मोदी के दिए दर्द पर अखिलेश लगाएंगे मरहम

मोदी के दिए दर्द पर अखिलेश लगाएंगे मरहम
Akhilesh Yadav

sandeep tomar | Publish: Dec, 08 2016 05:30:00 PM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

नोटबंदी से मरे लोगों के परिजनों को अखिलेश देंगे मदद

नोएडा: नोटबंदी के बाद आम जनता को 30 दिन के बाद भी तकलीफों का सामना करना पड़ रहा है। इससे पहले इस नोटबंदी की वजह से कई लोगों की मौत हो चुकी है। ताज्जुब की बात तो ये है कि केंद्र सरकार की ओर से इन लोगों के परिवारों के लिए कुछ नहीं किया। अगर बात वेस्ट यूपी की करें तो खुर्जा में एक नवजात बच्ची की मौत इसलिए हो गई थी कि क्योंकि उसके पिता हॉस्पिटल संचालकों को नए या 100 रुपए के नोट नहीं दे सके। ऐसे ही कुछ और मामले भी मेरठ और बुलंदशहर में देखने को मिले थे। लेकिन केंद्र सरकार की ओर से कोई मदद नहीं की गई। ऐसे में देश के पीएम द्वारा दिए इस नोटबंदी के दर्द पर यूपी के सीएम अखिलेश ने थोड़ा मरहम लगाने की कोशिश की है। ऐसे लोगों को अखिलेश द्वारा की गई घोषणा के अनुसार दो-दो लाख रुपए की मदद की जाएगी।

वेस्ट यूपी में यहां हुई लोगों की मौत


आंकड़ों की बात करें तो वेस्ट यूपी के खुर्जा, मेरठ और बुलंदशहर में नोटबंदी की वजह से चार लोगों की मौत सामने आई है। एक मौत खुर्जा के हॉस्पिटल में हुई थी। जहां पर एक युवक अपनी प्रेग्रेंट वाइफ को लेकर आया था। हॉस्पिटल में फीस के तौर पर हॉस्पिटल ने 500 और 1000 रुपए के नोट लेने से इनकार कर दिया। जब तक युवक रुपए का इंतजाम कर पाता तब तक उसका वो बच्चा मर गया।

वहीं दूसरा मामला बुलंदशहर का सामने आया था। बीएसएफ सिपाही के पुत्र को मेले में जाना था। कुछ दिन बैंक में चक्कर लगाने के बाद रुपए नहीं मिले तो उसने अपने मां से रुपयों की डिमांड की। मां से भी रुपए नहीं मिले तो उसने सुसाइड कर लिया। इसी तरह मेरठ में बैंक से बीमार बेटे के लिए पैसा न मिल पाने के कारण किठौर कस्बे में पीएचसी के चौकीदार इस्लाम (40) की हार्ट अटैक से मौत हो गई थी। मेरठ शहर के थाना लिसाड़ी गेट क्षेत्र के किदवई निवासी अजीज अंसारी की नोट बदलने के लिए लाइन लगे होने की वजह से दिल का दौरा पड़ गया। जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई।

परिजनों में जगी आस

बुधवार को सीएम अखिलेश की ओर से दो-दो लाख रुपए देने की घोषणा करने के बाद नोटबंदी की वजह से मारे गए लोगों के परिजनों में आस जग गई है। जानकारों की मानें तो आम जनता को पीएम मोदी के नोटबंदी के फैसले से काफी उम्मीदें थी। उन्हें तकलीफें झेलने के बाद भी यकीन था जल्द ही सभी समस्याएं हल जाएंगी। 30 दिन गुजर जाने के बाद भी आम जनता की तकलीफों में कोई कमी नहीं आई है।

अब लोगों में लगातार गुस्सा और आक्रोश बढ़ता जा रहा हैै। वहीं अखिलेश की ओर से की गई घोषणा के बाद लोगों के काफी पॉजिटिव रिएक्शन आने लगे हैं। आपको बता दें के पीएम मोदी ने देश की आम जनता से 50 दिन का समय मांगा था। जिनमें से 30 दिन पूरे हो चुके हैं। लेकिन बाकी बचे 20 दिनों में सभी समस्याएं खत्म हो जाएंगी, ऐसा नहीं लग रहा है।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned