आजम बोले- अब भी हो सकती है सुलह 

दिल्‍ली पहुंचे कैबिनेट मंत्री बोले- सुलह के दरवाजे बंद नहींं हुए हैं

नई दिल्ली/नोएडा। मुलायम सिंह अपनी बात चुनाव आयोग में रखकर लखनऊ जा चुके हैं और अपने अगले कदम की तैयारी कर रहे हैं। वहीं, अखिलेश खेमे से भी रामगोपाल चुनाव आयोग पहुंचकर सपा और साइकिल पर दावेदारी ठोंक चुके हैं। इस बीच पार्टी के कुछ वफादार अभी भी सपा के पुराने 'अच्छे दिन' लौट आने का दावा कर रहे हैं। 

पार्टी के दोनों दिग्गजों को एक साथ लाने के लिए दिल्ली पहुंचे आजम खान ने कहा कि अब भी पिता-पुत्र दोनों को साथ लाने की कोशिशें जारी हैं और अंत तक कुछ भी हो सकता है। इस बयान के पूर्व आजम खान सपा प्रमुख मुलायम सिंह से भी मिले और यह जानने की कोशिश की कि क्या अभी भी बात बन सकती है। कहा जा रहा है कि उन्हें मुलायम सिंह से सकारात्मक संदेश मिले हैं। उम्मीद की जा रही है कि अभी भी दोनों पक्ष टकराव टालने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन सामने से दोनों ही वर्ग लड़ाई को अगले कदम पर ले जाने की कोशिश करते हुए भी दिख रहे हैं। 

अखिलेश से भी मिल चुके हैं आजम 

इसके पूर्व आज़म खान अखिलेश यादव से भी मिल चुके हैं। वहां से भी उन्हें सकारात्मक संदेश मिलने की खबर है। ध्यान रहे कि वे अखिलेश को लेकर मुलायम सिंह के घर भी पहुंचे थे और दोनों पिता-पुत्र को सामने रखकर गलतफहमियों को दूर करवाने की कोशिश कर चुके हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि उनके प्रयास अभी भी जारी हैं। दिल्‍ली पहुंचे आजम खान का कहना है कि सुलह के दरबाजे बंद नही हुए हैं। मुलायम और अखिलेश में सुलह की कोशिशें जारी हैं। मुसलमान समाजवादी पार्टी के साथ हैं। आजम खान का कहना है कि उन्हें इस मामले में एक बार कामयाबी मिली और अगर हालात ने साथ दिया तो फिर इसके लिए कोशिश जरूर करेंगे। अभी ये कहना जल्दबाजी होगी कि अब सुलह का कोई रास्ता नहीं बचा है। अखिलेश और रामगोपाल के निलंबन पर उन्होंने कहा कि किसने सोचा था 24 घंटे में निलंबन वापस होगा।
Show More
sharad asthana
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned