रामगोपाल ने किया अखिलेश-मुलायम के समझौते पर बड़ा खुलासा

रामगोपाल यादव ने सपा विवाद में बड़ा बयान जारी किया है

By: sandeep tomar

Published: 03 Jan 2017, 06:13 PM IST

नई दिल्ली/ नोएडा. मुलायम सिंह और अखिलेश यादव में सुलह होने की खबर पूरी तरह निराधार साबित हुई है. सपा नेता रामगोपाल यादव ने मंगलवार शाम को मीडिया के सामने इसे महज अटकलबाजी बताते हुए कहा कि मुलायम सिंह के साथ अब उनका कोई समझौता नहीं होने जा रहा है.

चुनाव आयोग करेगा फैसला

सपा नेता ने कहा कि मुलायम सिंह के साथ उनकी तरफ से समझौते की कोई कोशिश नहीं की जा रही है. उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव ही उनके राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं और वे उन्हीं के नाम पर और उन्हीं के नेतृत्व में चुनाव लड़ेंगे. सपा के चुनाव चिन्ह के सीज होने की डर से दोनों पक्षों के किसी सुलह पर पहुंचने की कोशिश के बारे में पूछे जाने पर सपा नेता ने कहा कि इस बात पर अंतिम फैसला चुनाव आयोग करेगा. और कोई अन्य चुनाव चिन्ह मिलने की स्थिति में भी वे चुनाव लड़ेंगे.

तीन घंटे चली मीटिंग

दरअसल मंगलवार सुबह मुलायम सिंह के दिल्ली से लखनऊ पहुंचने के बाद दोपहर एक बजे के करीब अखिलेश यादव मुलायम सिंह के घर पहुंचे. दोनों नेताओं के बीच लगभग तीन घंटे तक बातचीत चली. इस बीच पार्टी के कुछ अन्य नेता भी उपस्थित थे.

बिखर जाएंगे वोट

लम्बी मुलाक़ात होने के बीच इस बात की अटकलें लगाई जाने लगीं कि पिता मुलायम सिंह और अखिलेश यादव किसी समझौते पर पहुंच सकते हैं. इसके पीछे दो अहम वजहें बताई जा रही थी. एक तो ये कि दोनों नेताओं के बीच टकराव होने से मुस्लिम वोट बिखर जाएगा और इसका सीधा फायदा बसपा को मिल जायेगा. इस बात को आज़म खान पहले भी करते रहे थे, इसलिए इस बात को सही माना जा रहा था. वहीं सुलह के पीछे इस बात की भी आशंका जाहिर की जा रही थी कि चूंकि चुनाव आयोग सपा के चुनाव चिन्ह साइकिल को जब्त कर सकता है और इससे दोनों का ही नुकसान होगा, इसलिए दोनों पक्षों ने समझौता कर लिया.
Show More
sandeep tomar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned