बेरोजगारों से नौकरी के नाम पर ऑनलाइन ठगी करने वाले तीन ठग गिरफ्तार

Highlights

  • गाजियाबाद के एक फ्लैट में रहकर चला रहे थे कॉल सेंटर
  • नाैकरी दिलाने वाली कंपनी का डाटा चुराकर करते थे ठगी

By: shivmani tyagi

Updated: 08 Nov 2020, 10:59 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

नाेएडा। बेरोजगारों को नौकरी दिलाने के नाम पर ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह के तीन सदस्यों को नाेएडा पुलिस की साइबर सेल टीम और सेक्टर-20 थाना पुलिस ने सेक्टर-10 से गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से पुलिस टीम ने तीन लैपटॉप, चार मोबाइल फोन, एक डोंगल समेत ठगी से संबंधी अन्य दस्तावेज बरामद किए गए हैं।

यह भी पढ़ें: दिल्ली-सहारनपुर हाइवे पर भीषण दुर्घटना, शादी समाराेह से लाैट रहे चार दाेस्तों की माैत

पुलिस ने बिहार निवासी गोपाल कुमार मिश्रा, पप्पू कुमार व निखिल झा को नामी कंपनी का डाटा चोरी कर नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपी सेक्टर-10 में किराये पर कार्यालय लेकर फर्जी कॉल सेंटर चला रहे थे। पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की है। एडीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि कई बेरोजगारों ने नौकरी के नाम पर ऑन लाइन ठगी की शिकायत की थी। इसके बाद पुलिस ने ठगी करने वालों की गिरफ्तारी के लिए टीम बनाई।

यह भी पढ़ें: प्रत्येक पेट्रोल पंप पर मुफ्त में मिलती हैं छह सेवाएं, जानिए अपने अधिकार

सेक्टर-10 से तीनों गिरफ्तार किया है। पकड़े गए सभी आरोपी हाल में में खोड़ा कॉलोनी गाजियाबाद में रहते थे। जांच के दौरान पता चला कि आरोपी शाइन डॉट कॉम से डाटा चोरी कर उनका विभिन्न कंपनियों तथा बैंकों में नौकरी दिलाने के नाम पर बेरोजगारों से बात करते थे और उनका अपने ­झांसे में लेकर पहली बार रजिस्ट्रेशन फीस 1600 रुपये, दस्तावेज सत्यापन के नाम पर 5000 रुपये और नियुक्ति पत्र के नाम पर 10 हजार रुपये लेते थे।

यह भी पढ़ें: दिवाली के लिए हरियाणा से यूपी में लाई जा रही 148 पेटी शराब पुलिस ने पकड़ी, देखें वीडियो

पैसे खाते में ट्रांसफर होने के बाद ये उस सिम को बंद कर देते थे। आरोपियों ने डी-325 सेक्टर-10 नोएडा में किराये पर कार्यालय ले रखा था। इनके कब्जे से पुलिस टीम ने तीन लैपटॉप, चार मोबाइल फोन, एक डोंगल बरामद किया है। आरोपियों ने प्लेसमेंट कराने वाली नामी कंपनी शनशाइन का डेटा चोरी किया था और अब उसी डेटा का इस्तेमाल कर आरोपी नौकरी दिलाने के नाम पर युवक-युवतियों से ठगी कर रहे थे।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned