scriptAssembly Elections Result Congress has to think now on failure | कांग्रेस को सोचना तो पड़ेगा | Patrika News

कांग्रेस को सोचना तो पड़ेगा

Assembly Elections Result 2022: यूपी-पंजाब समेत पांच राज्यों के जनादेश का क्या मतलब है? कांग्रेस की हालत क्या हो गई है? ऐसे ही कुछ सवालों के जवाब और कांग्रेस के पास बचे सीमित विकल्पों पर केंद्रित पत्रिका के गिरिराज शर्मा का यह विश्लेषण -

Updated: March 11, 2022 01:45:59 pm

Assembly Elections Result 2022: पांच राज्यों के चुनावी नतीजे आ चुके। जनादेश स्पष्ट है। बीजेपी और 'बल'वान हुई है। कांग्रेस घोर संकट में है। कांग्रेस नेतृत्व एक बार फिर निशाने पर है। सीधे तौर पर राहुल गांधी। राहुल के सब दाव उल्टे पड़े। पंजाब 'हाथ' में था, फिसल गया। नतीजे तो दूर, रुझानों के दौरान ही अंदरूनी असंतोष फट पड़ा। पार्टी में बगावत की आशंका बलवती है। कथित बागियों का G-23 समूह पहले से है। अब इसका दायरा और बढ़ेगा। यह तय है।
राहुल अब 'ब्रेक' लें... कांग्रेस को सोचना तो पड़ेगा
राहुल अब 'ब्रेक' लें... कांग्रेस को सोचना तो पड़ेगा
पंजाब में अमरिंदर सिंह को हटाया। चरणजीत सिंह चन्नी को तवज्जो दी। उन्हें 'मास्टर स्ट्रोक' बताया गया। वे दो सीटों पर लड़े। चन्नी दोनों पर चित हो गए। कैप्टन निपटे तो निपटाने से भी नहीं चूके। भाजपा से जा मिले। रही सही कसर सिद्धू ने पूरी कर दी। सिद्धू 'भस्मासुर' साबित हुए। खुद भी डूबे, पार्टी भी डुबो दी।

कांग्रेस को सबसे ज्यादा नुकसान पंजाब में हुआ है। अंदरूनी लड़ाई राहुल रोक नहीं पाए। बड़े नेताओं में वजूद की 'जंग' जग जाहिर हो गई। जो आप' के लिए 'वरदान' साबित हुई। 'आप' ने सबको 'साफ' कर दिया। कहना गलत न होगा, 'आप' को पंजाब प्लेट में रखकर परोसा गया।
उत्तराखंड में हरीश रावत और प्रीतम सिंह का झगड़ा ले डूबा। वहां भाजपा ने तीन मुख्यमंत्री बदले। सरकार विरोधी लहर थी। इसके बावजूद कांग्रेस 'विकल्प' नहीं बन पाई। जनता ने नकार दिया। गोवा में भाजपा का 'विकास' जनता को पसंद आया। मणिपुर में 'सत्ता की मणि' फिर भाजपा को मिली। पूर्वोत्तर में एक दौर था जब कांगेस मजबूत थी। आज मजबूर हो चली है। पुराने नेता-कार्यकर्ता पार्टी छोड़ते जा रहे हैं।

उत्तर प्रदेश में खोने को कुछ था ही नहीं। प्रियंका ने खूब मेहनत की। नतीजा 'शून्य' रहा। लेकिन थोड़ा फायदा जरूर हुआ। यूपी में कांग्रेस संगठन 'जिंदा' हुआ। भविष्य में इसका कोई फायदा होगा, कहना जल्दबाजी होगी। लेकिन बड़ा सवाल ये है, क्या यह 'सक्रियता' बनी रहेगी? क्या प्रियंका भी अपना हौसला बरकरार रख पाएंगी?
यह भी पढ़ें

Assembly Elections Result 2022: ताजा जनादेश से बनेंगे नए समीकरण

सार ये कि कांग्रेस अपनी आभा खो चुकी है। पुराना 'वैभव' पाना आसान नहीं है। कल और आज में फर्क है। वर्तमान चुनौतियां बहुत बड़ी हैं। कांग्रेस को अब सोचना पड़ेगा। दो सौ साल पुरानी पार्टी सिमटती जा रही है। आखिर क्यों? अब सिर्फ राजस्थान और छत्तीसगढ़ 'हाथ' में है। राजस्थान में स्थिति नियंत्रण में तो है, पर तनावपूर्ण है। गहलोत-पायलट की अदावत जगजाहिर है। छत्तीसगढ़ में भी 'फार्मूले' का जिन्न जब-तब बाहर आ ही जाता है।

इसलिए अब हार के कारणों पर 'मंथन' की रस्म अदायगी से बचें। किसी ठोस नतीजे पर पहुंचें। पार्टी के अनुभवी नेताओं का एक 'थिंक टैंक' बनाएंं। वक्त आ गया है, राहुल 'ब्रेक' लें। नया नेतृत्व-नया नजरिया ही विकल्प है। अस्तित्व खतरे में है। बदलाव समय की मांग है। कांग्रेस को खुदको बदलना तो पड़ेगा।

यह भी पढ़ें

पंजाब के नतीजे भारतीय राजनीति के भविष्य के लिए अहम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

पटना एयरपोर्ट पर बड़ा हादसा, निर्माण कार्य के दौरान गिरा लोहे का स्ट्रक्चर, दो मजदूरों की मौत, एक की टूटी रीढ़ की हड्डीविश्व प्रसिद्ध धार्मिक स्थल हेमकुंड साहिब और लक्ष्मण मंदिर के खुले कपाट, दो साल बाद लौटी रौनकPetrol-Diesel Prices Today: केंद्र के बाद राज्यों ने घटाए पेट्रोल-डीजल के दाम, जानें कितनी हैं आपके शहर में कीमतेंQuad Summit 2022: प्रधानमंत्री मोदी का जापान दौरा, क्वाड शिखर सम्मेलन में बाइडेन से अहम मुलाकात, जानें और किन मुद्दों पर होगी बातDelhi Suicide Case: 'कमरे में घुसने के बाद लाइटर न जलाएं' दीवार पर लिखकर मां-बेटियों ने दी जान, एक साल पहले कोरोना से हुई थी CA पति की मौतGama Pehlwan के 144वें जन्मदिन पर गूगल ने बनाया डूडल, एक दिन में खाते थे 6 देसी मुर्गे और 10 लीटर दूधभाजपा नेता को किया गिरफ्तार, आशियाना ध्वस्त करने पहुंचा था बुलडोजरसाप्ताहिक समीक्षा: सोने-चांदी में तेजी, 2290 रुपए सस्ती हुई चांदी, जानें गाेल्ड की कीमत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.