scriptindian weightlifters showing strength of their zeal and passion | Patrika Opinion: खेलों में भारतीय जोश और जज्बे की ताकत | Patrika News

Patrika Opinion: खेलों में भारतीय जोश और जज्बे की ताकत

कभी आर्थिक बदहाली से जूझने वाले इन भारतीय खिलाडिय़ों की उपलब्धि इस तथ्य को गहराई से रेखांकित करती है कि खेलों में संपन्न पृष्ठभूमि के मुकाबले जोश, जज्बे, जुनून और हौसले से लैस होना ज्यादा जरूरी है।

Published: August 01, 2022 10:38:27 pm

राष्ट्रमंडल खेलों में स्टार वेटलिफ्टर मीराबाई चानू फिर भारत के लिए स्वर्ण पदक-शुभंकर साबित हुई हैं। चार साल पहले ऑस्ट्रेलिया में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में भारत का पहला स्वर्ण पदक मीराबाई ने ही जीता था। बर्मिंघम में भी पहला स्वर्ण पदक जीत उन्होंने साबित कर दिया कि भारोत्तोलन में उनका दम-खम बरकरार है। भारत ने शुरुआती पांचों पदक भारोत्तोलन में जीते, जिससे स्थापित होता है कि भारोत्तोलन में भारत का दबदबा उत्तरोत्तर बढ़ रहा है। अलग-अलग वर्गों में जेरेमी लालरिनुंगा ने स्वर्ण, संकेत सरगर और बिंदियारानी देवी ने रजत तो गुरुराज पुजारी ने कांस्य पदक अपने नाम किया। मीराबाई की तरह बिंदियारानी भी मणिपुर की हैं। जेरेमी मिजोरम, संकेत सांगली (महाराष्ट्र) तो गुरुराज पुजारी कर्नाटक से ताल्लुक रखते हैं।
स्टार वेटलिफ्टर मीराबाई चानू
स्टार वेटलिफ्टर मीराबाई चानू
कभी आर्थिक बदहाली से जूझने वाले इन भारतीय खिलाड़ियों की उपलब्धि इस तथ्य को गहराई से रेखांकित करती है कि खेलों में संपन्न पृष्ठभूमि के मुकाबले जोश, जज्बे, जुनून और हौसले से लैस होना ज्यादा जरूरी है। बचपन में मीराबाई चानू की आर्थिक बदहाली का आलम यह था कि वह जंगलों में लकडिय़ां बीना करती थीं। लकड़ी के गठ्ठर उठाते-उठाते उनके आत्मविश्वास को बल मिला, जिसका लोहा आज सारी दुनिया मान रही है। उन्होंने टोक्यो में हुए पिछले ओलंपिक में भी रजत पदक जीतकर अपनी प्रतिभा से कायल किया था। रियो ओलंपिक (2016) में निराशाजनक प्रदर्शन के बाद कुछ समय के लिए निराशा ने उन्हें घेर लिया था, पर 2018 के राष्ट्रमंडल खेलों से वह धमाके पर धमाके कर रही हैं। भारोत्तोलन में उनका स्वर्णिम सफर हर खिलाड़ी को निरंतर आगे बढऩे की प्रेरणा देता है।
पिछले कुछ वर्षों के दौरान खेलों व खिलाड़ियों को बढ़ावा देने की सरकारी नीतियों के सकारात्मक नतीजे नजर आने लगे हैं। राष्ट्रमंडल खेलों में भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2010 में सामने आया था। तब इन खेलों की मेजबानी दिल्ली ने की थी। भारत के पदकों की संख्या पहली बार 100 के पार गई थी, जिनमें 26 स्वर्ण और 20 रजत पदक शामिल थे। पदक तालिका में ऑस्ट्रेलिया (198) व ब्रिटेन (136) के बाद भारत तीसरे पायदान पर रहा था। बर्मिंघम में 8 अगस्त को खेलों के समापन तक भारत के हिस्से में कितने पदक आते हैं, देशवासियों की नजरें इस पर टिकी रहेंगी। राष्ट्रमंडल खेलों में मध्य प्रदेश, राजस्थान और गुजरात जैसे बड़े राज्यों के मुकाबले इस बार छोटे राज्यों के खिलाड़ी ज्यादा हैं। यह पहलू चिंताजनक है। अंतरराष्ट्रीय आयोजनों के लिए खिलाड़ी तैयार करने में बड़े राज्य क्यों पिछड़ रहे हैं, इस पर गंभीरता से विचार करने की जरूरत है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

शिमला में सेवाओं की पहली 'गारंटी' देने पहुंचेगी AAP, भगवंत मान और मनीष सिसोदिया कल हिमाचल प्रदेश के दौरे परममता बनर्जी के ट्विटर प्रोफाइल में गायब जवाहर लाल नेहरू की तस्वीर, बरसी कांग्रेसमुंबई पुलिस की बड़ी कार्रवाई, गुजरात के भरूच में पकड़ी ‘नशे’ की फैक्ट्री, 1026 करोड़ के ड्रग्स के साथ 7 गिरफ्तारभूस्खलन से हिमाचल में 100 से अधिक सड़कें ठप, चार दिन भारी बारिश का अलर्टबिहारः मंत्रियों में विभागों का बंटवारा, गृह मंत्रालय नीतीश के पास, तेजस्वी के पास 4 विभाग, तेज प्रताप का घटा कद, देखें ListVideo मध्यप्रदेश में बाढ़ के हालात, सात जिलों में राहत-बचाव का काम शुरू, लोगों को घरों से निकालाMaharashtra: खाने को लेकर कैटरिंग मैनेजर पर भड़के शिवसेना MLA संतोष बांगर, कर्मचारी को जड़ दिए थप्पड़कश्मीरी पंडित की हत्या मामले में सामने आई मनोज सिन्हा, महबूबा मुफ्ती व उमर अब्दुल्ला की प्रतिक्रिया, जानिए क्या कहा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.