scriptHow to manage 'decision fatigue' | Leadership: 'डिसिशन फटीग' को करें प्रबंधित | Patrika News

Leadership: 'डिसिशन फटीग' को करें प्रबंधित

निर्णय लेते समय हमेशा एक करीबी विश्वासपात्र से दूसरी राय लेने का प्रयास करें, जब तक कि कोई निर्णय बहुत व्यक्तिगत न हो

Published: May 16, 2022 07:41:01 pm

प्रो. हिमांशु राय
(निदेशक, आइआइएम इंदौर)

पिछले आलेख में हमने नियंत्रण लेने से होने वाली थकान यानी 'डिसिशन फटीग' के लक्षणों और कारणों के बारे में जाना। इसे प्रबंधित करने के प्रभावी तरीके हैं जिससे निर्णय लेने की गुणवत्ता प्रभावित न हो। इनमें से एक है चिंतन करने के लिए समय निकालना। जब लोग अभिभूत या दबाव में होते हैं, तो अक्सर झटपट निर्णय लेने के लिए आतुर होते हैं। ऐसे में स्वयं के लक्षणों को पहचानें - क्या आप थका हुआ या भ्रमित महसूस कर रहे हैं? क्या आप इससे होने वाले तनाव से मुक्त होने के लिए निर्णय लेने में जल्दबाजी या देरी कर रहे हैं? निर्णय लेने से पहले, शांत वातावरण में कम से कम एक मिनट के लिए रुकें, और विचार करने की आदत डालें। एक प्रबंधक या लीडर को हर दिन बहुत सारे नियमित और रणनीतिक, व्यक्तिगत व संगठनात्मक, अल्पकालिक और दीर्घकालिक, परिणाम देने वाले निर्णय लेने होते हैं। जेफ बेजोस ने एक साक्षात्कार में साझा किया कि वह सुबह 10 बजे से दोपहर के बीच की अवधि में 'हाई आईक्यू' या अत्यधिक ऊर्जा वाली बैठकों का समय निर्धारित करते हैं, जो उनके अनुसार वह समय है जब वह सबसे अधिक सतर्क और ऊर्जावान होते हैं। इसी तरह, यूएस के पूर्व राष्ट्रपति, बराक ओबामा के बारे में माना जाता है कि उन्होंने अपने व्यक्तिगत निर्णयों के बजाए आधिकारिक निर्णय लेने के कार्यों को प्राथमिकता देने का अभ्यास किया, जैसे यह तय करना कि क्या पहनना है। मार्क जुकरबर्ग भी ऐसे नियमित फैसलों की जटिलता को कम करने के लिए कार्यस्थल पर साधारण कपड़े पहनने के लिए जाने जाते हैं।
प्रतीकात्मक चित्र
प्रतीकात्मक चित्र
कार्यस्थल में विभिन्न प्रकार के कार्यों के लिए नियमित तकनीकी विवरणों पर निर्णय लेने की जरूरत होती है जिन्हें आसानी से कंप्यूटर एल्गोरिथम में परिवर्तित कर सॉफ्टवेयर टूल में कोड किया जा सकता है। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और नेचुरल लैंग्वेज प्रोसेसिंग (एनएलपी) की मदद से सामान्य कार्य जैसे भर्ती प्रक्रिया के लिए रिज्यूमे को शॉर्टलिस्ट करना, विशिष्ट मानदंडों के आधार पर सरल चयन या अस्वीकार करना - आसानी से हो सकता है। परिचालन विवरण वाले कार्यों, जिन्हें कोडित नहीं किया जा सकता है और जिनके लिए मानवीय निर्णय की आवश्यकता होती है, के लिए नीतियां व दिशा-निर्देश बनाए जा सकते हैं और एक मानक संचालन प्रक्रिया विकसित की जा सकती है। बढ़ती जटिलताओं और परिस्थितियों की निगरानी और एसओपी को अपडेट करते रहना चाहिए। इसी प्रकार, निर्णय लेते समय हमेशा एक करीबी विश्वासपात्र से दूसरी राय लेने का प्रयास करें, जब तक कि कोई निर्णय बहुत व्यक्तिगत न हो। ऐसा करने से आपको एक नया दृष्टिकोण मिल सकता है और आप एक अधिक समावेशी निर्णय पर पहुंच सकते हैं। सामान्य तौर पर, जो लोग एक स्वस्थ जीवन शैली और आध्यात्मिक प्रथाओं की ओर झुकाव रखते हैं, वे थकान के प्रति सहनशीलता विकसित कर सकते हैं, मेडिटेशन से आत्म-नियंत्रण की क्षमता को मजबूत कर सकते हैं, तनाव को प्रबंधित कर सकते हैं, ध्यान केंद्रित कर सकते हैं और इच्छाशक्ति में सुधार कर सकते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

सीढ़ियां से उतरने के दौरान गिरे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव, कंधे की हड्डी टूटीदिल्ली और पंजाब में दी जा रही मुफ्त बिजली, गुजरात में क्यों नहीं?: केजरीवालहैदराबाद में बोले PM मोदी- 'तेलंगाना में भी जनता चाहती है डबल इंजन की सरकार, जनता खुद ही बीजेपी के लिए रास्ता बना रही'पीएम मोदी ने लंबे समय तक शासन करने वाली पार्टियों का मजाक उड़ाने के खिलाफ चेताया, कहा - 'मजाक मत उड़ाएं, उनकी गलतियों से सीखें'Rajasthan: वाहन स्क्रैपिंग सेंटर के लिए एक एकड़ जमीन जरूरीAchievement : ऐसा क्या किया पुलिस ने की मिला तीन लाख का ईनाम और शाबाशी ?Mumbai News Live Updates: फ्लोर टेस्ट से पहले शिवसेना का नया दांव, स्पीकर राहुल नार्वेकर से की 39 विधायकों के खिलाफ एक्शन की मांगहनुमानजी के नाम पर वोट मांग रहे कमल नाथ! भाजपा ने की शिकायत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.