scriptHolland, a country where windmills became attractive heritage | Travelogue: पवनचक्कियां जहां बन गई हैं एक लुभावनी विरासत | Patrika News

Travelogue: पवनचक्कियां जहां बन गई हैं एक लुभावनी विरासत

अकेले जांसे शैन्स में ढाई सौ साल पहले 600 चक्कियां थीं पर भाप का इंजन बनने के साथ इनका उपयोग कम हो गया। हॉलैंड ने इन ऐतिहासिक पवनचक्कियों की विरासत को संभालने में जो होशियारी दिखाई है वह एक उदाहरण है।

Published: July 12, 2022 09:37:39 pm

तृप्ति पांडेय

पर्यटन और संस्कृति विशेषज्ञ

पवनचक्की का नाम आते ही याद आता है हॉलैंड। वहां से जब कोई पोस्टकार्ड लिखता वह या तो ट्युलिप के फूल वाला होता या पवनचक्की या फिर लकड़ी के जूते वाला। आज मोबाइल से तस्वीरें यहां-वहां भेजने के दौर में भी पर्यटक स्थलों के पास ऐसे पोस्ट कार्ड बिकते हैं। मन में सालों से ट्युलिप और पवनचक्की वाले गांव देखने की ख्वाहिश थी, पर पहली बार जब एक लोक कार्यक्रम के लिए गए तो और कहीं नहीं जा पाए। दूसरी बार अभी कुछ सालों पहले जाना हुआ और मैंने और मेरी अमरीकी मित्र ने तय किया हम भागदौड़ न करके तीन दिन सिर्फ एम्सटर्डम का आनंद लेंगे। ट्युलिप का मौसम निकल चुका था इसलिए पवनचक्की वाले गांव जाना तय किया और सब पढ़-पढ़ा कर चुना जांसे शैन्स।
windmill heritage of Holland
windmill heritage of Holland
यों तो सबसे जाना-माना गांव किंडरडिजक है पर वो रॉटरडैम के पास था। समय को ध्यान में रख कर जांसे शैन्स जाना तय किया जो सेंट्रल स्टेशन से बस कुछ मिनटों पर चौथा पड़ाव था। वहां उतर कर पवनचक्की के खुले संग्रहालय तक पहुंचने के लिए काफी लंबा चलना पड़ा पर पहुंचने पर जो देखा और जाना वो बहुत ही सुंदर और मजेदार था क्योंकि आप वहां 18वीं और 19वीं सदी में पहुंच जाते हैं। कभी दस हजार पवनचक्की के देश के रूप में जाना जाने वाला देश जिसने अपने देश में पानी से संघर्ष करने के लिए पवनचक्की बनाई थी आज हर साल लाखों की संख्या में पर्यटक आकर्षित कर रहा है। चूंकि हॉलैंड समुद्र तल से निचाई पर था, उसने जल निकालने के लिए पवनचक्कियों का बड़ी होशियारी से उपयोग किया और उनसे पैदा होने वाली ऊर्जा को लकड़ी काटने से लेकर आटा पीसने और तेल निकालने से कागज बनाने तक के काम में लिया। अकेले जांसे शैन्स में ढाई सौ साल पहले 600 चक्कियां थीं पर भाप का इंजन बनने के साथ इनका उपयोग कम हो गया। हॉलैंड ने इन ऐतिहासिक पवनचक्कियों की विरासत को संभालने में जो होशियारी दिखाई है वह एक उदाहरण है।
इस खुले संग्रहालय की कल्पना 1961 यानी साठ साल से ज्यादा पहले कर ली गई थी। जिस स्थान को चुना गया वहां पहले से दो पुरानी पवनचक्कियां चल रही थीं। वहां न केवल आसपास से पुरानी चक्कियां लाई गईं बल्कि लकड़ी के पुराने घर भी लाए गए और उनमें छोटे-छोटे संग्रहालय बनाए गए। कहीं हाथ से लकड़ी के पुराने जमाने वाले जूते बनते दिखाई देंगे तो कहीं औजार। समृद्ध परंपराओं के बावजूद आज तक हमारे स्मारकों पर हम यह नहीं कर पाए हैं। एक खास बात यह और कि हमारी तरह हर जगह ऐसे बोर्ड उनकी दीवारों पर नहीं लगे हैं कि कौन से मंत्री या अधिकारी के कर-कमलों द्वारा ये काम कब-कब संपन्न हुआ। यहां पर्यटकों के लिए उनकी पसंद के खाने-पीने की सब सामग्री उपलब्ध है, किसी किस्म की पाबंदी नहीं है। पाबंदी है तो सिर्फ वहां के रखरखाव को न बिगाड़ने पर।
खैर पर्यटक कुछ सक्रिय मिलों के अंदर ऊपर तक जा कर आसपास के नजारों की तस्वीरें ले सकते हैं। एक पवनचक्की का नाम कैट माने बिल्ली है तो दूसरी का भेड़! मुझे पवनचक्की को अंदर से देखने में जो मजा आया वह आप शब्दों से नहीं, वहां जा कर ही ले सकते हैं। अब जब दोबारा जाऊंगी तब पवनचक्की वाला वह गांव भी देखूंगी जो विश्व विरासत में शामिल है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

CBI Raid: दिल्ली के डिप्टी CM मनीष सिसोदिया के घर पहुंची CBI की टीम, 20 ठिकानों पर चल रही छापेमारीDahi Handi Festival: मुंबई में दो साल बाद कृष्ण जन्माष्टमी की धूम, शहर के कई इलाकों में फोड़ी जाएगी दही हांडीमथुरा, वृंदावन समेत कई जगहों पर आज है जन्माष्टमी की धूम, जानें पूजा का शुभ मुहूर्त और विधिक्यों मनीष सिसोदिया के घर पर CBI कर रही छापेमारी? जानिए क्या है पूरा मामलाMaharashtra News: महाराष्ट्र के रायगढ़ में हाई अलर्ट, एके-47 सहित हथियार मिलने के बाद जानें अब कैसे हैं हालातप्रधानमंत्री मोदी आज गोवा में ‘हर घर जल उत्सव’ को करेंगे संबोधितकर्नाटक की राजनीति: येडियूरप्पा के लिए भाजपा ने क्यों बदला अलिखित नियमJanmashtami 2022: वृंदावन के श्री बांके बिहारीजी मंदिर में होती है जन्माष्टमी की धूम, जानिए इस मंदिर से जुड़ी खास बातें
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.