बड़ी खबर: अब सोसायटी में रहने वालों से मनमाना बिजली बिल नहीं वसूल सकेंगे बिल्डर-श्रीकांत शर्मा

यूपी के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि लोगों की शिकायतें मिलती रहती हैं कि बिल्डर सोसायटी में रहने वालों से ज्यादा बिजली बिल वसूलते हैं।

By:

Published: 20 Jan 2018, 10:12 PM IST

नोएडा। सोसायटी में रहने वालों से बिजली बिल के नाम पर मनमाना चार्ज वसूलने वाले बिल्डरों पर अब जल्द ही सख्ती हो सकेगी। इसके लिए जल्द ही यूपी सरकार एक नई पॉलिसी लेकर आ रही है जिसके तहत सोसायटी में रहने वाले लोग सीधे तौर पर उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन से बिजली कनेक्शन ले सकेंगे। जबकि अभी तक सोसायटियों को बिजली विभाग द्वारा सिंगल पॉइंट कनेक्शन ही जारी किया जाता है। जिसके द्वारा बिल्डर सोसायटी के सभी फ्लैट में सब मीटर जारी करता है। इस सिस्टम के चलते कई बार शिकायतें आती रहती हैं बिल्डर लोगों से मनमाना बिजली शुल्क वसूलता है।

दरअसल, एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने आए यूपी के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि लगातार लोगों की शिकायत मिलती रहती है कि बिल्डर सोसायटी में रहने वालों से बिजली बिल के नाम पर ज्यादा शुल्क वसूलते हैं। जिसके लिए जल्द ही सरकार एक नई पॉलिसी लेकर आ रही है। जिसके तहत सोसायटी में रहने वाले सीधे बिजली विभाग से जुड़कर बिजली कनेक्शन ले सकेंगे और फिर उसका बिल सीधे विभाग में जमा करा सकेंगे। इससे मनमाना बिल वसूलने वालों पर सख्ती हो सकेगी।

बताते चलें कि नोएडा-ग्रेटर नोएडा में सैकड़ों बिल्डर सोसायटी हैं, जिनमें अभी भी बिल्डर द्वारा ही बिजली बिल लिया जाता है। वहीं गत दिनों में कई बार विभिन्न सोसायटी के लोग बिल्डर पर ज्यादा बिजली बिल वसलने व कनेक्शन काटने की धमकी देने जैसे आरोप लगा चुके हैं। इसकी शिकायत कई बार ट्वीट कर सीएम योगी व ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा से भी की जा चुकी है। जिस पर संज्ञान लेकर अब यूपी सरकार जल्द ही सोसायटी के लिए नई पॉलिसी लेकर आ रही है। जिसका सोसायटी में रहने वाले लाखों लोगों को लाभ मिलेगा। सेक्टर- 93 ए स्थित सोसायटी में रहने वाले सुरेश अग्रवाल का कहना है कि सरकार यह फैसला बहुत ही अच्छा है और इससे बिल्डरों की मनमानी पर नकेल कस सकेगी। लेकिन सरकार को जल्द से जल्द इस पर काम करना होगा जिससे जिले के लाखों लोगों को राहत मिल सके।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned