ऑफिस में लड़कियों के साथ शोषण, इस एप के जरिए सीधे डीएम तक करें शिकायत

Highlights

  • महिलाओं को न्याय दिलाएगा ‘शोर’
  • ऑफिस में शोषण महिलाएं तुरंत करें शिकायत
  • विधायक पंकज सिंह और डीएम भी रहे मौजूद

नोएडा। ऑफिस में अगर किसी महिला का शोषण होता है तो वह बेझिझक इसकी शिकायत कर सकती है, इसके लिए एक एप लॉन्च किया गया है। जिला प्रशासन ने इंट्रा आईटी कंपनी सीएसआर के तहत बनाए गए एक एप और वेबसाइट के जरिए यह संभव होगा। इस एप और वेबसाइट को नोएडा के सैक्टर स्थानीय विधायक और जिला प्राशासन के अधिकारियों ने लॉंच किया। इस एप की खास बात ये है कि महिला द्वारा की गई शिकायत सीधे डीएम के पास पहुंचेगी। जिसकी जांच जिलास्तरीय कमेटी कर जल्द से जल्द कार्रवाई करेगी।

शोर नाम का एप लॉन्च

शोर नाम के एप और वेबसाइट को नोएडा के सैक्टर 6 स्थित इंद्रा गांधी काला केंद्र में आयोजित एक समारोह स्थानीय विधायक और जिला प्राशासन के अधिकारियों ने लॉंच किया। इंट्रा के सीईओ ने बताया कि शोर एप यूपी ही नहीं बल्कि देश में अनोखा होगा। इसकी मदद से कार्य स्थल पर यौन उत्पीड़न के मामलों में न्याय मिलेगा। सभ्य समाज में इस तरह की घटनाएं बेहद चिंताजनक है। शिकायतें होंगी तो कार्रवाई भी होगी। फिर ऐसी घटनाओं पर लगाम लग सकेगी।

डीएम के पास पहुंचेगी शिकायत

वहीं स्थानीय विधायक पंकज सिंह ने कहा कि इस एप के जरिये कार्य स्थल पर महिला के साथ किसी भी तरह के अपराध की शिकायत की जा सकेगी। शिकायत कंपनी की कमेटी और अध्यक्ष के पास जाएगी। तय अवधि में निराकरण नहीं होने पर वह जिला प्रशासन द्वारा गठित कमेटी के पास चली जाएगी। खास बात यह है कि एक ही बात पीड़िता को हर बार नहीं बतानी होगी।

ये भी पढ़ें : BREAKING: Kamlesh Tiwari हत्याकांड: मौलाना ने 2015 में दिया था ऐसा बयान, तब नहीं सोचा होगा ऐसा दिन भी आएगा, सुने क्या कहा था

सभी कंपनियां और संस्थान रजिस्टर करा लें

डीएम बीएन सिंह ने कहा कि समाज के विकास में महिलाओं की भूमिका बढ़ती जा रही है। आज वह पुरुषों से कंधे से कंधा मिलाकर चल रही हैं। जाने या अनजाने में महिलाओं के साथ कार्य स्थल पर शारीरिक उत्पीड़न हो रहे हैं। इसे रोकने के मकसद से 2013 में एक अधिनियम बनाया गया था। जिसके तहत हर संस्थान में कमेटी बननी थी। गौतम बुद्ध नगर में 14 हजार से अधिक कंपनियां और संस्थान हैं। लेकिन कहीं भी महिला अपराध रोकने के लिए कमेटी का गठन नहीं किया गया है। यह कमेटी प्रत्येक उस कार्य स्थल पर अनिवार्य है, जहां 10 से अधिक महिलाएं कार्य कर रही हैं। डीएम ने इस अवसर पर कहा की सभी कंपनियां और संस्थान से अनुरोध करुंगा की 25 दिनो में वेब साइट पर अपने आप को रजिस्टर करा लें और शिकायत कमेटी का गठन कर लें।

शोर नाम के एप और वेबसाइट के लॉंच पर एसएसपी वैभव कृष्ण, इंट्रा के सीईओ अशोक व जेएमडी स्वाति डे कमेटी की कोऑर्डिनेटर गुंजा सिंह समेत कई आला अधिकारी और सामाजिक संस्थाओ मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें : YouTube की मदद से सीख कर वारदात को दिया अंजाम, ...लेकिन काननू के हाथ लंबे होते हैं

Ashutosh Pathak
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned