scriptclimate crisis is not global, it is personal and local | द वाशिंगटन पोस्ट से... जलवायु संकट वैश्विक नहीं, व्यक्तिगत और स्थानीय भी है | Patrika News

द वाशिंगटन पोस्ट से... जलवायु संकट वैश्विक नहीं, व्यक्तिगत और स्थानीय भी है

- सीओपी26 : दुनिया के नेता क्या राजनीतिक इच्छाशक्ति जुटा पाएंगे।

नई दिल्ली

Published: October 29, 2021 02:12:50 pm

ब्रूस एम. बीलर, (विश्वविख्यात पक्षी विज्ञानी)

अक्टूबर खत्म होने को है और वाशिंगटन डीसी में जहां मैं रहता हूं, 'एशियन टाइगर' मच्छर (एडीज एल्बोपिक्टस) के कारण लोग परेशान हैं। वजह है दुनिया का बढ़ता तापमान। ये मच्छर 25 साल पहले वाशिंगटन में कहीं नहीं थे। हालांकि रविवार से ग्लासगो में शुरू होने वाले संयुक्त राष्ट्र के सीओपी26 जलवायु परिवर्तन सम्मेलन में मच्छरों की यह समस्या एजेंडे में शामिल नहीं है, लेकिन यह एक उदाहरण है जो कभी मामूली और झुंझलाहट पैदा करने वाला होता है तो कभी डराने वाला और घातक। यह बताता है कि जलवायु परिवर्तन सिर्फ एक वैश्विक खतरा ही नहीं है, बल्कि पूरी तीव्रता के साथ व्यक्तिगत भी है और स्थानीय भी। साथियों के साथ चर्चा में सभी का यही मत होता है - 'समझदार लोग आखिर कैसे जलवायु परिवर्तन के जोखिमों पर सवाल उठा सकते हैं? यह हमारे अत्यंत समीप है, ठीक हमारे पीछे!'

द वाशिंगटन पोस्ट से... जलवायु संकट वैश्विक नहीं, व्यक्तिगत और स्थानीय भी है
द वाशिंगटन पोस्ट से... जलवायु संकट वैश्विक नहीं, व्यक्तिगत और स्थानीय भी है

वाशिंगटन डीसी के नजदीक ही रहने वाले मेरे एक जानकार ने बताया था कि गर्मियों में रात का तापमान बढऩे और ज्यादा आद्र्रता के कारण टमाटर के पौधों पर फल कम आ रहे हैं और फफूंद से पेड़ नष्ट हो रहे हैं। सामान्यत: पाया जाने वाला भौंरा भी बगीचे में नजर नहीं आता। किसान फसल के नुकसान से बचने के लिए बदलती जलवायु के मुताबिक बदलने को मजबूर हैं और बगीचे की विष-लता भी पहले से ज्यादा मजबूत हो गई है और ज्यादा खुजली पैदा करने लगी है। समूचे अमरीका में ही जलवायु परिवर्तन के कारण पैदा हो रही स्थितियां लोगों के घरों, बगीचों, कारोबार और सेहत पर प्रतिकूल असर डाल रही हैं। समुद्र जल स्तर में बढ़ोतरी, तूफान, तटवर्ती बाढ़ और मूसलाधार बारिश की घटनाओं के चलते पहले से कहीं अधिक लोग बेघर हो रहे हैं। देशभर में घर और पावर ग्रिड पर तूफानों की गाज गिर रही है। 2021 में ही अभी तक 18 मौसम/जलवायु जनित आपदाओं का सामना देशवासी कर चुके हैं। हर एक के चलते 1 अरब डॉलर से ज्यादा का नुकसान हो चुका है।

लैंसेट की एक हालिया रिपोर्ट के अनुसार जलवायु परिवर्तन बहुत तेजी से मानव स्वास्थ्य को परिभाषित कर रहा है और इसी कारण एलर्जी और अस्थमा के मरीज बढ़ रहे हैं। टिक-बोर्न बीमारियां और जबरदस्त लू भी कहर बरपा रहे हैं। जलवायु परिवर्तन स्थानीय व्यवसायों को भी नुकसान पहुंचा रहा है। अर्थव्यवस्था के लिए बेहद महत्त्वपूर्ण समुद्री जीवों की संख्या भी तेजी से घट रही है। अलास्का में एक हिमनद पिघलने से डेनाली नेशनल पार्क तक पहुंचने का मार्ग आंशिक रूप से बंद हो चुका है और पर्यटन पर टिके तमाम व्यवसाय ठप हो गए हैं। पूूर्वोत्तर के स्कीइंग क्षेत्र भी कम बर्फ गिरने से कम होते पर्यटन की मार झेल रहे हैं। कनाडा में आउटडोर आइस हॉकी गिरावट की ओर है।

शुष्क पश्चिमी प्रदेश दशकों के सूखे की चपेट में है, जिससे प्रमुख जलस्रोत खाली हो गए हैं और खेती, ग्रामीण कस्बों और तटवर्ती शहरों का आधार नदियां सिकुड़ गई हैं। सूखा, जंगलों की आग और स्थानीय मौसम ने ऐसा मुश्किल पर्यावरण बना दिया है, जिसमें एक उपशहरी आवास रातोंरात आग की चपेट में आ सकता है। प्राचीन सिकोआ पेड़ मर रहे हैं। हवा सांस लेने लायक नहीं रह गई। बीते पांच सालों में संयुक्त राज्य अमरीका में (मुख्य रूप से पश्चिम में) 3.9 करोड़ एकड़ जंगल जल चुके हैं। जलवायु परिवर्तन के प्रभाव हमारे घरों के पिछले आंगन तक पहुंच चुके हैं। बड़ी अनिश्चितता इसी को लेकर है कि दुनिया के दिग्गज नेता ग्लासगो में इस बारे में कुछ बेहद अर्थपूर्ण करने का राजनीतिक इच्छाशक्ति जुटा पाएंगे या नहीं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

उत्तर प्रदेश विधान परिषद चुनाव 2022 की डेट का ऐलान, जानें कितने सीटों के लिए और कब आएगा रिजल्टपूर्व CM अशोक चव्हाण ने किया खुलासा: BJP सांसद मुरली मनोहर जोशी ने रिपोर्ट में खुद कहा 'PM मोदी सेना के साथ खिलवाड़ कर रहे'NeoCov: नियोकोव वायरस के लक्षण, ठीक होने की दर, जानिए सबकुछPandit Jasraj Cultural Foundation: संगीत के क्षेत्र में भी होना चाहिए तकनीक और आईटी का रिवॉल्यूशन: PM ModiCorona: गुजरात में कोरोना को मात दे चुके हैं 10 लाख से अधिक लोगकाशी विश्वनाथ मॉडल पर बनेगा महांकाल कॉरीडोर, सिंहस्थ-28 पर अभी से कामCovid-19 Update: महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,948 नए मामले, 103 मरीजों की मौत हुई।देश में 15 से 18 साल की उम्र वाली 60 फीसदी आबादी को लग चुकी है कोरोना की पहली खुराक: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.