scriptsorkha forests are pleasant feeling in summer in hitech city noida | झुलसाती गर्मी में ठंडी छांव के साथ सुखद अहसास करा रहे सोरखा के जंगल, कृत्रिम तालाब से हो रही सिंचाई | Patrika News

झुलसाती गर्मी में ठंडी छांव के साथ सुखद अहसास करा रहे सोरखा के जंगल, कृत्रिम तालाब से हो रही सिंचाई

हाईटेक सिटी नोएडा की झुलसाती गर्मी और कंक्रीट के जंगल में बढ़ते तापमान के बीच सोरखा का का जंगल अब लोगों को राहत दे रहा है। यहां हरे-भरे पेड़-पौधों के साथ चिड़ियों की चहचहाहट बढ़ने लगी है, वहीं पेड़ों की ठंडक लोगों को सुखद अहसास कराने लगी है। पर्यावरणकर्मी पीपल बाबा के नेतृत्व में यहां छेड़ी गई मुहिम अब रंग लानेे लगी है।

नोएडा

Published: April 28, 2022 10:16:02 am

नोएडा और ग्रेटर नोएडा महानगर भले ही यूपी का सबसे हाईटेक शहर हो और प्रदेश में राजस्व के मामले में पहले नंबर हो, लेकिन अब यहां कंक्रीट के जंगल वन्य जीवों को रास नहीं आते हैं। वहीं महानगर में रहने वाले आज मौसमी बीमारियों और मौसम में होने वाले बदलाव से परेशान रहते हैं। इसका सबसे बड़ा कारण महानगर में हरे भरे पेड़-पौधों का तेजी से विलुप्त होना है। हालांकि इन सबके बीच सोरखा गांव में पर्यावरणविद ग्रामीणों की मदद से लोागों को हरिियाली के लिए प्रेरित कर रहे हैं, ताकि इस हाईटेक सिटी को वन्य प्राणियों के अनुकूल बनाकर यहां के लोगाें को स्वच्छ वायु दी जा सके।
sorkha-forests-are-pleasant-feeling-in-summer-in-hitech-city-noida.jpg
झुलसाती गर्मी में ठंडी छांव के साथ सुखद अहसास करा रहे सोरखा के जंगल, कृत्रिम तालाब से हो रही सिंचाई।
नोएडा की झुलसाती गर्मी और कंक्रीट के जंगल में बढ़ते तापमान के बीच सोरखा में लोगों को अब राहत मिलने लगी है। यहां जहां हरे-भरे पेड़-पौधों के साथ चिड़ियों की चहचहाहट बढ़ने लगी है, वहीं पेड़ों की ठंडक लोगों को सुखद अहसास कराने लगी है। बता दें कि पर्यावरणकर्मी पीपल बाबा के नेतृत्व में एचसीएल के सहयोग से सोरखा गांव में वन स्थापित करने की मुहिम शुरू गई थी। इसके तहत वीरान खाली जगह पर अब करीब 70 हजार हरे पेड़-पौधे लगा दिए गए हैं, जो आबादी के लिए शुद्ध हवा का अच्छा स्रोत हैं। जिले के पूर्व जिलाधिकारी बीएन सिंह का कहना है कि सोरखा गांव नोएडा अथॉरिटी का हिस्सा था। इस काम में गांव के लोगों को जोड़ा गया। जिसके परिणाम सबके सामने हैं।
यह भी पढ़ें- कृषि यंत्रों की खरीद और ड्रिप इरीगेशन के लिए भारी अनुदान दे रही है यूपी सरकार

कृत्रिम तालाबों से की जाती है सिंचाई

सोरखा का जंगल पूरी तरह से अब आत्मनिर्भर हो चुका है। यहां के पौधों की सिंचाई कृत्रिम तालाबों के माध्यम से की जाती है। पीपल बाबा बताते हैं कि जहां कहीं भी वह कृत्रिम जंगल बनाने की शुरुआत करते हैं। वहां पर सबसे ढलान वाली जगह पर तालाब का निर्माण जरूर करवाते हैं। हर साल बरसात के दौरान इन कृत्रिम तालाबों में पानी भर जाता है। इन्हीं तालाबों से जितना पानी निकालेंगे, जमीन से उतना पानी पुनः आ जा जाता है। साहिद का कहना है कि कोरोना काल में जब पानी के टैंकर आने बंद हो गए तो जंगल के बीच स्थित इस कृत्रिम तालाब ने सोरखा के जंगल के पेड़-पौधों के साथ जीवों की जान भी बचाई।
यह भी पढ़ें- पांच दिन का यलो अलर्ट पारा 42 डिग्री पार,लू के थपेड़ों से लोग बेहाल

मिसाल बना सोरखा का जंगल

नोएडा के बीच स्थापित सोरखा का जंगल अब मिसाल बन चुका है। यहां करीब 58 प्रकार के जीव आने वाले लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र हैं। जबकि वन विभाग हर साल जिले में लाखों की संख्या में पौधारोपण करने का काम करता है, लेकिन आज तक वन विभाग अपने रोपे गए पौधों की देखभाल ठीक तरह से नहीं कर पाया है। जिसके कारण नोएडा में पेड़ों की संख्या कम होती गई और हरियाली गायब हो गई।
By- KP Tripathi

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

ममता बनर्जी का बड़ा फैसला, अब राज्यपाल की जगह सीएम होंगी विश्वविद्यालयों की चांसलरयासीन मलिक के समर्थन में खालिस्तानी आतंकी ने अमरनाथ यात्रा को रोकने की दी धमकीलगातार दूसरी बार हैदराबाद पहुंचे PM मोदी से नहीं मिले तेलंगाना CM केसीआरUP Budget 2022 : देश में पांच इंटरनेशनल एयरपोर्ट और पांच एटीएस वाला यूपी पहला राज्य, होंगी ये बड़ी सुविधाएंराष्ट्रीय खेल घोटाला: CBI ने झारखंड के पूर्व खेल मंत्री के आवास पर मारा छापाIRCTC 21 जून से शुरू करेगी श्री रामायण यात्रा स्पेशल ट्रेन, जानिए इस यात्रा से जुड़ी सभी जानकारीIPL में MS Dhoni, Rohit Sharma, Virat Kohli हुए 150 करोड़ के पार, कमाई जानकर आप हो जाएंगे हैरानइधर भी महंगाई: परिवहन मंत्रालय ने की थर्ड पार्टी बीमा दरों में बढ़ोतरी, नई दरें जारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.