सैलरी बढ़ाने और कोरोना काल में सेफ्टी किट को लेकर लेकर सफाईकर्मियों की हड़ताल

नोएडा प्राधिकरण ने प्राइवेट कंपनी को दिया हुआ है ठेका। कर्मचारियों ने जमकर काटा हंगामा। हड़ताल से शहर में लगा कूड़े का ढ़ेर।

By: Rahul Chauhan

Published: 11 May 2021, 05:11 PM IST

नोएडा। डोर टू डोर कूड़े का संग्रहण और उनको उठाने वाली कंपनी के कर्मचारियों ने सैलरी को बढ़ाने और कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए सेफ्टी किट मुहैया कराने की मांग को लेकर हड़ताल की। जिसके कारण शहर और घरों से कूड़े का निस्तारण नहीं हो पाया। यह कर्मचारी सेक्टर 62 में कंपनी के बाहर इकट्ठा हुए और जमकर नारेबाजी की। दरअसल, नोएडा के सेक्टर-62 में स्थित कंपनी के बाहर एजी इन वायरो इंफ्रा प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड के कर्मचारियों ने जमकर हंगामा काटा। इन सफाई कर्मियों की मांग है कि उनका वेतन बढ़ाया जाए और कोरोना से बचने के लिए कंपनी द्वारा सेफ्टी किट दी जाए।

यह भी पढ़ें: कालाबाजारी करने वालों की इस नंबर पर करें शिकायत, पुलिस तुरंत लेगी एक्शन

इन सफाईकर्मी ने बताया कि एक तरफ जहां देश को कोरोना से बचने के लिए डॉक्टर, पुलिस और सफाई कर्मियों जैसे फ्रंटलाइन वर्कर अपनी जान की बाजी लगाकर देश की सेवा में जुटी है। तो वहीं इन लोगों को वेतन और सेफ्टी किट के लिए परेशान किया जा रहा है। अपनी मांगों को लेकर नोएडा के सेक्टर-62 में वेंडर कंपनी के खिलाफ प्रदर्शन किया है। घर घर से कूड़े का संग्रहण और उनको उठाने के लिए दी गई गाड़ियो को चलाने से इंकार कर दिया और सफाईकर्मियों ने कंपनी के गेट पर हंगामा करना शुरू कर दिया है।

यह भी पढ़ें: कोरोना कर्फ्यू के बीच ठेकों पर उमड़ा लोगों का हुजूम, शराब के चक्कर में भूल गए संक्रमण का भी डर

इन लोगों का कहना है कि इन लोगों की सैलरी नहीं बढाई जा रही है। कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। उसको लेकर इन लोगों को किसी तरह की सेफ्टी किट नही दी गई है। जिस वजह से इनको संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। इनका कहना है कि हम लोग डोर टू डोर कूड़ा उठाते हैं। सेफ्टी किट नहीं होने से संक्रमण की संभावना ज्यादा है। हमे कंपनी सेफ्टी किट नहीं प्रदान कर रही है।सफाईकर्मियों के हड़ताल के कारण नोएडा शहर में गंदगी दिखाई दे रही है। नोएडा प्राधिकरण द्वारा प्राइवेट कंपनी को डोर टू डोर कूड़ा उठाने का टेंडर पास किया था।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned