अब बागी नेता करेंगे मुलायम सिंह के वोट बैंक पर सर्जिकल स्ट्राइक

अब बागी नेता करेंगे मुलायम सिंह के वोट बैंक पर सर्जिकल स्ट्राइक
mulayam singh yadav

sandeep tomar | Publish: Dec, 30 2016 05:59:00 PM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

अखिलेश खेमे के प्रत्याशियों को चुनाव की तैैयारी की हरी झंडी मिलने के बाद उन्होंने अपने एजेंडे को क्लीयर कर दिया है

नोएडा: अखिलेश खेमे के प्रत्याशियों को चुनाव की तैैयारी की हरी झंडी मिलने के बाद उन्होंने अपने एजेंडे को क्लीयर कर दिया है। अखिलेश के प्रत्याशियों ने अपने समर्थकों को साफ कर दिया है कि अब मुलायम और शिवपाल के समर्थकों और वोट बैंक में सर्जिकल स्ट्राइक शुरू कर दें। ताकि आगामी चुनाव में उन्हें वोट के लिए ज्यादा मशक्कत ना करनी पड़े। इसके लिए सभी विधानसभा के प्रत्याशियों ने अपने-अपने विधानसभाओं में टीमों का गठन कर लिया है। ताकि वो उन तमाम जगहों पर जाकर लोगों को अखिलेश के नाम पर वोट मांग सके, जहां मुलायम सिंह और शिवपाल का वोट बैंक है। खासकर वेस्ट यूपी में मुस्लिम वोट बैंक को अपनी ओर शामिल करने के लिए प्लान बनाया गया है। आपको बता दें कि वेस्ट यूपी में ऐसे कई शहर हैं जहां पर कुल आबादी से 50 से अधिक संख्या उनकी है। अगर ये वोट बैंक उनकी ओर आ जाता है तो उनकी जीत के आगे कोई नहीं आ पाएगा।

अब मुलायम का वोट बैंक अखिलेश का होगा?

समाजवादी पार्टी की फूट के बाद सबसे बड़ा सवाल ये पैदा हो गया है कि मुलायम सिंह यादव का परंपरागत वोट बैंक किसके पास जाएगा? इस वोट बैंक दावेदार बेटे अखिलेश होंगे। या फिर बड़ा भाई छोटे को अपनी सालों की विरासत देगा? वहीं मुलायम का वोट बैंक भी इस दोराहे पर खड़ा है कि वो किसके पास जाए? उस नेता के पास जो हमें यूपी की राजनीति में मुख्यधारा में लेकर आए। या फिर उसके साथ जो मुख्यधारा से औैर आगे ले जाकर विकास पथ पर लेकर जा रहा है। वेस्ट यूपी में मुलायम के वोट बैंक की बात करें तो मेरठ, मुजफ्फरनगर, बागपत, शामली, बिजनौर, मुरादाबाद, बुलंदशहर, हापुड़, बिजनौर कई ऐसे जिले हैं जिनमें मुस्लिम और यादव वोटों की संख्या काफी ज्यादा है। अब इस सवाल का जवाब तो यूपी चुनाव का नतीजा ही बयां करेगा कि ये वोट बैंक किसके पास गया है।

इस वोट बैंक पर सर्जिकल स्ट्राइक की तैयारी

वहीं दूसरी ओर अखिलेश समर्थित प्रत्याशियों को जब से चुनाव की तैयारी की हरी झंडी मिली है तब से प्रत्याशियों की ओर से खास तरह की तैैयारी शुरू हो गई है। अखिलेश के प्रत्याशियों द्वारा मुलायम और शिवपाल के वोट बैंक पर सर्जिकल स्ट्राइक करने का प्लान बना लिया है। हर विधानसभा में ऐसे लोगों की टीम बनाई जा रही है जो मुलायम और शिवपाल के वोट बैंक में जाकर अखिलेश का गुणगान करने के अलावा अखिलेश के पांच साल के कामों के बारे में बताएगी। ताकि वोट बैंक को कंवर्ट करने की कोशिश की जा सके। ताकि आने वाले चुनावों में उन्हें अखिलेश के समर्थकों के अलावा मुलायम और शिवपाल समर्थकों का भी वोट मिल सके।

युवाओं को दी गई जिम्मेदारी

ये जिम्मेदारी उन युवाओं को दी गई है जिनका परिवार शुरूआत से समाजवादी होने अलावा मुलायम का समर्थन करता रहा है। लेकिन समय के साथ उनके बच्चे अखिलेश की विकासवादी एजेंडे की ओर मुड़ गए। लेकिन उनके बुजुर्ग अभी तक मुलायम का मोह नहीं छोड़ पाए। इसके लिए ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायत करने अलावा चौपालों का भी आयोजन किया जाएगा। इसके अलावा मुस्लिम वोट बैंक को अखिलेश की विकासवादी एजेंडे के बारे में समझाएंगे। इस बारे में जब समाजवादी पार्टी के वेस्ट यूपी के वरिष्ठ नेता गोपाल अग्रवाल से बात की गई तो उन्होंने कहा कि जनता वोट उसी को वोट करेगी जो मजबूत नेता होगा। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि मेरठ की सरधना सीट से अतुल प्रधात मजबूत नेता है वहीं उसी पार्टी के पिंटू राणा भी है। लेकिन पब्लिक उसी को वोट करेगी जो मजबूत होगा। उन्होंने कहा कि पार्टी में जो चल रहा है अगर उसे सकारात्मक रूप में देखे तो काफी अच्छा है। जो लोग लोहिया जी को जानते हैं, उन्हें पता कि विरोध हमेशा अच्छे के लिए ही होता है।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned