U-19 WC Final- इस खिलाड़ी ने दूसरे के बैट से सीखा क्रिकेट, फाइनल में समेटा ऑस्‍ट्रेलिया को

आईसीसी के अंडर-19 वर्ल्‍ड कप फाइनल मेें भारत ने ऑस्‍ट्रेलिया को आठ विकेट से शिकस्‍त दी

By: sharad asthana

Published: 03 Feb 2018, 04:47 PM IST

नोएडा। आईसीसी के अंडर-19 वर्ल्‍ड कप का फाइनल भारत के नाम हो चुका है। न्‍यूजीलैंड में खेले गए निर्णायक मुकाबले में भारतीय टीम ने ऑस्‍ट्रेलिया को आठ विकेट से शिकस्‍त दी। कंगारू टीम द्वारा दिए गए 217 रनों के लक्ष्‍य को भारत ने 39वें ओवर में ही हासिल कर लिया। भारत की तरफ से ईशान पोरेल, कमलेश नागरकोटी, शिवा सिंह और अनुकूल रॉय ने दो-दो विकेट लिए। जबकि शिवम मावी ने एक बल्‍लेबाज को आउट किया। ऑस्ट्रेलिया को आखिरी झटका शिवम मावी ने दिया। शिवम मावी नोएडा के रहने वाले हैं। भारत की जीत के बाद उनके सेक्‍टर-71 स्थित घर पर जश्‍न का महौल बन गया। अब हम आपको शिवम मावी के बारे में कुछ ऐसी बातें बता रहे हैं, जो शायद आपको न पता हों।

U-19 WC Final- आठ विकेट से जीता भारत

Shivam mawi
IMAGE CREDIT: patrika

पूरे टूर्नामेंट में लिए नौ विकेट

डेल स्टेन को अपना आदर्श मानने वाले शिवम बल्लेबाज के दिमाग में डर बैठाने का काम बखूबी करते हैं। भारत के 5 फीट 9 इंच लंबे इस गेंदबाज से बल्‍लेबाज खौफ खाते हैं। यह अंडर-19 भारतीय क्रिकेट टीम के कोच व पूर्व भारतीय खिलाड़ी राहुल द्रविड़ के खास सिपहसालार माने जाते हैं। पूरे टूर्नामेंट में मावी ने छह मैच खेले हैं, जिनमें उन्होंने कुल 9 विकेट लिए हैं। ऑस्‍ट्रेलिया को समेटने वाले मावी 145 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से गेंदबाजी करते हैं।

गजब- 12वीं की छात्रा बनी एसडीएम, जानिए कैसे

shivam mawi
IMAGE CREDIT: patrika

किसान परिवार से हैं मावी

आपको बता दें कि शिवम किसान परिवार से हैं। शुरू में परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण वह अपने साथियों की किट से क्रिकेट खेला करते थे मतलब दूसरे से बैट मांगकर सीखा करते थे। अब उनका परिवार सेक्टर-71 में दो कमरे के जनता फ्लैट में रहता है। वर्ष 2016 में उनके पैर में गंभीर फ्रैक्चर हो गया था, जिस कारण वह एक साल तक क्रिकेट से दूर रहे। उनके हौसले की बदौलत उन्हें अंडर-14 में दिल्ली से खेलने का मौका मिला। इसमें उन्‍होंने शानदार प्रदर्शन किया लेकिन अंडर-16 टीम में जगह नहीं बना पाए। इसके बाद शिवम ने पहला इंटरनेश्‍ानल मैच इंग्लैंड के खिलाफ खेला। चैलेंजर ट्रॉफी में नौ विकेट लेने पर उनको अंडर-19 विश्वकप टीम के लिए चुना गया। जहां उन्‍होंने खुद को साबित किया।

काम की खबर- अब तीन दिन में ऐसे बन जाएगा आपका पासपोर्ट, लाने होंगे ये दस्‍तावेज

13 साल की उम्र से खेल रहे हैं क्रिकेट

शिवम 13 साल की उम्र से ही क्रिकेट खेल रहे हैं। उन्होंने पत्रिका से खास बातचीत में कहा था कि एक समय उनका परिवार आर्थिक तंगी से जूझ रहा था लेकिन फिर भी उनके परिवार ने उनकी कोचिंग जारी रखने के लिए पैसों का इंजताम किया। शिवम के पिता पंकज मावी का कहना था कि कोचिंग के कारण उन्हें अपना घर भी बदलना पड़ा था। पहले वह सेक्टर-19 में रहते थे लेकिन कोचिंग सेक्टर-71 में होने के कारण वह अपने परिवार के साथ यहां के जनता फ्लैट में शिफ्ट हो गए।

कभी पैसों के लिए मोहताज था परिवार, अब अाईपीएल में तीन करोड़ में बिका यह खिलाड़ी- देखें तस्‍वीरें

shivam mawi

केकेआर ने तीन करोड़ में खरीदा

न्‍यूजीलैंड में हुए वर्ल्‍ड कप के दौरान उन्‍हें अच्‍छे प्रदर्शन का एक और इनाम मिला। शाहरुख खान की फ्रेंचाइजी वाली टीम कोलकाता में उनको जगह मिली। आईपीएल सीजन-11 के आॅक्‍शन में उन्‍हें कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) ने तीन करोड़ रुपये में खरीदा। मतलब वह झटके में करोड़पति भी बन गए। आईपीएल की बोली में शिवम का बेस प्राइस 20 लाख रुपये रखा गया था।

उत्‍तर प्रदेश पुलिस के सबइंस्‍पेक्‍टर का बेटा खेलेगा IPL, 20 लाख में मंबई इंडियंस ने खरीदा

गांगुली व अमिताभ बच्‍चन ने भी की है तारीफ

शिवम की तेज गेंदबाजी की तारीफ दिग्गज सितारों को भी खुलकर की है। फिर चाहे वह बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्‍चन हों या भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली। सभी ने ट्विटर पर मावी की गेंदबाजी की तारीफ की है।

देखें वीडियो- घर में पुलिस ने मारा छापा तो रह गई सन्‍न

देखें वीडियो- म ुठभेड़ में नामी बदमाश ढेर

Show More
sharad asthana
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned