scriptHow can the use of caste and religion for power be stopped? | सत्ता पाने के लिए जाति और धर्म का इस्तेमाल कैसे रुक सकता है? | Patrika News

सत्ता पाने के लिए जाति और धर्म का इस्तेमाल कैसे रुक सकता है?

पत्रिकायन में सवाल पूछा गया था। पाठकों की मिलीजुली प्रतिक्रियाएं आईं, पेश हैं चुनिंदा प्रतिक्रियाएं।

Published: April 28, 2022 03:22:33 pm

जरूरी है सख्त कार्रवाई
धर्म और जाति के नाम पर देश बांटने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई जरूरी है। जनता को भी जाति व धर्म की आड़ में अराजकता का माहौल पैदा करने वालों के विरुद्ध खड़ा होना पड़ेगा। अपनी जाति व धर्म का सम्मान करें, लेकिन दूसरों की जाति व धर्म का अपमान न करें। उन धर्मगुरुओं का बहिष्कार करें, जो अपने स्वार्थ और फायदे के खातिर घृणा फैलाकर लोगों को गुमराह करते हैं।
प्रदीप कुमार छाजेड़, जोधपुर
...............................
सत्ता पाने के लिए जाति और धर्म का इस्तेमाल कैसे रुक सकता है?
सत्ता पाने के लिए जाति और धर्म का इस्तेमाल कैसे रुक सकता है?
न बिगड़ेे माहौल
सत्ता पाने के लालच में सौहार्द का माहौल बिगाडऩे वाले देश के दुश्मन हैं। चिंताजनक बात यह है कि चुनाव जीतने के लिए जाति और धर्म को मुद्दा बनाया जाता है। नेताओं को यह प्रवृत्ति छोडऩी होगी।
-वन्दना दीक्षित, बूंदी
..................
धर्मनिरपेक्षता की शपथ लें
आज की राजनीति में नेता धर्म और जाति के सहारे सत्ता पाते हैं,, जो पूरी तरह से गलत है। सत्ता पाने के बाद भी धार्मिक उन्माद फैलाते हैं। सत्ता के लिए धर्म और जाति का इस्तेमाल करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। हर नेता को धर्मनिरपेक्षता की शपथ लेनी चाहिए।
-अरुण भट्ट, रावतभाटा
.................
जनता बुनियादी मुद्दों को उठाए
पिछले कुछ वर्षों से भारतीय राजनीति का स्तर का बहुत गिर गया है। राजनीतिक दलों ने सत्ता प्राप्ति के लिए जाति और धर्म का गलत इस्तेमाल किया है और दुनियाभर में भारत की छवि को धूमिल करने का कार्य किया है। सभी दलों को इससे बचना होगा, क्योंकि हमारा देश धर्मनिरपेक्ष देश है। संविधान सर्वोच्च है। कानून की कड़ाई से पालना करवाई जानी चाहिए। सरकार को जाति-धर्म जैसे मुद्दे पर नहीं, बल्कि शिक्षा, रोजगार, स्वास्थ्य जैसी सुविधाओं पर ध्यान देना चाहिए। जनता भी ऐसे मुद्दों में न उलझे और बुनियादी सुविधाओं के लिए सरकार पर दबाव बनाए।
-वसीम, मांगरोल
...............
ईमानदार नेता को चुनें
जनता को एक सच्चे और ईमानदार नेता को चुनना चाहिए। इसके लिए नेता की जाति या धर्म नहीं देखना चाहिए। जो नेता सत्ता पाने के लिए जाति और धर्म का इस्तेमाल करते हैं, उनका साथ नहीं देना चाहिए।
-शिवपाल सिंह, मेड़ता सिटी
.........................
मतदाता की जागरूकता जरूरी
सत्ता पाने के लिए जाति और धर्म का इस्तेमाल रुकना चाहिए। इसके लिए मतदता को जागरूक होना पड़ेगा।
खेमू पाराशर, भरतपुर
...............

बुनियादी मुद्दों पर ध्यान दें
देश में जब आमजन में जागरूकता फैलाई जाएगी, तब ही सत्ता पाने वाले जाति एवं धर्म का इस्तेमाल करने से बाज आएंगे । इसके लिए महंगाई, बेरोजगारी, अशिक्षा, बदहाल अस्पताल जैसे मुद्दे उठाए जाने चािहए। बुनियादी मुद्दों पर ध्यान देने से जाति और धर्म आधारित मुद्दे हाशिए पर चले जाएंगे।
-कैलाश सामोता, शाहपुरा, जयपुर
...........
जरूरी है सर्वधर्म समभाव
स्वतंत्रता, समानता एवं बंधुत्व के आधार पर निर्मित इस विशाल राष्ट्र में दुर्भाग्यवश नेताओं की सत्ता लोलुपता ने सांप्रदायिकता एवं जातिवाद के जहर को भरने का कार्य किया है। धर्म एवं जाति को राजनीति से पृथक करने के लिए सभी राजनीतिक दलों को मिलकर काम करना होगा। 'सर्वधर्म समभाव' का जो मार्ग महात्मा गांधी ने सुझाया था, उस पर चलना होगा। कुछ राजनेताओं द्वारा चुनावों के दौरान 'हेट स्पीच' को हथियार बनाया जाता है। इस पर भी कठोरता से नियंत्रण लगाने की आवश्यकता है
-गीत आरू, जयपुर
................
जातीय आधार पर न हो टिकट का वितरण
निर्वाचन आयोग यह सुनिश्चित करे कि कोई भी दल जातीय और धार्मिक आधार पर टिकटों का वितरण न करे। चुनाव के दौरान धार्मिक और जातीय ध्रुवीकरण करने की कोशिश करने वाले नेताओं को चुनाव लडऩे के अयोग्य ठहराया जाए।
-गोविन्द सिंह सोलंकी, कुंभलगढ़
..................
जरूरी है सांप्रदायिक सद्भाव
विभिन्न राजनीतिक दलों को जाति या धर्म से ऊपर उठकर कार्य करना होगा। चुनाव के दौरान जाति के आधार पर उम्मीदवार खड़े करने की नीति को छोड़ना होगा। राजनीतिक दलों का लक्ष्य एक अच्छी सरकार बनाना होना चाहिए, ऐसी सरकार जो हर संप्रदाय को साथ लेकर चले, सबके कल्याण में अपना या देश का कल्याण समझे। सांप्रदायिक सद्भाव बना रहना जरूरी है।
-अशोक कुमार शर्मा, झोटवाड़ा, जयपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.