खुलासा: राजनीतिक दल के दफ्तर में चल रही परचून की दुकान

 खुलासा: राजनीतिक दल के दफ्तर में चल रही परचून की दुकान
fake political party

sandeep tomar | Publish: Dec, 24 2016 06:47:00 PM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

इन राजनीतिक पार्टियों का जमीनी सच और भी चौंकाने वाला है

बुलंदशहर। चुनाव आयोग ने राजनीतिक रूप से निष्क्रिय 255 पार्टियों को पंजीकरण रद्ध कर दिया है। वहीं इन राजनीतिक पार्टियों का जमीनी सच और भी चौंकाने वाला है। जमीनी पड़ताल में किसी पार्टी का अस्तित्व ही नहीं मिला तो कहीं दफ्तर में परचून की दुकान चलती मिली।

बुलंदशहर की पार्टी

बुलंदशहर जिले की दो पार्टियों का चुनाव आयोग में पंजीकरण है। युवा जनजागृति पार्टी और राष्ट्रीय जनसंगम पार्टी। बता दें कि युवा जनजागृति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामगोपाल शर्मा परचून की दुकान चला रहे हैं। ये दुकान ही पार्टी का राष्ट्रीय कार्यालय भी है।

पांच साल पहले दिया था रद करने का आवेदन

युवा जनजागृति पार्टी के अध्यक्ष के दावे के मुताबिक पार्टी में 100 सदस्य हैं। यह राष्ट्रीय पार्टी केवल जनपद तक ही सीमित है। रामगोपाल शर्मा बताते है कि 2002 में चुनाव आयोग से उन्होंने पार्टी को पंजीकृत कराया था। साथ ही बताया कि 2011 में पार्टी का पंजीकरण रद करने को प्रार्थना पत्र उन्होंने चुनाव आयोग दे चुके हैं।

fake political party

अधर्म के नाश को बनी थी ये पार्टी

वहीं, अधर्म को जड़ से समाप्त करने के उद्देश्य से 1996 में त्रिलोकी प्रसाद शर्मा ने राष्ट्रीय जन संगम पार्टी की नींव रखी। चुनाव आयोग में 1997 में पार्टी का पंजीकरण कराया। त्रिलोकी प्रसाद पेशे से किसान हैं। आर्थिक कारणों से पार्टी का कोई प्रत्याशी किसी भी चुनाव में खड़ा नहीं कर सके।

दस साल तक नहीं लड़ा चुनाव

त्रिलोकी प्रसाद शर्मा के शिवपुरी स्थित आवास में ही पार्टी का दफ्तर भी है। पार्टी दफ्तर पर न झंडा है न कोई बोर्ड। अध्यक्ष का दावा है कि उसके एक हजार सदस्य हैं और यह प्रदेश के 10 जिलों में सक्रिय है। उन्होंने बताया कि चुनाव आयोग 16 मार्च 2016 को एक लेटर प्राप्त हुआ था। जिससे लिखा था कि 2005 से वर्ष 2015 तक की अवधि में लोक सभा/ राज्य विधान सभाओं में कोई प्रत्याशी खड़ा नहीं किया गया। इस कारण राष्ट्रीय जन संगम पार्टी का पंजीकरण रद कर दिया गया है।

fake political party

कोर्ट जाने की तैयारी

पार्टी के संस्थापक व अध्यक्ष त्रिलोकी प्रसाद शर्मा ने कहा कि चुनाव आयोग ने उनके साथ गलत किया है। पार्टी के सदस्यों की मीटिंग के बाद तय किया जायेगा कि आगे क्या करना है। फिल्हाल पार्टी सदस्य कोर्ट में जाने का मन बना रहे है।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned