फूलपुर-गोरखपुर में ही नहीं, इस पॉपुलर सीट पर भी बढ़ सकती है भाजपा की मुश्किलें

फूलपुर और गोरखपुर के बाद अब भाजपा की इस सीट पर भी मुश्किलें बढ़ी।

By: Kaushlendra Pathak

Updated: 13 Mar 2018, 01:07 PM IST

नोएडा। फूलपुर-गोरखपुर उप चुनाव को लेकर सियासी पंडितों को जो बयान आ रहा है। उसके मुताबिक, भाजपा की मुश्किलें बढ़ सकती है। दरअसल, इसके पीछे का कारण वोटिंग प्रतिशत कम होना बताया जा रहा है। चुकि, दोनों सीट पर भाजपा का कब्जा था। इससे कयास लगाया जा रहा था कि उप चुनाव में बंपर वोटिंग होगी। लेकिन, गोरखपुर सीट पर 49 प्रतिशत तो फूलपुर में केवल 38 प्रतिशत ही वोटिंग हुई। वहीं, इस चुनाव के बाद अब सभी राजनीतिक पार्टियों की नजर भाजपा की पॉपुलर सीट कैराना पर टिक गई है। इस सीट पर वर्तमान में भले ही भाजपा का कब्जा है, लेकिन सूत्र बता रहें कि उप चुनाव में जीत हांसिल करना भाजपा के लिए आसान नहीं होगा।


इस कारण राह नहीं होगा आसान

कैराना सीट पर भाजपा कब्जा है। दिवंगत नेता हुकुम सिंह यहां से सांसद थे। लेकिन, हाल ही में उनकी मौत हुई है, जिसके बाद से यह सीट खाली है। राजनीतिक सूत्र बतातें है कि भाजपा के लिए यहां जीत हांसिल करना काफी मुश्किल होगा। दरअसल, दो साल पहले जब कैराना में हिंदुओं का तथाकथित पलायन का मुद्दा जोर शोर से मीडिया में छाया था, तो इस मुद्दे को उन्होंने विधानसभा में उठाया था। हालांकि, जब इस मामले की जांच हुई तो पता चला कि हिंदू वहां से पलायन नहीं कर रहे हैं। आरोप था स्थानीय मुसलमानों की वजह से कश्मीरी पंडितों की तरह हिंदू समुदाय कैराना से पलायन को मजबूर है। कैराना पलायन प्रकरण से ही लोकसभा व विधानसभा चुनाव में भाजपा की हवा बनी थी। अब भाजपा के लिए कैराना सीट पर अपना वर्चस्व कायम रखना बड़ी चुनौती होगी।

मई-जून में हो सकते हैं चुनाव...

कैरान लोकसभा सीट पर होने वाले उप चुनाव की तारीख जल्द ही घोषित कर दी जाएगी। राजनीतिक सूत्रों का कहना है कि मई से जून के बीच में इस सीट पर चुनाव हो सकते हैं। निर्वाचन आयोग जल्द ही तारीखों का ऐलान कर सकता है। हालांकि, अभी तक किसी भी पार्टी ने इस सीट के लिए अपने उम्मीदवारों के नाम की घोषणा नहीं की है।

इन चेहरों पर रहेगी नजर

इस सीट पर भाजपा सांसद हुकुम सिंह के बेटी मृगांका को अपना प्रत्याशी बना सकती है। क्योंकि, हुकुम सिंह के मौत का लाभ भाजपा को मिल सकता है। इसके अलावा राज्य महिला आयोग की सदस्य डॉ. प्रियंवदा तोमर भी इस सीट से अपनी दावेदारी पेश कर रही है। वहीं, आरएसएस लॉबी के महेंद्र सिंह गुर्जर का नाम भी चर्चाओं में है। इधर, सपा से चौधरी वीरेंद्र सिंह, तबस्सुम हसन व सुधीर पंवार के नामों की जोर-शोर से चर्चा है।

Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned