वीकार, अखिलेश पहली बार लड़ेंगे विधानसभा चुनाव, आजमगढ के गोपालपुर से ठोकेंगे तालकोरोना के नए मामलों में भारी उछाल, 24 घंटे में 2.82 लाख से ज्यादा केस, 441 ने तोड़ा दम5G से विमानों को खतरा? Air India ने अमरीका जाने वाली कई उड़ानें रद्द कीPM मोदी की मौजूदगी में BJP केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक आज, फाइनल किए जाएंगे UP, उत्तराखंड, गोवा और पंजाब के उम्मीदवारों के नामकोरोना का कहर : सुप्रीम कोर्ट के 10 जज कोविड पॉजिटिव, महाराष्ट्र में 499 पुलिसकर्मी भी संक्रमितUP Assembly Election 2022: योगी इफेक्ट को रोकने के लिए पूर्वांचल की इस सीट से चुनाव लड़ेंगे अखिलेश?बिपिन रावत के भाई कर्नल विजय रावत बीजेपी में होंगे शामिल, उत्तराखंड से लड़ सकते हैं चुनाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.