एक तरफ जहरीली हवा तो दूसरी ओर बढ़ती ठंड, लोगों को हो रही मुश्किल

एक तरफ जहरीली हवा तो दूसरी ओर बढ़ती ठंड, लोगों को हो रही मुश्किल

Ashutosh Pathak | Publish: Oct, 31 2018 02:35:36 PM (IST) | Updated: Oct, 31 2018 02:35:37 PM (IST) Noida, Gautam Budh Nagar, Uttar Pradesh, India

स्मॉग और कम विजिविलिटी लोगों के लिए बनी मुसीबत, डॉक्टरों की सलाह अस्थमा के मरीज ऐसे मौसम में घर से बाहर ना निकलें

नोएडा। देश की राजधानी दिल्ली एनसीआर में स्मॉग की की चादर ने शहर को पूरी तरह से अपनी आगोस में ले लिया है। दिन भर आसमान पर धूल की चादर छाए हुए है। एक तरह जहां ठंड ने दस्तक देनी शुरू कर दी है वहीं दूसरी ओर इस गैस के गुबार लोगों को परेशान कर रहा है। वायु गुणवत्ता सूचकांक 374 एसपीएम दर्ज किया गया है। जिला प्रशासन और प्रदूषण विभाग इससे निपटने के लिए जल का छिड़काव और धूल को हटाने में जुटा है लेकिन उसका ये प्रयास भी नाकाफी सबित हो रहा है।

नोएडा स्टेडियम में नियमित रूप से मॉर्निंग वॉक के लिए पहुंचे वाले लोगों की संख्या घटने लगी है। इसका कारण है स्मॉग की चादर, जिसने पूरे शहर को पूरी तरह से ढक लिया है, आलम यह है कि अब बाहर निकलते ही लोगों का दम घुटने का अहसास हो रहा है। गुबार की वजह से विजिविलिटी भी कम हो गई है। आज पिछले के दिनों की अपेक्षा स्मॉग काफी ज्यादा था और इस धुंध की वजह से सड़कों पर सुबह के समय अंधेरा था। लोगों को मॉर्निंग वॉक के लिए जाने में दिक्कत हो रही थी। वहआने वाले दिनों तक मौसम का मिजाज इसी तरह बने रहने की संभावना जताई जा रही है।

पार्को में टहलने वाले लोगों को भी स्मॉग से काफी परेशानी हो रही है इस स्मॉग से बच्चे बूढ़े और जवान सभी प्रभावित हो रहे है । जहां बाहर निकलते ही सांस लेने में परेशानी हो रही है। वहीं इसकी वजह से लोगों को गले में दर्द, जुकाम का असर, घबराहट, बाहर से आने पर चेहरे और आंखों में जलन का सामना करना पड़ रहा है।

सीएमएस डॉ अजेय कुमार शर्मा ने कहा कि ऐसे मौसम में घर से बाहर ना निकलें। अगर घर से बाहर जाना आवश्यक है तो मास्क पहनकर निकलें। सांस से संबंधी बीमारियों से पीड़ित लोग तरल पदार्थ का अधिक सेवन करें और अपनी दवाएं साथ रखें।

वहीं सुबह-शाम में ठंड भी पड़ने लगी है जबकि दिन में गर्मी का एहसास रहता है। इस वजह से कई लोग इसे हल्के में ले रहे हैं। लेकिन इस मौसम में आपको सावधानी बरतनी होगी। जिससे ठंड से बच सकें और ऐसे मौसम में होने वाली बीमारियों से बचाव हो सके।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned