scriptHas corona infection increased due to negligence? | आपकी बात, क्या लापरवाही के कारण कोरोना संक्रमण बढ़ा है? | Patrika News

आपकी बात, क्या लापरवाही के कारण कोरोना संक्रमण बढ़ा है?

पत्रिकायन में सवाल पूछा गया था। पाठकों की मिलीजुली प्रतिक्रियाएं आईं, पेश हैं चुनिंदा प्रतिक्रियाएं।

Published: January 07, 2022 04:57:44 pm

ढील मिलते ही लापरवाह हो गए लोग
थोड़ी सी ढील क्या मिली, लोगों ने कोरोना संक्रमण को हलके में लेकर अनावश्यक भीड़ भरे समारोह, रैलियां और यात्राएं शुरू कर दीं। लोग इतने लापरवाह हैं कि चालान के डर से मास्क को दाढ़ी पर तो अटका लेते हैं, लेकिन नाक पर नहीं लगाते। वे सार्वजनिक स्थानों पर बिना मास्क घूम रहे है और थूक रहे हैं। इसलिए कड़े कानूनों की जरूरत है।
-डी. एल. पोटर, काशपुरिया, बूंदी
.................................
आपकी बात, क्या लापरवाही के कारण कोरोना संक्रमण बढ़ा है?
आपकी बात, क्या लापरवाही के कारण कोरोना संक्रमण बढ़ा है?
कोविड गाइडलाइन का पालन करें
देश में एक बार फिर कोरोना संक्रमण के मामले बढऩे लगे हैं। लोग संक्रमण के बढ़ते मामलों को लेकर गंभीर नहीं हैं। अधिकांश स्थानों पर कोविड गाइडलाइन का पालन नहीं हो रहा है, जिससे संक्रमण की चेन बनने का खतरा बढ़ गया है। उधर जिला प्रशासन सिर्फ नाइट कर्फ्यू तक ही सख्ती बरतने तक सीमित हैं। दिन में भीड़ वाले स्थानों पर कोविड गाइडलाइन की हो रही अनदेखी पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही। ऐसे में कोरोना के संक्रमण से कैसे बचा जा सकता है?
-अजिता शर्मा, उदयपुर
...........................
जरूरी है सख्ती
हमारी लापरवाही निश्चित रूप से कोरोना संक्रमण को बढ़ाने के लिए जिम्मेदार है। कोरोना गाइडलाइन की सख्ती से पालना करवाने में पुलिस की भूमिका महत्वपूर्ण है। जनता बिना सख्ती के कोरोना गाइडलाइन की पालना नहीं करेगी। कोरोना संक्रमण एक बार फिर से बढ़ रहा है, तो हमें भी मास्क अच्छी तरह से लगाने पर पुन: ध्यान देना चाहिए। एक दूसरे से दूरी बना कर रखना चाहिए। अनावश्यक रूप से घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए।
-प्रदीप कुमार बैद, जयपुर
......................
मास्क तक गायब
आजकल लोगों के मुंह से मास्क गायब सा हो रहा है। सोशल डिस्टेंसिंग की पालना नहीं की जा रही। अभी तक लोग वैक्सीन लेने से कतरा रहे हैं। इससे कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ जाता है ।
-हेमन्त कुमार महावर, शिवाड़, सवाई माधोपुर
................
लापरवाही का नतीजा
हम यह भूल गए कि कोरोना की पिछली दो लहरों से कितना नुकसान पहुंचा। इसलिए बिना किसी सावधानी के बाहर घूमने में भी कोई परहेज नहीं किया। घोर लापरवाही की वजह से कोरोना की तीसरी लहर आ गई है। कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करें। खुद जीएं और औरों को भी जीने दें।
-एकता शर्मा, गरियाबंद, छत्तीसगढ़
..................................................
जरूरी है सतर्कता
कोरोना संक्रमण हमारी लापरवाही के कारण ही फैल रहा है। कोरोना गाइडलाइन की पालना करवाने के लिए प्रशासन भी सख्ती नहीं कर रहा है। चुनावी रैलियां भी जारी हैं, लोग मास्क तक नहीं लगाते हैं। सरकार ही नहीं आम जनता को भी सतर्क रहना होगा। नेताओं को तो तुरंत वीआइपी इलाज मिल जाएगा, लेकिन आम आदमी क्या करेगा?
-लता अग्रवाल चित्तौडग़ढ़
......................
लापरवाही पड़ी भारी
कोरोना प्रोटोकॉल का पालन किया गया होता तो फिर से कोरोना की नई लहर नहीं आती। लापरवाही भारी पड़ी है।
-अशोक एन गोयल, पाली
..............................

मास्क जरूर लगाएं
लापरवाही कोरोना संक्रमण बढऩे का मुख्य कारण है। कोरोना का संक्रमण नहीं फैले, इसके लिए मास्क अनिवार्य रूप से लगाएं। अति आवश्यक होने पर ही घर से बाहर निकलें।
-टीकम चंद सोनी, आसींद, भीलवाड़ा
......................
अब भी संभल जाएं
कोरोना संक्रमण की दर लापरवाही से बढ़ी है। अब भी वक्त है संभल जाएं। लापरवाही को त्याग कर सजगता बरती जाए, तो संक्रमण को कम किया जा सकता है। जनता को सरकार व प्रशासन का सहयोग करना होगा। सभी जागरूक रहें। मास्क लगाएं, सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखें और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें।
-सी. आर. प्रजापति, हरढ़ाणी, जोधपुर
................................
खतरे की गंभीरता नहीं समझी
कोरोना की तीसरी लहर का खतरा पहले से ही बना हुआ था। इस खतरे को हलके में लिया गया। लापरवाही दिन-ब-दिन बढऩे लगी, जिसका परिणाम अब सामने है। वैक्सीन की रफ्तार भी धीमी रही है। भीड़ पर नियंत्रण जरूरी था, लेकिन इस मामले में भी ढिलाई होती रही है। कोरोना के प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन किया जाता तो आज ऐसे हालात नहीं होते। कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे हैं, पर अब भी गंभीर लापरवाही बरती जा रही है।
-मधु भूतड़ा, जयपुर
............................
लापरवाही है मुख्य कारण
कोरोना संक्रमण में बढ़ोतरी का एक कारण लापरवाही भी है। जनता की जागरूकता और प्रशासन की सख्ती ही इसे कम करने में सहायक सिद्ध होगी।
-सुरेन्द्र कुमार त्रिपाठी, रतलाम, मप्र

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Army Day 2022: सेना प्रमुख MM Naravane ने दी चीन को चेतावनी, कहा- हमारे धैर्य की परीक्षा न लेंUP Election 2022 : भाजपा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी, गोरखपुर से योगी व सिराथू से मौर्या लड़ेंगे चुनावUttar Pradesh Assembly Elections 2022: टूटेगी मायावती और अखिलेश की परंपरा, योगी आदित्यनाथ गोरखपुर से लड़ेंगे विधानसभा चुनावPunjab Assembly Election: कांग्रेस ने जारी की 86 उम्मीदवारों की पहली सूची, चमकोर से चन्नी, अमृतसर पूर्व से सिद्धू मैदान मेंअब हर साल 16 जनवरी को मनाया जाएगा National Start-up DayHaryana: सरकार का निर्देश, बिना वैक्सीन लगाए 15 से 18 वर्ष के बच्चों को स्कूल में नहीं मिलेगी एंट्रीUP Election: सपा RLD की दूसरी लिस्ट जारी, 7 प्रत्याशियों में किसी भी महिला को नहीं मिला टिकटजम्मू कश्मीर में Corona Weekend Lockdown की घोषणा, OPD सेवाएं भी रहेंगी बंद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.