महज तीन मिनट में कार चुराने वाले 'डाक्टर' समेत तीन गिरफ्तार

Highlights

- नोएडा सेक्टर-20 थाना पुलिस को मिली बड़ी सफलता

- इनामी अंतरराज्यीय वाहन चोर वाहिद उर्फ डॉक्टर समेत तीन पकड़े

- चोरी के वाहन, फर्जी नंबर प्लेट, वाहन चोरी में इस्तेमाल होने औजार बरामद

By: lokesh verma

Published: 04 Mar 2021, 03:45 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
नोएडा. अपराध जगत में वाहन चोरों के बीच डॉक्टर के नाम से मशहूर 25 हजार के इनामी अंतरराज्यीय वाहन चोर वाहिद को नोएडा की थाना सेक्टर-24 पुलिस ने उसके दो साथियों के साथ गिरफ्तार किया है। इसके ऊपर नोएडा एनसीआर में लगभग 50 से अधिक मुकदमे वाहन चोरी के दर्ज हैं। इनके पास से चोरी के चार वाहन, तमंचा कारतूस, फर्जी नंबर प्लेट वाहन, चोरी में इस्तेमाल होने वाले बड़ी संख्या में औजार बरामद हुए हैं।

यह भी पढ़ें- प्रेमिका से शादी करने के लिए पत्नी और दो बच्चों को घुमाने के बहाने गंगनहर में फेंका

पुलिस की गिरफ्त में आए डॉक्टर उर्फ वाहिद, अंकुर और सोहेब शातिर किस्म के वाहन चोर हैं। वाहिद वाहन चोरों के बीच डॉक्टर के नाम से मशहूर है। वह दिल्ली से एक दर्जन से ज्यादा मुकदमों में वांछित चल रहा था और नोएडा सेक्टर-24 थाने से भी चोरी के मामले में वांछित है। उस पर पुलिस ने 25 हजार का इनाम भी घोषित कर रखा है। वाहिद की खासियत यह है कि वह किसी भी वाहन को महज तीन मिनट में चोरी कर सकता है। वाहिद अपना वॉटसऐप नम्बर सउदी अरबिया के नम्बर से इंस्टाल किया है तथा उसी नम्बर से डोंगल की मदद से वॉटसऐप कॉलिग से अपने अन्य साथियों से जुड़ा है। वाहिद ने दो शादियां कर रखी हैं तथा आठ जगहों (दिल्ली मे 2. गाजियाबाद मे 2, हापुड़, मेरठ, बुलन्दशहर, बागपत) में किराये का मकान ले रखे हैं। वह प्रत्येक दिन अलग-अलग लोकेशन पर रात मे सोने जाता था।

डीसीपी राजेश यस ने बताया की वाहिद शुरू के दिनो में गाड़ियां स्वयं अपने साथियों के साथ मिलकर चोरी करता था। धीरे-धीरे इसने अपने साथियों पवन और कमरुदीन को गाड़ी चोरी कराने की ट्रेनिंग दी और अब इनसे गाड़ी चोरी करवाता है। चोरी की गाड़ी लेकर दानिश व इमरान कटवाने का काम करते हैं। ये गैंग गाड़ी के काटने के बाद उसके पुर्जों को बिहार, हरियाणा, राजस्थान में बेच दिया करते हैं। अंकुर की मोदी नगर मे नंबर प्लेट आदि बनाने की दुकान है, जो वाहिद व अन्य चोरो को फर्जी नंबर प्लेट बनाकर देता है। आरोपी सोहेब की सिम आदि की दुकान है, वह वाहिद व अन्य चोरो को प्रीऐक्टिवेटेड सिम बेचता था तथा वाहिद की चोरी मे मदद करता था।

डीसीपी ने बताया कि इस गैंग में सात सदस्य है अभी वाहिद, अंकुर, सोहेब को गिरफ्तार किया है। कमरुद्दीन, पवन, इरफान, दानिश अभी फरार चल रहे हैं, इनको भी जल्द पुलिस गिरफ्तार करेगी।

यह भी पढ़ें- वीडियो में देखिए पकड़े जाने पर क्या बाेला ताजमहल में बम की फर्जी सूचना देकर सनसनी फैलाने वाला युवक

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned