Weather Alert: इन शहरों में सर्दी के साथ बढ़ेगा Pollution का प्रकोप, Smog से सांस लेना होगा मुश्किल

Highlights:

-नोएडा व गाजियाबाद प्रशासन ने Pollution की रोकथाम के लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया है

-गत दिनों में शहरों की हवा जहरीली हो गई थी

-Pollution Level पर खतरनाक स्तर पर पहुंच गया था

नोएडा/गाजियाबाद। ईपीसीए (EPCA) द्वारा दिल्ली-एनसीआर में 15 अक्टूबर से ग्रेडेड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान (GRAP) लागू करने के निर्देश दिए थे। जिसके बाद नोएडा व गाजियाबाद प्रशासन ने प्रदूषण (Pollution in Delhi NCR) की रोकथाम के लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। गत दिनों में शहरों की हवा जहरीली हो गई थी और प्रदूषण खतरनाक स्तर (Pollution Level) पर पहुंच गया था। हालांकि, तेज हवाओं के चलने से शनिवार को प्रदूषण का स्तर कम दर्ज किया गया है। वहीं जानकारों का कहना है कि सर्दी के साथ ही इन शहरों में स्मॉग (Smog) का स्तर भी बढ़ेगा। जिससे लोगों को सांस तक लेने में परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

यह भी पढें : Diwali से पहले सोने व चांदी में गिरावट, जानिये आज के भाव

ये रहा शनिवार का एयर क्वालिटी इंडेक्स

नोएडा का एयर क्वालिटी इंडेक्स 167 व ग्रेनो का 216 था। वहीं गाजियाबाद में ये 169 रिकॉर्ड किया गया, जबकि पिछले दिनों एक्यूआई 300 के करीब व उससे अधिक तक पहुंच गया था। जानकारों की मानें तो हरियाणा में किसानों द्वारा जलाई जा रही पराली से प्रदूषण बढ़ा है। दिवाली के बाद प्रदूषण के स्तर में तेजी से बढ़ोतरी हो सकती है।

यह भी पढ़ें: सुबह होते ही कोहरा देखते लोगों को हुआ ठण्ड का एहसास, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

प्रदूषण करने वालों पर हो रही कार्रवाई

अधिकारियों का दावा है कि प्रदूषण की रोकथाम के लिए लगातार कार्य किया जा रहा है। इस कड़ी में प्रदूषण करने वालों पर कार्रवाई कर जुर्माना भी लगाया जा रहा है। 15 अक्टूबर से शनिवार तक नोएडा में करीब 20 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है। वहीं ग्रेटर नोएडा में यह रकम 14 लाख रुपये से ज्यादा की रही।

सर्दी के साथ बढ़ेगा प्रदूषण

गाजियाबाद के रहने वाले पर्यावरणविद् ज्ञानेंद्र की मानें तो जैसे-जैसे सर्दी का असर तेज होगा, वैसे ही प्रदूषण का स्तर खतरनाक होता चला जाएगा। इसके साथ ही स्मॉग का प्रकोप भी बढ़ेगा। कारण, हवा में अभी नमी थोड़ी कम है। नमी होने के चलते स्मॉग बनता है और लोगों को सांस लेने में परेशानी होती है। जरूरत है कि प्रशासन ग्रैप सही तरीके से लागू कराए।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned